Diabetes Mistakes: डायबिटीज रोगी करते हैं ये 6 गलतियां, तो कभी कंट्रोल नहीं हो पाता ब्लड शुगर लेवल

Mistakes Of Diabetes: अगर आप डायबिटीज रोगी हैं, तो आपको स्वास्थ्य के चार मुख्य स्तंभों - संतुलित पोषण, पर्याप्त व्यायाम, गुणवत्तापूर्ण नींद और भावनात्मक विषहरण पर काम करने की जरूरत है.

Diabetes Mistakes: डायबिटीज रोगी करते हैं ये 6 गलतियां, तो कभी कंट्रोल नहीं हो पाता ब्लड शुगर लेवल

एक हेल्दी लाइफस्टाइ आपको शुगर लेवल को प्रभावी ढंग से मैनेज करने में मदद कर सकती है

खास बातें

  • ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने के लिए बैलेंस डाइट का सेवन करें.
  • हेल्दी ब्लड शुगर लेवल को बनाए रखने के लिए रोजाना व्यायाम करें.
  • अगर आप डायबिटीज रोगी हैं तो छोटे और बार-बार भोजन करें

Blood Sugar Level: डायबिटीज और लाइफस्टाइल में साधारण बदलाव डायबिटीज को मैनेज करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं. हेल्दी ब्लड शुगर लेवल को बनाए रखने से स्थिति से जुड़ी जटिलताओं को रोकने में मदद मिलती है. तनाव, गतिहीन जीवन शैली, खराब भोजन विकल्प और अस्वास्थ्यकर नींद चक्र कुछ ऐसे कारक हैं जो आगे चलकर डायबिटीज को मैनेज करना कठिन बना सकते हैं. हाल की पोस्ट में होलिस्टिक लाइफस्टाइल कोच ल्यूक कॉटिन्हो ने बताया कि, "डायबिटीज एक लाइफस्टाइल की बीमारी है! एक खराब जीवनशैली और डाइट की आदतों से टाइप -2 डायबिटीज हो सकता है, एक बैलेंस डाइट और एक बेहतर लाइफस्टाइल इसे मैनेज करने में एक बड़ी भूमिका निभा सकती है."

"डायबिटीज केवल शुगर के बारे में नहीं है. यह अग्नाशय लेवल से शुरू होता है. इसलिए, अपने अग्न्याशय के स्वास्थ्य पर ध्यान दें," वे कहते हैं कि डायबिटीज रोगियों को स्वास्थ्य के चार मुख्य स्तंभों पर काम करने के लिए कहा जाता है, संतुलित पोषण, पर्याप्त व्यायाम, गुणवत्तापूर्ण नींद और इमोशनल डिटॉक्सीफिकेशन.

शुगर लेवल को कंट्रोल करने के लिए इन 6 गलतियों से बचें-

1. एक गतिहीन जीवन शैली

एक गतिहीन जीवन शैली वजन बढ़ने और हाई शुगर लेवल सहित कई स्वास्थ्य समस्याओं से जुड़ी हुई है. एक सक्रिय जीवनशैली न केवल आपके ब्लड शुगर लेवल के लिए अच्छी है बल्कि बेहतर स्वास्थ्य सुनिश्चित करने में मदद कर सकती है. एक व्यायाम रूटीन धीरे-धीरे विकसित करें. शुरुआती दिन में ज़ोरदार व्यायाम न करें क्योंकि इससे ब्लड शुगर में अचानक गिरावट आ सकती है.

8f8q1aug

Diabetes Mistakes: डायबिटीज रोगियों को शुगर लेवल को कंट्रोल करने के लिए नियमित रूप से व्यायाम करना चाहिए

2. कम वसा और हाई कार्ब डाइट

अन्य पोषक तत्वों की तरह ही वसा आपकी डेली डाइट का एक अनिवार्य हिस्सा होना चाहिए. कई लोग अपनी डाइट से वसा को पूरी तरह से खत्म कर देते हैं, जिसमें हेल्दी भी शामिल हैं. कॉटिन्हो ने उल्लेख किया, "गलत प्रकार की वसा का सेवन न करें. नट्स, बीज और शुद्ध तेलों से अच्छी वसा बेहतर हृदय और डायबिटीज के स्वास्थ्य में योगदान देता है."

3. भोजन के बीच लंबा अंतराल

अगर आप डायबिटीज के रोगी हैं, तो भोजन के बीच के अंतर को कम करने का प्रयास करें. भोजन के बीच बड़ा अंतर रखने से अगले भोजन में आप अधिक खा सकते हैं, जिससे ब्लड शुगर में उतार-चढ़ाव हो सकता है. स्वास्थ्य विशेषज्ञ अक्सर भोजन को छोटा और बार-बार खाने की सलाह देते हैं. भोजन के बीच अंतराल को भरने के लिए हेल्दी स्नैक्स चुनें.

4. बहुत अधिक या बहुत कम फल

यह एक आम गलत धारणा है कि डायबिटीज रोगी फल नहीं खा सकते क्योंकि उनमें नेचुरल शुगर होती है. आपको पूरी तरह से परहेज नहीं करना चाहिए या बहुत अधिक सेवन नहीं करना चाहिए. डायबिटीज से पीड़ित होने पर फलों का सेवन कम मात्रा में करना चाहिए. कॉटिन्हो अतिरिक्त फ्रुक्टोज से बचने के लिए पूरे दिन फलों का सेवन फैलाने का सुझाव देते हैं. धीरे-धीरे खाएं और ठीक से चबाएं.

o72bnq98

Diabetes Mistakes: डायबिटीज वाले लोग कम मात्रा में फल खा सकते हैं

5. अनियंत्रित तनाव

तनाव आपके विचार से ज्यादा हानिकारक है. यह आपके हार्मोन, मानसिक स्वास्थ्य के साथ-साथ शारीरिक स्वास्थ्य को भी प्रभावित कर सकता है. डायबिटीज वाले लोगों के लिए पुराना तनाव भी हानिकारक है. अध्ययनों के अनुसार, तनाव ब्लड शुगर लेवल को बढ़ा सकता है और आपके हृदय स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकता है.

6. खराब नींद चक्र

नींद शरीर को आराम प्रदान करने के अलावा शरीर के विभिन्न कार्यों को नियंत्रित करती है. कॉटिन्हो बताते हैं कि जब आप सोते हैं तो आपका ज्यादातर हार्मोनल संतुलन होता है और इंसुलिन और कुछ नहीं बल्कि एक हार्मोन है! इसलिए, एक हेल्दी नींद चक्र सुनिश्चित करना महत्वपूर्ण है.


श्रल्यूक कॉटिन्हो, हॉलिस्टिक कोच - इंटिग्रिटिव और लाइफस्टाइल मेडिसिन)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.