पीएम केयर फंड के तहत DRDO तीन महीने के भीतर लगाएगा 500 मेडिकल ऑक्सीजन प्लांट

ऑक्सीजन स्वास्थ्य देखभाल केंद्रों और अस्पतालों में कोविड रोगियों के उपचार के लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण नैदानिक गैस है.

पीएम केयर फंड के तहत DRDO तीन महीने के भीतर लगाएगा 500 मेडिकल ऑक्सीजन प्लांट

प्रतीकात्मक तस्वीर.

नई दिल्ली:

रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) द्वारा एलसीए के लिए ऑन-बोर्ड ऑक्सीजन जनरेशन, डेबेल द्वारा तेजस, डीआरडीओ द्वारा विकसित मेडिकल ऑक्सीजन प्लांट (एमओपी) तकनीक अब कोविड-19 (Covid-19) रोगियों के लिए ऑक्सीजन (oxygen) के मौजूदा संकट से लड़ने में मदद करेगी. ऑक्सीजन संयंत्र (oxygen Plant) प्रति मिनट 1000 लीटर की क्षमता के लिए बनाया गया है. यह प्रणाली 5 एलपीएम की प्रवाह दर पर 190 रोगियों की आवश्यकता को पूरा करती है और प्रति दिन 195 सिलेंडर चार्ज कर सकती है. इस प्रौद्योगिकी का हस्तांतरण मेसर्स टाटा एडवांस्ड सिस्टम्स लिमिटेड, बेंगलुरु और मेसर्स ट्राइडेंट न्यूमेटिक्स प्राइवेट लिमिटेड, कोयंबटूर को किया गया है, जो देश के विभिन्न अस्पतालों में स्थापना के लिए 380 संयंत्रों का उत्पादन करेंगे. 

कोरोना के मुकाबले के लिए DRDO के सहयोग से अहमदाबाद में शुरू होगा 900 बेड का अस्‍पताल

सीएसआईआर की भारतीय पेट्रोलियम संस्थान, देहरादून के साथ काम करने वाले उद्योगों द्वारा 500 लीटर प्रति मिनट क्षमता के 120 संयंत्रों का उत्पादन किया जाएगा. ऑक्सीजन स्वास्थ्य देखभाल केंद्रों और अस्पतालों में कोविड रोगियों के उपचार के लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण नैदानिक गैस है.

कोरोना महामारी से मुकाबला करने के लिये डिफेंस रिसर्च एंड डेवलपमेंट ऑर्गेनाइजेशन (DRDO) के सहयोग से गुजरात के अहमदाबाद में बने 900 बेड का अस्पताल शनिवार से शुरू किया गया. दमयंती कोविड अस्पताल डीआरडीओ और गुजरात सरकार के सहयोग से बना है. शुक्रवार शाम 4 बजे केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह इसका उद्घाटन किया. अस्‍पताल में 150 आईसीयू और 750 ऑक्‍सीजन से लैस बेड होंगे. गौरतलब है कि पिछले सप्ताह ही दिल्ली में डीआरडीओ का 250 बेड का अस्पताल से शुरू हुआ.

राजनाथ सिंह ने सेनाओं से कहा, COVID-19 से लड़ने में करें राज्यों की मदद : रिपोर्ट

इससे पहले डीआरडीओ हेडक्वाटर के निदेशक डॉक्टर नरेंद्र कुमार आर्या ने NDTV को बताया था कि अगले आठ दस दिनों में सारे अस्पताल ऑपेरशनल हो जाएंगे. उम्मीद है कि इन अस्पतालों से कोरोना संक्रमित लोगो को मदद मिलेगी. बड़ी बात यह कि डीआरडीओ अस्पताल में इलाज के दौरान किसी से एक रुपया तक नही लिया जाएगा. सबकुछ मुफ्त होगा. दवा से लेकर खाने-पीने का इंतजाम तक. इस अस्पताल में डॉक्टर सेना और पैरामिलिट्री फोर्सेज के होंगे. कोरोना से निपटने में हर कोई अपना योगदान दे रहा है ऐसे में डीआरडीओ का योगदान भी काफी सराहनीय है.. 


दिल्ली में DRDO का नया कोविड अस्पताल हो रहा शुरू : डीआरडीओ चीफ 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com