अस्‍पतालों में बेड बढ़ाने के लिए काम कर रही दिल्‍ली सरकार, दो हफ्ते में ही तीन गुना से ज्‍यादा बेड बढ़े : मनीष सिसोदिया

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा क‍ि करीब 20 दिन पहले हमारे पास 6071 बेड्स थे जबकि आज 19101 बेड्स हैं यानी 2 हफ्ते के समय में 3 गुना से ज्यादा बेड्स बढ़ा दिए गए हैं.'

अस्‍पतालों में बेड बढ़ाने के लिए काम कर रही दिल्‍ली सरकार, दो हफ्ते में ही तीन गुना से ज्‍यादा बेड बढ़े : मनीष सिसोदिया

उप मुख्‍यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा, सारे संसाधनों का हमने सबसे बेहतर इस्तेमाल किया है

खास बातें

  • कहा, युद्ध स्तर पर हमने बेड की संख्या बढ़ाई है
  • सारे संसाधनों का सबसे बेहतर इस्तेमाल किया है
  • वैसे लक्षण ज़्यादा हो तो ही अस्पताल जाएं लोग
नई दिल्ली:

'कोराना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच दिल्ली सरकार बेड उपलब्ध कराने में बहुत तेजी से काम कर रही है, पिछले चार-पांच दिनों में मैं कई हॉस्पिटलों में अंदर तक जाकर आया हूं. करीब 20 दिन पहले हमारे पास 6071 बेड्स थे जबकि आज 19101 बेड्स हैं यानी 2 हफ्ते के समय में 3 गुना से ज्यादा बेड्स बढ़ा दिए गए हैं.' यह बात दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया की डिजिटल प्रेस कॉन्फ्रेंस में कही. उन्‍होंने कहा कि अभी 2500 बेड्स खाली हैं, युद्ध स्तर पर हमने बेड की संख्या बढ़ाई है. सारे संसाधनों का हमने सबसे बेहतर इस्तेमाल किया है. मुख्यमंत्रीजी के आदेश पर पिछले दिनों लगातार 1-1 अस्पताल में गया हूं और अस्पतालों की क्षमता को और बढ़ाने का काम किया है.

प्रवासी मजदूरों की जुबानी सुनिए, क्यों दिल्ली में रुकने के लिए नहीं हैं तैयार

नोडल मंत्री(कोरोना) मनीष सिसोदिया ने कहा कि बुराड़ी अस्पताल में 480 बेड्स बढ़ जाएंगे. अंबेडकरनगर अस्पताल में 200 की जगह 600 बेड किए जाएंगे. दीनदयाल उपाध्याय में 600 बेड बढ़ जाएंगे. उन्‍होंने बताया कि LNJP ने 1500 हैं, सब फुल हैं, इनके साथ और बेड्स जोड़े हैं. DRDO में 250 बेड्स मिले, ये 4 घंटे में भर गए. 4-5 दिन में 2700 बेड्स और बढ़ जाएंगे. अस्पताल में अभी 2500 बेड्स खाली हैं. उन्‍होंने लोगों से 'पैनिक' न होने की अपील की. उप मुख्‍यमंत्री ने कहा कि ज्यादातर लोग होम आइसोलेशन में ठीक हो रहे हैं. लक्षण ज़्यादा हो तो ही अस्पताल जाएं. APP देखकर ही अस्पताल में जाएं. उन्‍होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने आदेश दिए हैं कोई भी हॉस्पिटल अगर APP पर सही जानकारी नहीं देगा. अगर ऐप में दिखेगा कि बेड है और वह मना करेगा तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. अस्पतालों में पेशेंट और अटेंडेंस दोनों से मिला हूं. कोरोना के समय मे सारे डॉक्टर्स बहुत मेहनत कर रहे हैं, अटेंडेंस शिकायत करते हैं कि बहुत दिन हो गए हमारे पेशेंट को डॉक्टर ने नहीं देखा. PPE किट्स में लोग डॉक्टर को पहचान नहीं पा रहे और कह रहे हैं कि हमारे मरीज को डॉक्टर नहीं देख रहे जबकि डॉक्टर लगातार मरीज को देख रहे हैं. डॉक्टर लगातार आ रहे हैं  राउंड ले रहे हैं लेकिन मरीज इसलिए नहीं पहचान पा रहे क्योंकि उन्होंने PPE पहनी हुई है
.

अस्पतालों में बनाए जाने वाले बेड की डिटेल

1. बुरारी हॉस्पिटल- 320, बेड्स से बढ़ाकर 800 करेंगे

2. अंबेडकर नगर हॉस्पिटल- 200 बेड्स से बढ़ाकर 600 बेड्स होंगे

3. दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल- 250 से बढ़ाकर 750 बेड्स

4. आचार्य भिक्षु हॉस्पिटल- 150 से बढ़ाकर 400 बेड्स

5. राजा हरिश्चंद्र अस्पताल, नरेला- 200 से बढ़ाकर 400 बेड्स होंगे

6. लोकनायक हॉस्पिटल- 1500 बेड अभी हैं जो कि सभी भरे हुए हैं, इस हॉस्पिटल के साथ 125 बेड स्कूल में जोड़े हैं और और CWG 500 बेड्स जोड़ें हैं.ये शुरू हो गए हैं

.7. DRDO हॉस्पिटल- 250 बेड्स कल एक ही दिन में भर गए 4 घंटे में, अभी उस हॉस्पिटल में 250 बेड और मिलेंगे


. अगले 4 से 5 दिनों में हमारे पास सरकारी हॉस्पिटल में 2700 बेड्स जुड़ने वाले हैं. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


दिल्ली के CWG स्टेडियम में तैयार किया गया 465 बेड वाला कोविड केयर सेंटर