"वो तो 'आम कैसे खाते हैं' जैसे सवालों के आदी हैं, महंगाई पर चर्चा कैसे करेंगे?", PM पर प्रियंका गांधी का तंज

2014 में केंद्र में सत्ता में आने से पहले बीजेपी महंगाई पर आंदोलन किया करती थी लेकिन अब सत्ता में आने के बाद मौन है. नरेंद्र मोदी ने भी 2014 के आम चुनावों से पहले महंगाई पर कई भाषण दिए थे. यहां तक कि देशभर में उनकी तस्वीर के साथ महंगाई के खिलाफ नारे वाली होर्डिंग्स भी लगाई गई थी.

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने महंगाई के मुद्दे पर पीएम नरेंद्र मोदी पर तीखा हमला बोला है.

नई दिल्ली:

कांग्रेस (Congress) महासचिव और यूपी की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) पर फिर तीखा हमला बोला है. उन्होंने आरोप लगाया है कि प्रधानमंत्री संसद में महंगाई जैसे आमजन के मुद्दे पर भी चर्चा करने से डरते हैं. उन्होंने महंगाई से जुड़ी खबरों की कतरन शेयर करते हुए ट्वीट किया है, "वे "आप आम कैसे खाते हैं" जैसे सवालों के आदी हैं, इसलिए बढ़ती महंगाई जैसे आमजनों को परेशान करने वाले सवालों पर संसद में चर्चा करने से डरते हैं."

बता दें कि खुदरा बाजारों में खाद्य तेलों की कीमतों में जुलाई में एक साल पहले की समान अवधि की तुलना में 52 प्रतिशत तक की वृद्धि हुई है.  शुक्रवार को राज्यसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में खाद्य और उपभोक्ता मामलों के राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने कहा कि सरकार ने कोविड-19 महामारी के मद्देनजर दलहन और खाद्य तेल जैसे आवश्यक खाद्य पदार्थों की कीमतों में वृद्धि को रोकने के लिए कई उपाय किए हैं.

'सरकार से जवाब न मिलने तक...' : कृषि कानूनों व Pegasus Scandal पर कांग्रेस का 'ऐलान-ए-जंग'

मंत्री द्वारा साझा किए गए आंकड़ों के अनुसार, मूंगफली तेल की औसत मासिक खुदरा कीमत में जुलाई के दौरान, पिछले साल की समान अवधि की तुलना में 19.24 प्रतिशत की वृद्धि हुई है.

समीक्षाधीन अवधि में सरसों के तेल में 39.03 प्रतिशत, वनस्पति में 46.01 प्रतिशत, सोया तेल में 48.07 प्रतिशत, सूरजमुखी के तेल में 51.62 प्रतिशत और पाम तेल की कीमतों में 44.42 प्रतिशत की वृद्धि हुई है. ताजा आंकड़े 27 जुलाई 2021 तक के हैं.


"मांगें पूरी होने तक जीएसटी देना बंद कर दें", विरोध प्रदर्शन में बोले पीएम मोदी के भाई 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


2014 में केंद्र में सत्ता में आने से पहले बीजेपी महंगाई पर आंदोलन किया करती थी लेकिन अब सत्ता में आने के बाद मौन है. नरेंद्र मोदी ने भी 2014 के आम चुनावों से पहले महंगाई पर कई भाषण दिए थे. यहां तक कि देशभर में उनकी तस्वीर के साथ महंगाई के खिलाफ नारे वाली होर्डिंग्स भी लगाई गई थी.