पानी भिगोकर रातभर के लिए छोड़ दें ये बीज, सुबह खाली पेट पीने से दोगुने हो जाएंगे फायदे, जादुई है ये नुस्खा

Basil Seeds Water Benefits: तुलसी के बीज फाइबर, एंटीऑक्सीडेंट, आयरन और मैग्नीशियम जैसे मिनरल और जरूरी फैटी एसिड से भरपूर होते हैं.

पानी भिगोकर रातभर के लिए छोड़ दें ये बीज, सुबह खाली पेट पीने से दोगुने हो जाएंगे फायदे, जादुई है ये नुस्खा

Basil Water Benefits: तुलसी के बीज में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट फ्री रेडिकल्स से लड़ने में मदद करते हैं.

Tulsi Ke Beej Ka Pani: तुलसी एक सुगंधित जड़ी बूटी है जिसका उपयोग आमतौर पर अपने मजबूत, मीठे और थोड़े चटपटे स्वाद के लिए खाना बनाने में इस्तेमाल किया जाता है. इसका उपयोग अक्सर इटेलियन डिश जैसे थाई और वियतनामी में भी किया जाता है. तुलसी के बीज का पानी तुलसी के बीजों को पानी में भिगोकर बनाया जाने वाला पेय है. पानी में भिगोने पर ये बीज चिया बीज के समान छोटे, काले और जिलेटिनस होते हैं. ताजा और स्वादिष्ट ड्रिंक बनाने के लिए तुलसी के बीज के पानी को अक्सर कई फलों, मिठास और कभी-कभी जड़ी-बूटियों के साथ मिलाया जाता है.

तुलसी के बीज का पानी हेल्दी और पौष्टिक माना जाता है. ऐसा माना जाता है कि इसमें कई स्वास्थ्य लाभ होते हैं, जैसे पाचन में सहायता करना, वजन घटाने को बढ़ावा देना, कब्ज से राहत देना, स्किन हेल्थ में सुधार करना और शरीर पर शीतलन प्रभाव प्रदान करना. इसके अलावा तुलसी के बीज फाइबर, एंटीऑक्सीडेंट, आयरन और मैग्नीशियम जैसे मिनरल और जरूरी फैटी एसिड से भरपूर होते हैं.

तुलसी के बीज का पानी पीने के फायदे | Benefits of Drinking Basil Seed Water

1. पोषक तत्वों का अच्छा स्रोत

तुलसी के बीज में विटामिन (जैसे विटामिन के), खनिज (कैल्शियम जैसे) और एंटीऑक्सीडेंट जैसे जरूरी पोषक तत्व होते हैं जो हमारी ऑलओवर हेल्थ के लिए फायदेमंद होते हैं.

2. हाइड्रेशन

तुलसी के बीज के पानी का सेवन हमारे शरीर के लिक्विड को फिर से भरने और हमें हाइड्रेटेड रखने में मदद करता है.

इसे भी पढ़ें: अक्सर होती है क्रोनिक अपच तो इन 8 चीजों को कर लें डाइट में शामिल, तुरंत राहत मिल जाएगी आपको

3. डायजेशन

तुलसी के बीज में म्यूसिलेज, एक जेल जैसा पदार्थ होता है जो पानी में भिगोने पर फूल जाता है. ये जेल जैसी बनावट नियमित मल त्याग को बढ़ावा देकर और कब्ज को रोककर पाचन में सहायता करती है.

Fasting can help give a break to your digestion system

तुलसी के बीज फाइबर से भरपूर होते हैं. Photo Credit: iStock

4. वेट मैनेजमेंट में मददगार

तुलसी के बीजों में मौजूद हाई फाइबर तृप्ति की भावना को बढ़ावा देने, लालसा और ज्यादा खाने की इच्छा को कम करने में मदद करती है. इसके अलावा ये हेल्दी डायजेशन को सपोर्ट करता है, जो दोनों हेल्दी वेट बनाए रखने के लिए जरूरी है.

5. ब्लड शुगर को कंट्रोल करता है

तुलसी के बीज का ब्लड शुगर लेवल पर सकारात्मक प्रभाव पाया गया है. वे ब्लड फ्लो में शुगर रिलीज को धीमा करने में मदद करते हैं, ब्लड शुगर लेवल में स्पाइक्स और गिरावट को रोकते हैं.

इसे भी पढ़ें: हंसते हुए झलकता है दांतों का पीलापन, तो इस फल के छिलके को 4 मिनट रगड़ें, सात दिन में सफेद हो जाएंगे दांत

6. हार्ट हेल्थ

तुलसी के बीज में पाए जाने वाले एंटीऑक्सिडेंट जैसे पॉलीफेनोल्स, हार्ट डिजीज के जोखिम को कम करने से जुड़े हुए हैं. वे हेल्दी कोलेस्ट्रॉल लेवल को बनाए रखने और हार्ट फंक्शनिंग को बढ़ावा देने में मदद करते हैं.

7. रोग प्रतिरोधक क्षमता में सुधार

तुलसी के बीज में पाए जाने वाले पोषक तत्व और एंटीऑक्सीडेंट हमारे इम्यून सिसिट्म को बढ़ावा देने, कई इंफेक्शन और बीमारियों से बचाने में मदद कर सकते हैं.

8. स्किन के लिए फायदेमंद

तुलसी के बीज में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट फ्री रेडिकल्स से लड़ने में मदद करते हैं, जो हमारी त्वचा को नुकसान पहुंचा सकते हैं और समय से पहले बूढ़ा कर सकते हैं. तुलसी के बीज के पानी का नियमित सेवन हेल्दी, चमकदार त्वचा में योगदान दे सकता है.

ये भी पढ़ें: बिना चश्मे के नहीं दिखता साफ तो 1 महीने तक खा लीजिए ये 7 चीजें, सालों से लगे चश्मे को उतरने में नहीं लगेगी देर

9. तनाव से राहत दिलाता है

तुलसी के बीज के पानी का शरीर पर ठंडा प्रभाव पड़ता है, जो स्ट्रेस और चिंता को कम करने में मदद कर सकता है. यह मानसिक स्वास्थ्य में सुधार कर सकता है.

हालांकि, ये ध्यान रखना जरूरी है कि तुलसी के बीज के पानी के स्वास्थ्य लाभों पर वैज्ञानिक शोध सीमित हैं. बैलेंस डाइट के रूप में इसका सेवन हमेशा कम मात्रा में करना सबसे अच्छा होता है. अगर आपको कई स्वास्थ्य समस्याएं हैं, तो डाइट में कोई भी बदलाव करने से पहले किसी हेल्थ केयर प्रोफेशनल्स से सलाह लेनी चाहिए.



Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

(अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.)