विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Apr 03, 2023

आज है Som Pradosh Vrat, यहां जानें पूजा विधि और शुभ मुहूर्त

Vrat 2023 : इस महीने में पड़ने वाले सोम प्रदोष व्रत के बारे में आपको पता होना चाहिए. तो चलिए जानते हैं अप्रैल में किस तारीख को रखा जाएगा उपवास और पूजा का शुभ मुहूर्त क्या है.

Read Time: 3 mins
आज है Som Pradosh Vrat, यहां जानें पूजा विधि और शुभ मुहूर्त
Vrat 2023 : 03 अप्रैल शाम 5 बजकर 55 मिनट से 07 बजकर 30 मिनट तक रहेगा.

Som Pradosh Vrat April 2023 : हर महीने के सोमवार को पड़ने वाली त्रयोदशी तिथि पर प्रदोष व्रत करते हैं. इसका धार्मिक रूप से बहुत महत्व होता है. इस दिन भगवान शिव-पार्वती की पूजा करते हैं. इस दिन जो भी उपवास करता है कुंडली में चंद्रमा मजबूत स्थिति में होता है. ऐसे में अप्रैल महीने में पड़ने वाले सोम प्रदोष व्रत के बारे में आपको पता होना चाहिए. तो चलिए जानते हैं अप्रैल में किस तारीख को रखा जाएगा उपवास और पूजा का शुभ मुहूर्त क्या है.

सोम प्रदोष व्रत कब है?

त्रयोदशी तिथि की शुरुआत 03 अप्रैल सुबह 6 बजकर 25 मिनट से अगले दिन यानी 04 अप्रैल सुबह 8 बजकर 6 मिनट तक है. 

Astro tips : आज से नहीं होंगे कोई शुभ काम, इसके पीछे है बड़ी वजह, जानिए यहां !

पूजा मुहूर्त

03 अप्रैल शाम 5 बजकर 55 मिनट से 07 बजकर 30 मिनट तक रहेगा. जबकि इस महीने का दूसरा सोम प्रदोष व्रत 17 अप्रैल को किया जाएगा. 

दूसरा सोम प्रदोष व्रत 

17 अप्रैल को दोपहर 3 बजकर 47 मिनट से त्रयोदशी तिथि लगेगी और प्रदोष व्रत का पूजन शाम 5 बजकर 57 मिनट से 7 बजकर 32 मिनट तक किया जा सकता है. 

सोम प्रदोष का व्रत

इस दिन सच्चे भक्ति भाव से भक्त पूजा पाठ कर व्रत रखते हैं. कहते हैं कि जो भी भक्त इस सच्चे मन से भगवान शिव की पूजा करते हैं उनकी सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं. इस व्रत में भोलेनाथ की पूजा शाम के समय सूर्यास्त से 45 मिनट पहले और सूर्यास्त के 45 मिनट बाद तक की जाती है. इस व्रत को करने से भगवान शिव (Lord Shiva) की पूर्ण कृपा प्राप्त की जा सकती है और सभी तरह की विपदाओं को भगवान हर लेते हैं. कहते हैं कि धन की कमी को खत्म करने के लिए भी प्रदोष व्रत लाभदायक है. मान्यता अनुसार इस व्रत को करने से सभी तरह के रोग दूर हो जाते हैं. इस व्रत को लेकर यह भी मान्यता है कि अविवाहित युवक-युवतियों को प्रदोष व्रत जरूर करना चाहिए. इससे उन्हें योग्य वर वधु की प्राप्ति होती है.

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. एनडीटीवी इसकी पुष्टि नहीं करता है.)

मुंबई: अब जामा मस्जिद में जाकर मुस्लिम महिलाएं पढ़ सकेंगी नमाज़

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Sawan 2024 : यहां जानिए कैसे करें सावन सोमवार व्रत और शिवलिंग अभिषेक की साम्रगी
आज है Som Pradosh Vrat, यहां जानें पूजा विधि और शुभ मुहूर्त
Apara Ekadashi 2024: जीवन में खुशहाली लाती है अपरा एकादशी, जानिए इसका महत्व और कथा
Next Article
Apara Ekadashi 2024: जीवन में खुशहाली लाती है अपरा एकादशी, जानिए इसका महत्व और कथा
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;