महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक के बेटे फराज से जुड़ी कंपनी ED के निशाने पर

एसोसिएट हाई प्रेशर टेक्नोलॉजी प्राइवेट लिमिटेड ने यूनियन बैंक से कर्ज लेकर उसमें से 15 करोड़ की रकम नवाब मलिक के बेटे फराज की कंपनी को दी, मामला कुल 150 करोड़ का बताया जा रहा

महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक के बेटे फराज से जुड़ी कंपनी ED के निशाने पर

महाराष्ट्र के मंत्री और एनसीपी के नेता नवाब मलिक (फाइल फोटो).

मुंबई:

महाराष्ट्र सरकार में कैबिनेट मंत्री और एनसीपी के प्रवक्ता नवाब मलिक ने रविवार की रात में ट्वीट करके सोमवार को उनके घर सरकारी मेहमानों के आने की आशंका व्यक्त की थी. उन्होंने यह भी कहा था कि मेहमानों का स्वागत वे चाय-बिस्किट से करेंगे. लेकिन मेहमान तो उनके घर नहीं आए, खुद नवाब मलिक भी सुबह-सुबह हेलीकॉप्टर से बीड चले गए. नवाब मलिक ने बताया कि उनका पार्टी कार्यक्रम पहले से तय था. बहरहाल मेहमान भले उनके घर नहीं आए लेकिन उनके बेटे फराज से जुड़ी एक कंपनी टचवुड रियल स्टेट प्राइवेट लिमिटेड प्रवर्तन निदेशालय, यानी कि ईडी के राडार पर है. सोमवार को दिल्ली से आई टीम यूनियन बैंक ऑफ इंडिया से लोन लेकर उसे घुमाने के मामले में जांच कर रही है.


मामला कुल 150 करोड़ का बताया जा रहा है. आरोप है कि एसोसिएट हाई प्रेशर टेक्नोलॉजी प्राइवेट लिमिटेड ने यूनियन बैंक से कर्ज लेकर उसमें से 15 करोड़ की रकम नवाब मलिक के बेटे फराज की कंपनी को दे दी. ED ने सोमवार को हाई प्रेशर टेक्नोलॉजी प्राइवेट लिमिटेड के दफ्तर और उसके दो पार्टनर  फारुख दरवेश और श्रीचंद अगिचा के घर और दफ्तर की तलाशी ली.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


ED सूत्रों के मुताबिक टचवुड रियल एस्टेट प्राइवेट लिमिटेड भी जांच के दायरे में है. टचवुड रियल एस्टेट में फ़राज़ का 20 परसेंट स्टेक है. इस पर नवाब मलिक का कहना है कि देश में कानूनन कारोबार करना सबका हक है. मेरे पिताजी ने कारोबार किया, हम भी कर रहे हैं. जो भी हमारी संपत्ति है उसका इनकम टैक्स रिटर्न भरा गया है. उसकी कई बार स्क्रूटनी हुई है. लेकिन इस राज्य में पूर्व मुख्यमंत्री के इशारे पर जांच हो रही है तो उन्हें जवाब देना होगा.बीजेपी के लोग समझ लें, नवाब मलिक को डराने की कितना भी कोशिश करें, नवाब मलिक डरने वाले नही हैं.