यूपी में अपना दल और निषाद पार्टी के साथ मिलकर चुनाव लड़ेगी बीजेपी, सीटों के बंटवारे पर अभी नहीं हुआ फैसला

बीजेपी अध्‍यक्ष नड्डा ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा, 'यूपी में बीजेपी आगामी चुनाव के लिए NDA सहयोगियों के साथ है. हम लोकसभा चुनाव के लिए साथ थे...विस्‍तृत चर्चा हुई है और हम सभी 403 सीटों के लिए उनके साथ गठबंधन कर रहे हैं. '

यूपी में अपना दल और निषाद पार्टी के साथ मिलकर चुनाव लड़ेगी बीजेपी, सीटों के बंटवारे पर अभी नहीं हुआ फैसला

बीजेपी उत्‍तर प्रदेश में अपना दल और निषाद पार्टी के साथ मिलकर चुनाव लड़ेगी

नई दिल्‍ली :

पिछले सप्‍ताह विभिन्‍न दलबदलों (ज्‍यादातर ओबीसी नेताओं के) से परेशान रही भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने उत्‍तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के पहले, बुधवार को  निषाद पार्टी और अपना दल (एस) के साथ गठबंधन का ऐलान किया. हालांकि पार्टी ने सीटों के बंटवारे के विवरण की जानकारी नहीं दी है. बीजेपी अध्‍यक्ष जेपी नड्डा ने सिर्फ इतना कहा, 'हम सभी 403 सीटों (यूपी विधानसभा की) के लिए गठबंधन कर रहे हैं. 'अपना दल (एस) और निषाद पार्टी- दोनों ही पूर्वी यूपी में ओबीसी वर्ग का प्रतिनिधित्‍व करते हैं और राज्‍य में बीजेपी के पूर्व सहयोगी रहे हैं. अपना दल (एस) जहां 2014 से बीजेपी का सहयोगी है वहीं निषाद पार्टी 2019 से. 

उत्तराखंड चुनाव से पहले जनरल बिपिन रावत के भाई बीजेपी में हुए शामिल

बीजेपी अध्‍यक्ष नड्डा ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा, 'यूपी में बीजेपी आगामी चुनाव के लिए NDA सहयोगियों के साथ है. हम लोकसभा चुनाव के लिए साथ थे...विस्‍तृत चर्चा हुई है और हम सभी 403 सीटों के लिए उनके साथ गठबंधन कर रहे हैं. ' उन्होंने कहा कि पिछले पांच वर्षों में उत्तर प्रदेश में डबल इंजन की सरकार ने विकास में एक नई छलांग लगाई है और प्रदेश के विकास को तेज गति दी है. नड्डा ने कहा कि संपर्क, शिक्षा और निवेश के क्षेत्र में पिछले पांच साल के दौरान उत्तर प्रदेश में बहुत काम हुआ है और कानून व्यवस्था की स्थिति में उल्लेखनीय सुधार हुआ है.उन्होंने कहा, ‘‘उत्तर प्रदेश में पांच साल पहले पलायन हो रहा था, गुंडागर्दी हो रही थी, अपहरण हो रहे थे, सरकार के सहयोग से माफिया पनप रहे थे. पिछले पांच साल में सभी अराजक चीजें समाप्त हो गई हैं. आज उत्तर प्रदेश में कानून का राज है.''

परिवार की 'बहू' अपर्णा यादव के BJP में शामिल होने पर अखिलेश यादव ने कही यह बात..

इस अवसर पर अनुप्रिया पटेल और संजय निषाद ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार और योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा समाज के शोषित और वंचित वर्ग के कल्याण के लिए उठाए गए कदमों की सराहना की और विश्वास जताया कि राज्य में फिर से एक बार एनडीए की सरकार बनेगी. पटेल ने कहा, ‘‘उत्तर प्रदेश में विकास और सामाजिक न्याय का संयोजन एक बेहतरीन कॉकटेल साबित हुआ है. उत्तर प्रदेश को विकास की भी आवश्यकता है और सामाजिक न्याय की भी जरूरत है. अपना दल ने अपनी स्थापना के साथ ही सदैव, समाज के अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति के अधिकार और भागीदारी के लिए संघर्ष किया है.''उन्होंने कहा कि भाजपा के साथ मिलकर हम इसे और आगे लेकर जाएंगे.पटेल ने अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) आयोग को संवैधानिक दर्जा दिए जाने और नीट परीक्षा सहित शिक्षा के क्षेत्र में ओबीसी वर्ग को आरक्षण दिए जाने का उल्लेख करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री के नेतृत्व में सामाजिक न्याय से जुड़ी तमाम समस्याओं का समाधान किया गया है. उन्होंने भाजपा नेताओं के समक्ष केंद्र सरकार में अलग से ओबीसी मंत्रालय के गठन की अपनी मांग भी दोहराई.पटेल ने कहा, ‘‘विकास के साथ ही सामाजिक न्याय की अवधारणा को और मजबूती प्रदान करने के लिए हम सभी ने तय किया है कि हम एक बार फिर मजबूती के साथ उत्तर प्रदेश विधानसभा का चुनाव लड़ेंगे.''

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश जैसे महत्वपूर्ण राज्य में पिछड़ों की आबादी 50 प्रतिशत से भी ज्यादा है और वहां की सरकार ने सामाजिक न्याय की अवधारणा को और मजबूत करने का काम किया है.अनुप्रिया ने कहा, ‘‘अभी बहुत कुछ किया जाना बाकी है, जो हमें साथ मिलकर करना है. उत्तर प्रदेश में 403 सीटों पर पूरी मजबूती के साथ अपना दल, भाजपा और निषाद पार्टी मिलकर चुनाव लड़ेंगे.''संजय निषाद ने इस अवसर पर उत्तर प्रदेश व केंद्र की पूर्ववर्ती सरकारों पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि उन्होंने समाज के पिछड़े तबकों को सिर्फ छलने और विकास से दूर रखने का काम किया जबकि भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र व राज्य की सरकारों ने बिना किसी भेदभाव के उनका वास्तविक विकास किया.इस घोषणा से पहले भाजपा मुख्यालय में एनडीए नेताओं की एक बैठक हुई, जिसमें केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, अध्यक्ष जे पी नड्डा, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, दोनों उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और दिनेश शर्मा तथा प्रदेश भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और केंद्रीय मंत्री व उत्तर प्रदेश के चुनाव प्रभारी धमेंद्र प्रधान के अलावा अनुप्रिया पटेल और संजय निषाद भी मौजूद थे. (भाषा से भी इनपुट)

यूपी से सियासत तेज : मुलायम की छोटी बहू अपर्णा यादव BJP में शामिल

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com