अस्पताल में भर्ती सौरव गांगुली की हुई एंजियोप्लास्टी, अब हालत स्थिर

बीसीसीआई अध्यक्ष और भारतीय पूर्व कप्तान सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) को बेचैनी की शिकायत के बाद अस्पताल में भर्ती किया गया है.

बीसीसीआई (BCCI) के अध्यक्ष और पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) को अपने घर के जिम में ट्रेड मिल करने के दौरान सीने में हल्की 'तकलीफ" के बाद कोलकाता के अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उनकी प्रारंभिक एंजियोप्लास्टी' हुई. एंजियोप्लास्टी' के सफलता पूर्वक होने के बाद उनकी हालत अब खतरे से बाहर है. 
गांगुली को कोलकाता के वुडलैंड्स अस्पताल में भर्ती कराया गया है. डॉक्टर ने यह जानकारी दी. इस 48 साल के पूर्व दिग्गज क्रिकेटर की हालत स्थिर है. वुडलैंड्स अस्पताल के डॉक्टर सरोज मंडल ने बताया कि प्रारंभिक एंजियोप्लास्टी में धमनियों में आए अवरोध का उपचार किया जाता है जिससे ही हृदय की ओर जाने वाले रक्त के प्रवाह में सुधार हो। उनकी तीन धमनियों में अवरोध पाया गया जिसे हटाने के लिये स्टेंट दिया गया.

सौरव गांगुली अस्पताल में भर्ती, कोहली से लेकर Ravi Shastri ने की जल्द स्वस्थ होने की कामना

उन्होंने बताया कि और स्टेंट देने के बारे में बाद में उनकी हालत देखकर फैसला लिया जायेगा. मंडल ने कहा ,‘‘ अगले कुछ दिन उनकी हालत पर कड़ी नजर रखी जायेगी. आगे क्या करना है, यह उनकी हालत देखकर ही तय होगा. उनके बाकी सभी अंग दुरूस्त हैं और उन्हें अगले तीन चार दिन अस्पताल में रहना होगा.  उन्होंने कहा, ‘‘उन्हें एक्यूट मायोकार्डियल इनफारक्शन (एमआई) है लेकिन उनकी हालत स्थिर है। उनके दिल में तीन ब्लॉक पाये गए. उन्हें दोहरी एंटी प्लेटलेट्स और स्टेटिन दिया गया है. मंडल ने कहा ,‘‘ उनकी प्रारंभिक एंजियेप्लास्टी हुई है और अब वह जाग चुके हैं. उनकी हालत स्थिर है.'' मायोकार्डियल इनफारक्शन (एमआई) को सामान्य भाषा में दिल का दौरा कहा जाता है जब दिल के किसी हिस्से में रक्त प्रवाह कम हो जाता है या रुक जाता है. 

इससे दिल की मांसपेशियों को नुकसान पहुंचता है. इससे पहले डाक्टर ने बताया था कि गांगुली ने अपने घर में बने जिम में ट्रेडमिल पर वर्कआउट करते हुए सीने में असहजता महसूस की थी. अस्पताल के डॉक्टरों ने कहा कि गांगुली के परिवार में ‘इसकैमिक हार्ट डिजीज' को इतिहास रहा है. इस बीमारी में सीने में दर्द या असहजता पैदा होती है जो हृदय के किसी हिस्से में पर्याप्त रक्त नहीं मिलने के कारण होता है. ऐसा अधिकतर उत्साह या उत्तेजना के दौरान होता है जब हृदय के रक्त के अधिक प्रवाह की जरूरत होती है. अस्पताल के सूत्रों ने बताया कि उनके उपचार पर नजर रखने के लिए पांच डॉक्टरों की टीम का गठन किया गया है. अस्पताल द्वारा जारी बयान में कहा गया ,‘‘ जब उन्हें दोपहर को अस्पताल लाया गया तो उनके क्लीनिकल पैरामीटर सामान्य सीमा के भीतर थे । ईसीजी और इको भी किया गया.  वह उपचार पर अच्छी प्रतिक्रिया दे रहे हैं. 

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गांगुली के स्वास्थ्य को लेकर चिंता जताते हुए ट्वीट किया ,‘‘ यह सुनकर दुख हुआ कि सौरव गांगुली को दिल का हलका दौरा पड़ा है और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है. उनके शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना करती हूं'

बीसीसीआई (BCCI) की ओर से भी गांगुली को लेकर ट्वीट किया गाय है. गांगुली के जल्द स्वस्थ होने की कामना की गई है. जय शाह ने भी ट्वीट कर गांगुली को गेट वेल सून कहा है. भारतीय क्रिकेट क्रुणाल पंड्या से लेकर मोहम्मद कैफ ने दादा के जल्द स्वस्थ होने को लेकर ट्वीट किया है. 

गांगुली की कप्तानी में भारत 2003 वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंचा था. साल 1983 के बाद यह दूसरा मौका था जब भारतीय टीम वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंची थी. साल 2002 में इंग्लैंड में भारतीय टीम ने नेट वेस्ट सीरीज जीती थी. फाइनल मैच जीतने के बाद गांगुली ने लॉर्ड्स की बालकनी में कमीज उतारकर लहराई थी, जिसे क्रिकेट फैन्स आजतक नहीं भूले हैं.


(इनपुट भाषा से भी)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: कुछ दिन पहले विराट ने करियर को लेकर बड़ी बात कही थी. ​