दिल्ली : सुरक्षाकर्मियों को पीटकर बाल सुधार गृह से फरार हो गए 11 शातिर बाल अपराधी

सेंट्रल दिल्ली के दिल्ली गेट इलाके स्थित बाल सुधार गृह से 11 बाल अपराधी फरार हो गए हैं. घटना बुधवार शाम सात बजे की है. यह बच्चे सीरियल ऑफेन्डर हैं.

दिल्ली : सुरक्षाकर्मियों को पीटकर बाल सुधार गृह से फरार हो गए 11 शातिर बाल अपराधी

बाल सुधार गृह से भागे सभी बच्चों की तलाश जारी है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

खास बातें

  • बाल सुधार गृह से भागे 11 बाल अपराधी
  • सीरियल ऑफेन्डर हैं सभी बच्चे
  • सुरक्षाकर्मियों से मारपीट के बाद हुए फरार
नई दिल्ली:

सेंट्रल दिल्ली के दिल्ली गेट इलाके स्थित बाल सुधार गृह से 11 बाल अपराधी फरार हो गए हैं. घटना बुधवार शाम सात बजे की है. यह बच्चे सीरियल ऑफेन्डर हैं. बताया जा रहा है कि इन लोगों ने पहले सुरक्षा गार्डों के साथ मारपीट की, फिर वहां से भाग गए. इस बाल सुधार गृह में ऐसे बाल अपराधियों को रखा गया है, जो कई बार अपराध कर चुके हैं. घायल दोनों सुरक्षाकर्मियों को उपचार के लिए सुश्रुत ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया है. पुलिस मामले की छानबीन कर रही है.

बताते चलें कि 2018 की एक रिपोर्ट के मुताबिक, उस समय 1300 से अधिक बालगृहों (चाइल्ड केयर इंस्टीट्यूशन) ने पंजीकरण नहीं करवाया था. इनमें से भी 1100 से अधिक बालगृह अकेले केरल में थे, जिनका पंजीकरण नहीं हुआ था. ‘मिशनरीज ऑफ चैरिटी' की झारखंड स्थित एक संस्था से बच्चों को कथित तौर पर बेचे जाने का मामला सामने आने के बाद, नोबेल पुरस्कार से सम्मानित बाल अधिकार कार्यकर्ता कैलाश सत्याथी और कई अन्य कार्यकर्ताओं ने सभी बालगृहों का तत्काल पंजीकरण किए जाने की मांग की थी. किशोर न्याय (बच्चों की देखभाल एवं संरक्षण) अधिनियम, 2015 के तहत बाल संरक्षण से जुड़ी हर संस्था का पंजीकरण कराना अनिवार्य है. यह संशोधित कानून जनवरी, 2016 में लागू हुआ था.


VIDEO: रायन मर्डर केस: नाबालिग आरोपी पर बालिग जैसा केस

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com