इस वजह से पूर्व दिग्गज इयान चैपल ने बढ़ती हुई टी20 लीगों को लेकर जतायी चिंता

चैपल ने लिखा, ‘‘पूरे क्रिकेट ढांचे, विशेष रूप से कार्यक्रम की खेल के भविष्य को ध्यान में रखते हुए गहन लेकिन सकारात्मक समीक्षा की जरूरत है.’

इस वजह से पूर्व दिग्गज इयान चैपल ने बढ़ती हुई टी20 लीगों को लेकर जतायी चिंता

महान कंगारू क्रिकेटर इयान चैपल

नई दिल्ली:

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान इयान चैपल का मानना है कि टी20 लीग ‘खरपतवार से भी तेजी से फैल' रही हैं और ऐसे में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट का महत्वाकांक्षी भविष्य कार्यक्रम व्यवधान की ओर बढ़ रहा है. चैपल ने एक वेबसाइट के लिए  लिखे अपने लेख में लिखा कि खेल प्रशासकों और अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों के बीच एक स्वस्थ साझेदारी की अनुपस्थिति इस प्रक्रिया को तेज कर सकती है. हाल ही में स्टीव वॉ जैसे अतीत के स्टार खिलाड़ियों ने क्रिकेट के व्यस्त कार्यक्रम के संदर्भ में कहा था कि जनता को अत्याधिक क्रिकेट परोसा जा रहा है और इस खेल में रुचि में कमी आई है.

SPECIAL STORIES:

पाक फैन ने एमएस धोनी पर कसा ताना, तो अमित मिश्रा ने दिया करारा जवाब


टेस्ट क्रिकेट में नाथन लियोन का ऐतिहासिक कारनामा, तोड़ दिया अश्विन का सबसे बड़ा रिकॉर्ड

पाकिस्तान के 'अंजान खिलाड़ी' ने रच दिया इतिहास, बना दिया ऐसा रिकॉर्ड, जानकर नहीं होगा यकीन

चैपल ने लिखा, ‘‘पूरे क्रिकेट ढांचे, विशेष रूप से कार्यक्रम की खेल के भविष्य को ध्यान में रखते हुए गहन लेकिन सकारात्मक समीक्षा की जरूरत है.' उन्होंने कहा, ‘खिलाड़ियों और प्रशासकों के बीच साझेदारी की कमी का स्पष्ट मामला भी है. निश्चित रूप से यह ऐसा नहीं होना चाहिए जैसा कि वर्तमान में है- प्रशासकों का अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों से सलाह-मशविरे के बिना कार्यक्रम तय करने का मामला.'

चैपल ने कहा, ‘टी20 लीग गर्मियों में खरपतवार से भी अधिक तेजी से बढ़ रही हैं और पहले से ही एक अविश्वसनीय कार्यक्रम एक बड़े विस्फोट की ओर बढ़ रहा है.' टी20- लीग के प्रसार के बीच खिलाड़ियों को अब यह चुनने की आवश्यकता है कि उसे किस लीग में खेलना है और किसे छोड़ना है. ऐसे में कुछ लीग स्टार खिलाड़ियों से वंचित होंगी और लंबे समय में आर्थिक रूप से व्यावहारिक बनने की उनकी क्षमता प्रभावित होगी.

पूर्व दिग्गज बल्लेबाज ने  लिखा, ‘‘टी20 लीग अब आपस में टकरा रही हैं और स्टार खिलाड़ी आईपीएल क्लबों के विस्तार के साथ लंबी अवधि के अनुबंध पर हस्ताक्षर कर रहे हैं. इन विरोधाभासों का मतलब है कि अब समस्या होगी कि अधिक संख्या में विपणन योग्य क्रिकेटरों को कैसे तैयार किया जाए.' उन्होंने कहा, ‘मौजूदा माहौल में कुछ लीग सीमित संख्या में उपलब्ध स्टार खिलाड़ियों को अनुबंधित करने में सक्षम नहीं होंगी और यह अंततः आर्थिक रूप से व्यावहारिक रहने की उनकी क्षमता को प्रभावित कर सकता है.'

इस पूर्व क्रिकेटर ने कहा, ‘‘ये सभी मामले हैं जिन पर तत्काल ध्यान देने की आवश्यकता है लेकिन सबसे महत्वपूर्ण यह सुनिश्चित करना है कि खेल के भविष्य में खिलाड़ियों की बात सुनी जाए.' टेस्ट क्रिकेट के बारे में बात करते हुए चैपल ने कहा कि पारंपरिक प्रारूप बेहतर होगा यदि यह उन देशों तक सीमित रहे जिनके पास एक मजबूत प्रथम श्रेणी ढांचा है जिसकी अफगानिस्तान और आयरलैंड जैसी टीम के पास कमी है. चैपल ने कहा, ‘‘टेस्ट क्रिकेट एक कठिन खेल है और खिलाड़ी इस प्रारूप में भाग लेने के अवसर के हकदार हैं यदि यह उनकी पसंद है. इसमें शामिल देशों के पास मजबूत प्रथम श्रेणी के बुनियादी ढांचे की आवश्यकता है.'
 

ये भी पढ़े-

Pak vs Eng 1st test: नासिर हुसैन ने बाबर की बैटिंग को लेकर किया यह बड़ा कमेंट, तो प्रशंसकों ने दी कुछ ऐसी प्रतिक्रिया

Ind vs Ban 1st Odi: शेर ए बंगाल स्टेडियम में भारत बनाम बांग्लादेश का पहला मुकाबला, जानिए क्या कहते हैं ये रिकॉर्ड

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com