दिल्ली: 30 रुपयों के फटे नोट से सुलझी डबल मर्डर की गुत्थी, आरोपी रिश्तेदार गिरफ्तार

मंगलवार शाम करीब 7 बजे दिल्ली के पालम विहार इलाके के राजनगर में 27 साल के गौरव और उनकी 52 साल की मां बबिता की डम्बल से ताबड़तोड़ हमले कर हत्या कर दी गयी.

दिल्ली: 30 रुपयों के फटे नोट से सुलझी डबल मर्डर की गुत्थी, आरोपी रिश्तेदार गिरफ्तार

पुलिस के मुताबिक हत्यारा कोई और नहीं बल्कि एयरफोर्स कर्मी के साले का बेटा है.

नई दिल्ली:

दिल्ली (Delhi) के पालम गांव में एयरफोर्स कर्मी के बेटे और पत्नी की हत्या की गुत्थी को पुलिस ने सुलझा लिया है. पुलिस के मुताबिक हत्यारा कोई और नहीं बल्कि एयरफोर्स कर्मी के साले का बेटा है. हत्या के पीछे की वजह लेनदेन बताई जा रही है. पुलिस आरोपी तक 30 रुपये के एक फटे नोट की वजह से पहुंच गयी. मंगलवार शाम करीब 7 बजे दिल्ली के पालम विहार इलाके के राजनगर में 27 साल के गौरव और उनकी 52 साल की मां बबिता की डम्बल से ताबड़तोड़ हमले कर हत्या कर दी गयी. वारदात का पता तब चला जब बबिता के पति कृष्ण स्वरूप सुधीर दफ्तर से घर पहुंचे. वो एयरफोर्स में अकाउंटेंट हैं और पालम एयरफोर्स स्टेशन पर तैनात हैं. 

दिल्ली के पालम गांव में मां-बेटे की डम्बल से जघन्य हत्या

गौरव हैदराबाद में डेल कंप्यूटर में नौकरी करता था. लेकिन फिलहाल पिछले 1 साल से वो बेरोजगार था. जांच में पता चला कि घर में किसी की फ्रेंडली एंट्री हुई है. घर के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरों की डीवीआर गायब मिली और घर में एक अलमारी खुली मिली. शक हुआ कि वारदात के पीछे की वजह लूटपाट हो सकती है.

पुलिस ने आसपास के सीसीटीवी कैमरों की फुटेज देखी तो एक संदिग्ध जाता दिखाई दिया. फिर पुलिस को वही शख्स सीसीटीवी फुटेज में दशरथपुरी मेट्रो स्टेशन पर एक ई रिक्शा से उतरता हुआ दिखा. पुलिस ने पहले उस ई रिक्शा और उसके मालिक को खोजा. ई रिक्शा के मालिक से पूछताछ हुई तो उसने बताया कि एक शख्स उसके रिक्शे में बैठा था. उनके कपड़ो में खून भी लगा था लेकिन तब रिक्शेवाले ने उससे खून के बारे में पूछा तो उसने जबाब नहीं दिया. रिक्शेवाले ने ये भी बताया कि रिक्शे का किराया 30 रुपये हुआ था. लेकिन उस शख्स के पास फटा हुआ नोट होने की वजह से उसने वो रुपये नहीं लिए. फिर उस शख्स ने पेटीएम के अपने मोबाइल से 30 रुपये रिक्शेवाले के मोबाइल में भेजे. 

पुलिस ने जब उस मोबाइल लेनदेन की जांच की तो पैसे भेजने वाले का मोबाइल नंबर और नाम मिल गया. आरोपी का नाम अभिषेक वर्मा है. पता चला कि वो बबिता के भाई का लड़का हपुलिस ने अभिषेक को उसके बुराड़ी के घर से गिरफ्तार कर लिया. आरोपी ने पूछताछ में बताया कि कुछ महीने पहले उसने अपनी बुआ बबिता से एक शादी के लिए 50 हज़ार रुपये उधार लिए थे. बुआ बार बार उन पैसों को मांगती थी और भला बुरा कहतीं थीं. इसलिए उसने बुआ और उनके बेटे की हत्या की साज़िश रची. वो वारदात के 2 दिन पहले भी बबिता के घर आया तब भी इसी लेनदेन को लेकर उनके बीच झगड़ा हुआ. 


Video : मामूली बात पर सेना के जवान ने खोया आपा, तीन युवकों को बेरहमी से पीटा, 1 की मौत

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इसके बाद मंगलवार को वो हत्या के मकसद से अपनी स्कूटी में सवार होकर आया. उसने स्कूटी दशरथपुरी मेट्रो स्टेशन में पार्क कर दी. फिर ई रिक्शे से बबिता के घर गया. वारदात को अंजाम दिया. घटना को लूट दिखाने के लिए उसने एक अलमारी खोली. हालांकि कुछ भी चोरी नहीं किया. उसके बाद बाहर निकलते ही उसने सीसीटीवी कैमरों की डीवीआर निकाली और ई रिक्शा कर फिर दशरथपुरी मेट्रो स्टेशन पहुँचा. वो अपने साथ एक जोड़ी कपड़े भी लाया था. 33 साल का अभिषेक वर्मा बुराड़ी में एक कॉस्मेटिक की दुकान चलाता है.