Ind vs Eng: विराट कोहली के करियर में पहली बार पैदा हुए ऐसे हालात और...

India vs England: कोहली जोफ्रा आर्चर और डोम बेस के सामने वैसे दिखायी नहीं पड़े, जिस विराट को हम जानते हैं. जोफ्रा आर्चर ने कोहली को खासा परेशान किया, तो बेस के सामने वह कॉन्फिडेंट नहीं दिखे और ऑफ स्टंप के बाहर की गेंदों ने कोहली को खासा परेशान किया और कई गेंदों पर विराट का फुटवर्क भी चिर-परिचित नहीं रहा और वह गेंद की पिच तक नहीं पहुंच पाए. 

Ind vs Eng: विराट कोहली के करियर में पहली बार पैदा हुए ऐसे हालात और...

Ind vs Eng: विराट कोहली का सूखा जल्द खत्म होने की उम्मीद है

नई दिल्ली:

इसमें कोई दो  राय नहीं कि विराट कोहली (Virat Kohli) टेस्ट इतिहास के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में से एक हैं. वर्तमान भारतीय बल्लेबाजों में विराट एक ऐसे बल्लेबाज हैं, जिनका औसत सबसे ज्यादा है और चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) का नंबर उनके बाद आता है, लेकिन फिलहाल विराट कोहली उस मानक की तुलना को देखते हुए खराब फॉर्म से गुजर हैं, जो उन्होंने स्थापित किए हैं. चेन्नई टेस्ट के तीसरे दिन विराट कोहली (Virat Kohli) का वह रूप देखने को मिला, जो उनके चाहने वालों को भी याद नहीं होगा कि उन्हें कब देखा होगा. विराट ने 69 मिनट की बल्लेबाजी में 48 गेंदों पर सिर्फ 11 रन बनाए.  कोहली जोफ्रा आर्चर और डोम बेस के सामने वैसे दिखायी नहीं पड़े, जिस विराट को हम जानते हैं. जोफ्रा आर्चर ने कोहली को खासा परेशान किया, तो बेस के सामने वह कॉन्फिडेंट नहीं दिखे और ऑफ स्टंप के बाहर की गेंदों ने कोहली को खासा परेशान किया और कई गेंदों पर विराट का फुटवर्क भी चिर-परिचित नहीं रहा और वह गेंद की पिच तक नहीं पहुंच पाए.

T10: शाहिद अफरीदी ने घूमकर मारा चौका, फिर गेंदबाज की ओर देखकर करने लगे ऐसा इशारा...देखें Video

 कुल मिलाकर कोहली पिछली सात पारियों में 18.14  के औसत से सिर्फ 127 रन ही बटोर सके और इसमें एक पचासा भी शामिल है.  साल 2020 के बाद से कोहली 'परिचित' कोहली नहीं ही दिखे है. इस अवधि से विराट ने तीनों फॉर्मेटों की 23 मैचों की 25 पारियं में सिर्फ 853 रन बनाए हैं. सात अर्द्धशतकों के साथ इन मैचों में उनका औसत 35.54 का रहा है. वहीं, इन पारियों में विराट तीस से कम के स्कोर पर 14 बार आउट हुए हैं और उनका विफलता रेट 56 प्रतिशत रहा है.  और यह शीर्ष स्तरीय और टॉप ऑर्डर के बल्लेबाज विराट के लिए काफी ज्यादा है. इस खराब फॉर्म के कारण विरट कोहली उन बल्लेबाजों में शामिल हो गए हैं, जिन्होंने जनवरी 2020 के बाद से कम से कम पांच सौ रन बनाए हैं और इन बल्लेबाजों में विराट तीसवें नंबर पर हैं.  जिन बल्लेबाजों ने 1 जनवरी 2020 से कम से कम तीन सौ रन बनाए हैं, उनमें विराट आठवें नंबर पर हैं. 

IND vs ENG 1st Test: जो रूट यह कारनामा करने वाले डॉन ब्रेडमैन के बाद इतिहास के सिर्फ दूसरे खिलाडी बने


वहीं, विराट ने पिछली 31 पारियों में एक भी शतक नहीं बनाया है. यह उनके करियर का सबसे लंबा अंतराल रहा है.  इससे पहले उनकी अवधि 25 पारियों की रही थी, जो साल 2014 में बांग्लादेश में खेले गए एशिया कप से  इसी साल विंडीज दौरे तक रही थी. विराट का आखिरी अंतरराष्ट्रीय शतक बांग्लादेश के खिलाफ साल 2019 नवंबर में बांग्लादेश के खिलाफ खेले गए डे-नाइट टेस्ट में आाया था. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: कुछ दिन पहले विराट ने करियर को लेकर बड़ी बात कही थी. ​