विज्ञापन
Story ProgressBack

Abhishek Sharma: ‘सिक्सर का युवराज’ अब जल्द ही नजर आ सकते हैं टीम इंडिया में, IPL ने ऐसे बदली किस्मत

Abhishek Sharma Personal Life, Professional Career

Abhishek Sharma: ‘सिक्सर का युवराज’ अब जल्द ही नजर आ सकते हैं टीम इंडिया में, IPL ने ऐसे बदली किस्मत
abhishek sharma profile

Emerging player of ipl 2024

Latest and Breaking News on NDTV

आईपीएल 2024 में कई युवा खिलाड़ियों की किस्मत ने पलटी खाई है. आईपीएल एक ऐसा मंच है जो युवा खिलाड़ियों को अपने टैलेंट दिखाने का भरपूर मौका देता है. इस आईपीएल में भी कई युवा भारतीय खिलाड़ियों ने अपने टैलेंट का नजारा पेश किया, चाहे वो मयंक यादव हो, अभिषेक शर्मा हो या फिर वैभव अरोड़ा, इन सभी खिलाड़ियों ने अपने खेल से दिखाया है कि इनके अंदर भारत के लिए खेलने की क्षमता है. वहीं, इस आईपीएल में अपनी बल्लेबाजी से सबसे ज्यादा सुर्खियां बटोरने वाले अभिषेक शर्मा  रहे. अनकैप्ड खिलाड़ी अभिषेक शर्मा  ने इस पूरे सीजन में कमाल की बल्लेबाजी की. अभिषेक ने 42 छक्का इस सीजन लगाने में सफल रहे, यही कारण रहा कि उन्हें सुपर सिक्सेज ऑफ़ द सीजन के खिताब से नवाजा गया.  आईपीएल के शुरुआत में अभिषेक के बारे में लोग कम जानते थे लेकिन अब इस बल्लेबाज को पूरी दुनिया जान रही है. तो आज जानते हैं अभिषेक शर्मा की जर्नी के बारे में...

Latest and Breaking News on NDTV

अभिषेक शर्मा का जन्म
अभिषेक शर्मा का जन्म पंजाब के अमृतसर में 4 सितंबर 2000 में हुआ था. अभिषेक के पिता का नाम राजकुमार शर्मा है जो पंजबा के लिए घरेलू क्रिकेट खेल चुके हैं. अभिषेक शर्मा के पिता 1985-86 में वो बतौर लेफ्ट आर्म स्पिनर पंजाब से नॉर्थ जोन अंडर-22 के लिए विजय हजारे ट्रॉफी के फाइनल में खेले थे. 

बचपन से ही था क्रिकेट में लगाव
अभिषेक शर्मा  को बचपन से ही क्रिकेट से लगाव था. घर में बल्ला और गेंद देखकर अभिषेक के अंदर क्रिकेट खेलने की इच्छा जगी थी. घर में स्पोर्ट्स का ही माहौल रहा था, जब वो मुझे खेलते हुए देखता था तो वो मुझे बोलता था कि मुझे भी खेलना है. अभिषेक अपनी बहनों के साथ घर में क्रिकेट खेला करते थे. 

पिता ने सबसे पहले पहचाना प्रतिभा
अभिषेक के पिता ने सबसे पहले उनकी प्रतिभा को पहचाना था. अभिषेक के पिता ने NDTV के साथ बात करते हुए कहा कि, मैंने बचपने में अभिषेक को बैटिंग करते हुए देखा, उसके पास बचपन से ही बैटिंग में क्लास था. उससी बल्लेबाजी को देखकर मुझे लगा कि यह आगे भी क्रिकेट खेल सकता है शुरूआत में मैने ही उसे क्रिकेट की ट्रेनिंग दिलाई. मैंने उसकी प्रतिभा को देखा फिर क्रिकेटर बनाने की ओर उसे ट्रेनिंग देना शुरू कर दिया था. "  अभिषेक को बचपन से ही बल्लेबाजी करने का शौक था. 

10 साल की उम्र से शुरू हुई असली ट्रेनिंग
जब अभिषेक 10 साल के थे, तब उनकी ट्रेनिंग नेट पर शुरू हुई थी. पिता ने कहा कि, 10 साल की उम्र से वह नेट पर ट्रेनिंग कर रहे हैं. मैंने उसके लिए पूरा शेड्यूल बनाया, उसकी फिटनेस पर वर्क किया. नेट पर वह और भी अच्छी बल्लेबाजी करता था. 

12 साल की उम्र में ही अंडर 14 टीम में हुआ चयन
जब अभिषेक 12 साल के थे, तभी उनका चयन अंडर 14 टीम में हो गया था. अभिषेक ने जिला लेवल पर भी अपनी बल्लेबाजी से कमाल किया था. जिला मुकाबले में अभिषेक ने 4 शतक लगा दिए थे. जिला लेवल पर जब अभिषेक ने अपने परफॉर्मेंस से पंजाब में अपनी पहचान बनाई, जिसके बाद पंजाब की टीम बनी तो उसका वहां चयन हुआ. 

बिशन सिंह बेदी ने सबसे पहले देखा टैलेंट

जब अंडर-14 टीम के साथ अभिषेक श्रीनगर गए तो वहां भारत के पूर्व क्रिकेटर बिशन सिंह बेदी ने उनकी बल्लेबाजी और गेंदबाजी देखी, उनकी बल्लेबाजी को देखकर बेदी जी काफी खुश हुए थे. बेदी ने अभिषेक की बल्लेबाजी को देखकर पिता राजकुमार शर्मा से फोन पर बात की और उन्हें उनके बेटे के टैलेंट के बारे में बताई. बिशन सिंह बेदी ने सबसे पहले ही भांप लिया था कि अभिषेक आगे जाकर एक बेहतरीन बल्लेबाज बनने वाले हैं. अभिषेक ने इस टूर्नामेंट में कमाल का खेल दिखाया था, इसके बाद उनका चयन पंजाब की अंडर-16 टीम में हुआ. वो टीम के कप्तान भी बने.

16 साल की उम्र में पंजाब की ओर से किया रणजी डेब्यू

16 साल की उम्र में अभिषेक शर्मा पंजाब की ओर से रणजी क्रिकेट खेलना शुरू कर दिया था. भारत के पूर्व क्रिकेटर हरभजन सिंह ने अभिषेक को रणजी डेब्यू कैप सौंपी थी. हिमाचल प्रदेश के खिलाफ अपने पहले ही मैच में अभिषेक शर्मा ने शानदार बल्लेबाजी की थी और पहली पारी में 94 रन बनाए थे.अभिषेक जो ओपनर बल्लेबाज थे, उन्हें रणजी डेब्यू मैच में नंबर 7 पर बल्लेबाजी करने का मौका मिला था. वहां, उन्होंने अपनी बल्लेबाजी से सभी को हैरान कर दिया था. 

अंडर 19 टीम के बने कप्तान लेकिन

घरेलू क्रिकेट में लगातार अच्छा परफॉर्मेंस के बाद उन्हें भारत की अंडर 19 टीम का कप्तान बनाया गया था. अभिषेक की कप्तानी में भारत ने अंडर 19 एशिया कप का खिताब भी जीतने में कामयाबी पाई थी. इस टूर्नामेंट में अभिषेक ने अपनी गेंदबाजी से कमाल किया था और टूर्नामेंट में दूसरे सबसे ज्यादा विकेट लेना वाले गेंदबाज बने थे. लेकिन अंडर 19 वर्ल्ड कप आया तो उनकी जगह कप्तानी पृथ्वी शॉ को दे दी गई थी. अंडर-19 वर्ल्ड कप 2018 में अभिषेक ने भारत के लिए सभी मैच खेले, बांग्लादेश के खिलाफ मैच में उन्होंने अर्धशतक भी जमाया था और गेंदबाजी करते हुए 6 विकटे भी लिए थे. 

BCCI से दो अलग-अलग बार 'राज सिंह डूंगरपुर अवॉर्ड' लेने वाले अभिषेक पहले क्रिकेटर थे
अंडर 19 वर्ल्ड कप में ज्यादा प्रभावी नहीं रहने के बाद भी उन्हें राज सिंह डूंगरपुर अवॉर्ड' से बीसीसीआई ने नवाजा था. BCCI से दो अलग-अलग 'राज सिंह डूंगरपुर अवॉर्ड' लेने वाले अभिषेक पहले क्रिकेटर बने थे.

Latest and Breaking News on NDTV

Photo Credit: YouTube

युवराज सिंह ने भी देखी प्रतिभा, ऐसे की मदद
अभिषेक शर्मा की मुलाकात युवराज सिंह से रणजी ट्रॉफी के दौरान हुई थी. जब युवी पहली बार अभिषेक से मिले तो उनका लगता था कि यह बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज हैं. ऐसे में रणजी मैच के दौरान एक मैच में अभिषेक को टीम में मौका मिला. उस मैच में युवी ने अभिषेक को बल्लेबाजी करते हुए देखा, जिसके बाद युवराज सिंह ने अभिषेक शर्मा की प्रतिभा को पहचाना. युवी अभिषेक की बल्लेबाजी से काफी खुश हुए थे. युवराज इसके बाद अभिषेक को अपने साथ रखकर ट्रेनिंग कराने लगे. युवी जहां भी जातें अभिषेक उनके साथ रहते और उनकी ट्रेनिंग कराते. फिटनेस से लेकर बल्लेबाजी की जो हाई लेवल की ट्रेनिंग होती है, वह युवराज सिंह ने अभिषेक की कराई थी. युवी के कारण अभिषेक को इंटरनेशनल लेवल की ट्रेनिंग मिली जिससे इस युवा खिलाड़ी में काफी सुधार हुआ. 

पहली बार आईपीएल में दिल्ली ने अभिषेक को खरीदा, रिकी पोंटिंग ने देखी बल्लेबाजी
आईपीएल में पहली बार अभिषेक शर्मा को दिल्ली की टीम ने 55 लाख में खरीदकर अपनी टीम में शामिल किया, लेकिन अभिषेक को मौका नहीं मिला. लेकिन रिकी पोंटिंग की नजर एक दिन अभिषेक पर पड़ी और नेट पर उन्होंने अभिषेक की बल्लेबाजी देखी, बल्लेबाजी देखकर पोंटिंग भी काफी खुश हुए. फिर उन्हें आईपीएल में डेब्यू करने का मौका मिला. अभिषेक ने आरसीबी के खिलाफ अपना आईपीएल डेब्यू किया. आरसीबी के खिलीफ अभिषेक ने मैदान के चारों ओर शॉट मारकर अपनी प्रतिभा को दुनिया को दिखाई. 

Latest and Breaking News on NDTV

साल 2022 में चमकी किस्मत, 2024 IPL में हासिल किया नया मुकाम
आईपीएल 2022 में हैदराबाद ने अभिषेक को साढ़े 6 करोड़ रुपए खर्च अपनी टीम में शामिल किया. हैदराबाद में आने के बाद अभिषेक की किस्मत ने अपना काम करना शुरू किया. हालांकि शुरू के सीजन में अभिषेक ज्यादा नाम कमाने में सफल नहीं रहे लेकिन इस सीजन इस युवा बल्लेबाज ने अपनी बल्लेबाजी और गेंदबाजी से अलग मुकाम हासिल कर लिया है. अभिषेक को अब भारतीय क्रिकेट का भविष्य माना जा रहा है. एक ऑलराउंडर के तौर पर अभिषेक के बारे में कहा जा रहा है कि आने वाले समय में वो भारत के लिए खेलेंगे. इस सीजन आईपीएल में अभिषेक ने 16 मैच में 484 रन बनाए हैं. जिसमें 3 अर्धशतक शामिल रहा .इस आईपीएल में अभिषेक ने 36 चौके और 42 छक्का लगाने में सफल रहे. 
 

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
INDW vs PAKW: टीम इंडिया ने पाकिस्तान को सात विकेट से हराकर किया विजयी आगाज, दीप्ति शर्मा बनीं प्लेयर ऑफ द मैच
Abhishek Sharma: ‘सिक्सर का युवराज’ अब जल्द ही नजर आ सकते हैं टीम इंडिया में, IPL ने ऐसे बदली किस्मत
Ben Stokes becomes the third cricketer to complete six thousand runs and two hundred wicket in test history
Next Article
Ben Stokes: बेन स्टोक्स ने रचा इतिहास, टेस्ट क्रिकेट में ऐसा कारनामा करने वाले दुनिया के तीसरे खिलाड़ी बने
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;