छत्तीसगढ़ : युवाओं के लिए 1-2 दिन की कोविड वैक्सीन का स्टॉक ही बचा, केंद्र से पूछे सवाल

भूपेश बघेल सरकार ने कहा कि जब राज्य सरकार 18-44 वर्ष के लोगों के वैक्सीनेशन के लिए पैसे दे रही है तो तो फ़ोटो भी राज्य सरकार तय करेगी कि किसका लगेगा.

नई दिल्ली:

छत्तीसगढ़ सरकार ने कहा है कि राज्य में युवाओं को कोरोना टीका (Chhattisgarh Covid Vaccination) लगाने के लिए महज 1-2 दिन का ही स्टॉक बचा है. राज्य सरकार के मुताबिक, 18-44 आयु वर्ग के लिए 75,870 डोज ही बचे हैं, जो एक-दो दिन के लिए ही पर्याप्त हैं. हालांकि 45 साल से ऊपर वालों के लिए 8 लाख डोज़ बचे हैं. छत्तीसगढ़ के पहले दिल्ली, महाराष्ट्र समेत कई राज्य भी युवाओं के लिए टीके उपलब्ध न होने की शिकायत कर चुके हैं. कई जगह टीकाकरण केंद्र (Vaccination Centre) भी बंद हो चुके हैं. 

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) के नेतृत्व वाली सरकार का कहना है कि कोविड वैक्सीन का डोज़ ही नहीं मिलेगा तो वैक्सीनेशन रोकना होगा. बघेल सरकार ने सवाल किया कि पैसा तो राज्य सरकार दे रही है, लेकिन नियंत्रण भारत सरकार का है. पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि टीका उत्सव मनाओ, लेकिन वैक्सीन उपलब्ध ही नहीं है. वैक्सीन ही नहीं है तो प्रचार किस बात का करें.

देश भर मे टीकाकरण करना है तो भारत सरकार टेंडर क्यों नहीं बुलाती. राज्यों को सीधे आपूर्ति करने के लिए विदेशी कंपनियां सुरक्षित महसूस क्यों करेंगी. राज्य सरकार पैसे दे रही है, लेकिन नियंत्रण भारत सरकार का है. छत्तीसगढ़ सरकार ने यह भी पूछा है कि जिनके पास मोबाइल नहीं है, उनको वैक्सीन कैसे लगेगा. लिहाजा राज्य ने ऑफ़लाइन पंजीकरण भी शुरू किया है.


बघेल सरकार ने कहा कि जब राज्य सरकार 18-44 वर्ष के लोगों के वैक्सीनेशन के लिए पैसे दे रही है तो तो फ़ोटो भी राज्य सरकार तय करेगी कि किसका लगेगा. अभी 45 साल से अधिक उम्र के लोगों के टीकाकरण में प्रधानमंत्री का फ़ोटो जा रहा है. राज्य सरकार का कहना है कि  अब 18-44 वालों के लिए हम पैसे दे रहे हैं तो हम तय करेंगे कि किसका फ़ोटो लगेगा.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


छत्तीसगढ़ में 18+ के लिए सिर्फ एक-दो दिन का डोज बचा: वैक्सीन पर CM भूपेश बघेल