दिल्ली सरकार ने द्वारका के इंदिरा गांधी हॉस्पिटल को कोविड अस्पताल घोषित किया, 250 बेड से होगी शुरुआत

Indira Gandhi Hospital in Dwarka : शुरुआत में इस अस्पताल में 250 बेड रहेंगे, जिनको बाद में धीरे-धीरे बढ़ाया जाएगा. यह 900 बेड का अस्पताल है

दिल्ली सरकार ने द्वारका के इंदिरा गांधी हॉस्पिटल को कोविड अस्पताल घोषित किया, 250 बेड से होगी शुरुआत

Indira Gandhi Hospital in Dwarka

नई दिल्ली:

दिल्ली (Delhi) में आम आदमी पार्टी की सरकार ने द्वारका के इंदिरा गांधी हॉस्पिटल को कोविड अस्पताल (Indira Gandhi Hospital in Dwarka as Covid Hospital) घोषित कर दिया है. इस अस्पताल में शुरुआत 250 कोविड बेड से की जाएगी. शनिवार 8 मई से ही इसको चालू करने के औपचारिक आदेश जारी किए गए हैं. शुरुआत में इस अस्पताल में 250 बेड रहेंगे, जिनको बाद में धीरे-धीरे बढ़ाया जाएगा. यह 900 बेड का अस्पताल है.दिल्ली के अस्पतालों में ऑक्सीजन (Delhi Medical Oxygen) की स्थिति थोड़ी बेहतर होने के बीच केजरीवाल सरकार ने यह निर्णय लिया है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) पहले ही कह चुके हैं कि ऑक्सीजन की उपलब्धता (Oxygen Supply) बढ़ने पर कोविड बेड बढ़ाए जा सकते हैं. 

COVID-19 सिर्फ फेफड़े की बीमारी नहीं, इससे खतरनाक तरीके से खून का थक्का भी जम सकता है : विशेषज्ञ

ऑक्सीजन की किल्लत को लेकर शनिवार को उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) प्रेस कॉन्फ्रेंस की. उन्होंने कहा कि शनिवार को दिल्ली में 700 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की ज़रूरत है. लेकिन भविष्य में यह मांग 976 MT ऑक्सीजन तक पहुंचेगी. डिप्टी सीएम ने कहा कि 5 मई को पहली बार 730 MT और 6 मई को 577 MT, 7 मई को 487 MT ऑक्सीजन मिला है. इतने कम ऑक्सीजन पर अस्पताल में सप्लाई का प्रबंधन करना मुश्किल है.  केंद्र सरकार से 700 MT भी नहीं मिलना मरीजों की जान जोखिम में डालने जैसा है. सिसोदिया ने कहा कि केंद्र सरकार से अपील है कि 730 MT ऑक्सीजन दिलवाने की मदद करें. अस्पताल में कितने मरीज़ भर्ती हैं, कितनी खपत है इसका आकलन करने के बाद ही ऑक्सीजन की डिमांड की जाती है. 

दिल्ली में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 17,364 नए केस सामने आए हैं. इसकी चपेट में 332 लोगों ने अपनी जान गंवाई है.अब तक मौत का आंकड़ा 19,071 पर पहुंच गया. वहीं सक्रिय मरीजों की संख्या 87,907 है और होम आइसोलेशन में 49,865 मरीजों का इलाज चल रहा है. सक्रिय कोरोना मरीजों की दर की बात करें तो यह घटकर 6.71 फीसदी हो गई है. वहीं इस बीमारी को मात देने यानी रिकवरी दर 91.83 फीसदी हो गई है.

दिल्ली में कोरोना के मामले पिछले कुछ हफ्तों में घट रहे हैं. दिल्ली के अस्पतालों में अभी 22 हजार से ज्यादा कोविड बेड हैं, जिनमें 2451 खाली हैं. दिल्ली सरकार अस्पतालों में ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए केंद्र के अलावा तमाम राज्य सरकारों के संपर्क में है. मुख्यमंत्री केजरीवाल ने खुद कई राज्यो ंके मुख्यमंत्रियों को चिट्ठी लिखी है.


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


सुप्रीम कोर्ट ने नेशनल ऑक्सीजन टास्क फोर्स का किया गठन