'इन बैठकों से कुछ नहीं होने वाला' : ममता बनर्जी की मुंबई में एनसीपी, शिवसेना नेताओं से भेंट पर बीजेपी का तंज..

बीजेपी के दिलीप घोष ने कहा, 'मुझे नहीं लगता कि इन बैठकों से कुछ होने वाला है. ममता बनर्जी किसी तरह शिवसेना का समर्थन करेंगी. उनके पास वहां क्‍या है. उनके बीच 3000  किमी की दूरी है. यह केवल एक 'शो' है.'

'इन बैठकों से कुछ नहीं होने वाला' : ममता बनर्जी की मुंबई में एनसीपी, शिवसेना नेताओं से भेंट पर बीजेपी का तंज..

लोकसभा चुनावों को ध्‍यान में रखते हुए ममता बनर्जी विपक्ष के नेताओं को एकजुट करने के प्रयास में जूटी हैंं

मुंबई :

तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी (Mamata Banerjee)ने 2024 के लोकसभा चुनावों को ध्‍यान में रखते हुए सियासी कदम उठाने शुरू कर दिए हैं. बीजेपी के राष्‍ट्रीय उपाध्‍यक्ष दिलीप  घोष ने राष्‍ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP)नेता शरद पवार के साथ उनकी बैठक को इसका ' दिखावा' करार दिया. शिवसेना के नेता अरविंद सावंत ने भी कहा है कि अगले लोकसभा चुनाव के लिए उद्धव ठाकरे को पीएम कैंडिडेट के तौर पर  देखा जा सकता है. दरअसल, पश्चिम बंगाल के विधानसभा चुनाव में धमाकेदार जीत दर्ज करने के बाद ममता की नजर अब राष्‍ट्रीय राजनीति के लिहाज से विपक्ष का चेहरा बनने पर है. 

'आंदोलन में किसानों की मौत का डेटा नहीं' वाले बयान पर सरकार चौतरफा घिरी

अपने महाराष्‍ट्र के दौरे के दौरान ममता ने शिवसेना नेता संजय राउत और आदित्‍य ठाकरे से मंगलवार को भेंट की थी, बुधवार यानी आज वे एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार से मिलीं. बीजेपी के दिलीप घोष ने कहा, 'मुझे नहीं लगता कि इन बैठकों से कुछ होने वाला है. ममता बनर्जी किसी तरह शिवसेना का समर्थन करेंगी. उनके पास वहां क्‍या है. उनके बीच 3000  किमी की दूरी है. यह केवल एक 'दिखावा (Show)' है.' न्‍यूज एजेंसी ANI के अनुसार, घोष ने कहा, 'एक राष्‍ट्रीय पार्टी बनाना अच्‍छी बात है लेकिन उनके साथ कौन है? उन्‍होंने (ममता) ने त्रिपुरा में कांग्रेस को तोड़ने का प्रयास किया, कुछ वोट हासिल  करने में सफल रही लेकिन नाकाम रहीं. यह अच्‍छा है कि वे अब महाराष्‍ट्र गई हैं जहां के सिद्धि विनायक मंदिर में उन्‍होंने बंगाल में हिंसा और हत्‍याओं की राजनीति के अपने पापों को धोने का प्रयास किया. ' 

''शाहरुख खान को निशाना बनाया जा रहा'' : ममता बनर्जी ने मुंबई में बीजेपी पर बोला 'हमला'

बीजेपी नेता घोष ने यह भी कहा, 'एनसीपी को ज्‍यादा दिक्‍कत नहीं है इसलिए वह उनसे मिल सकते हैं. वे एनसीपी और  कांग्रेस के नेताओं को अपनी ओर लेकर उनके वोट काट रही हैं.  'बीजेपी नेता ने कहा कि ममता के दिल्‍ली दौरे के दौरान कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी और आम आदमी पार्टी के प्रमुख अरविंद केजरीवाल ने ममता से भेंट नहीं की, इससे इन चर्चाओं को बल मिला है कि इनके बीच कुछ मतभेद हो नहीं.  उधर, शिवसेना की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है कि उद्धव ठाकरे के साथ टीएमसी प्रमुख की मुलाकात इसलिए नहीं हो पाई थी क्‍योंकि महाराष्‍ट्र के सीएम हाल ही में सर्जरी से गुजरे हैं और उन्‍हें आराम की सलाह दी गई है.

निलंबन पर तकरार : धरने पर बैठे विपक्षी सांसद

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com