Amazon India के हेड को ED का समन, फ्यूचर ग्रुप डील में अनियमितता के आरोप

अमेज़न इंडिया के खिलाफ फेमा का मामला इस साल जनवरी में दर्ज किया गया था. प्रवर्तन निदेशालय का यह समन दिल्ली हाई कोर्ट द्वारा अमेज़न और मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के बीच अदालती लड़ाई पर कुछ टिप्पणियों के बाद आया है.

Amazon India के हेड को ED का समन, फ्यूचर ग्रुप डील में अनियमितता के आरोप

Amazon ने साल 2019 में  ₹1,400 करोड़ के सौदे में फ्यूचर रिटेल में 49 प्रतिशत की हिस्सेदारी खरीदी थी.

नई दिल्ली:

प्रवर्तन निदेशालय (Enforcement Directorate- ED) ने Amazon India के हेड अमित अग्रवाल को समन जारी कर अगले सप्ताह पूछताछ के लिए बुलाया है. सूत्रों ने बताया कि फ्यूचर ग्रुप से डील में हुई अनियमितताओं की जांच के लिए ईडी ने समन जारी किया है. Amazon ने साल 2019 में  ₹1,400 करोड़ के सौदे में फ्यूचर रिटेल में 49 प्रतिशत की हिस्सेदारी खरीदी थी.

मामले में प्रवर्तन निदेशालय यह जांच करेगा कि  क्या इस डील में विदेशी मुद्रा पर भारत के कानून या विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम (फेमा), जो देश में ऐसे सभी लेनदेन के लिए औपचारिकताओं और प्रक्रियाओं की रूपरेखा तैयार करता है, का उल्लंघन किया गया है या नहीं?

अमेज़न इंडिया के खिलाफ फेमा का मामला इस साल जनवरी में दर्ज किया गया था. प्रवर्तन निदेशालय का यह समन दिल्ली हाई कोर्ट द्वारा अमेज़न और मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के बीच अदालती लड़ाई पर कुछ टिप्पणियों के बाद आया है.

CBI और ED प्रमुखों का कार्यकाल बढ़ाने के अध्‍यादेश के विरोध में कांग्रेस भी पहुंची सुप्रीम कोर्ट

तीन समझौतों  (फ्यूचर कूपन के साथ फ्यूचर रिटेल शेयरधारकों का समझौता, Amazon के साथ फ्यूचर कूपन के शेयरधारकों का समझौता और Amazon के साथ फ्यूचर कूपन का शेयर सब्सक्रिप्शन समझौता) के मद्देनजर हाई कोर्ट ने कहा था कि अमेज़न ने फ्यूचर रिटेल का अधिग्रहण बिना सरकार की इजाजत के किया, इससे फेमा और FDI नियमों के उल्लंघन का मामला बन सकता है.


वीडियो: कोरोना के नए वैरिएंट का खतरा बढ़ा, पीएम मोदी ने की बैठक

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com