जातिगत जनगणना पर नीतीश कुमार के 'बड़े कदम' से सकते में है सहयोगी बीजेपी

जाहिर तौर पर जातिगत जनगणना के लिए रोडमैप तैयार करने के नीतीश के बयान से बीजेपी नेता खुद को आहत महसूस कर रहे हैं.

जातिगत जनगणना पर नीतीश कुमार के 'बड़े कदम' से सकते में है सहयोगी बीजेपी

नीतीश कुमार ने जातिगत जनगणना के मुद्दे पर सर्वदलीय बैठक बुलाने का इरादा जताया है

पटना :

जातिगत जनगणना को लेकर बिहार के सीएम नीतीश कुमार (Nitish Kumar)के न्‍यौते ने उनकी सहयोगी पार्टी बीजेपी को सकते में ला दिया है. नीतीश ने सोमवार को बताया कि बैठक संभवत: शुक्रवार को आयोजित की जाएगी. नीतीश के 'डिप्‍टी' (उप मुख्‍यमंत्री), बीजेपी के तारकिशोर प्रसाद ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि सीएम के आमंत्रण को लेकर दिल्‍ली स्थित पार्टी नेतृत्‍व से 'मार्गदर्शन' मांगा गया है. वैसे निजी तौर पर बीजेपी नेताओं का मानना है कि जातिगत जनगणना के मुद्दे पर नीतीश ने एक बार फिर जाल बिछाया है और गठबंधन व पार्टी के भीतर की खामियों को उजागर किया है.  

नीतीश की सरकार में पूर्व में उप मुख्‍यमंत्री रहे वरिष्‍ठ बीजेपी नेता सुशील मोदी ने कहा कि पाटी ने कभी भी जातिगत जनगणना का विरोध नहीं किया और बिहार विधानसभा में इस बारे में पारित प्रस्‍ताव का भी समर्थन किया था. उन्‍होंने इस ओर भी ध्‍यान दिलाया कि पिछले साल पीएम नरेंद्र मोदी से मुलाकात करने वाले नीतीश की अगुवाई वाले प्रतिनिधिमंडल के साथ बीजेपी के राज्‍यमंत्री जनक राम भी थे. हालांकि केंद्रीय बीजेपी ने हमेशा से जातिगत जनगणनाको विभाजनकारी बताते हुए इसका विरोध किया है. शुक्रवार को बीजेपी बैठक को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने जाति या क्षेत्रवाद के नाम पर समाज को "विभाजित करने की कोशिश" करने वाली पार्टियों से सावधान रहने को कहा था.

जाहिर तौर पर जातिगत जनगणना के लिए रोडमैप तैयार करने के नीतीश के बयान से बीजेपी नेता खुद को आहत महसूस कर रहे हैं. एक नेता ने कहा, "इस पर चर्चा और कैबिनेट को भेजने का मतलब है कि यह आकार लेने वाला है. " गौरतलब है कि नीतीश ने इस पेचीदा विषय पर बीजेपी की बेचैनी को भांपते हुए पहले इसे ठंडे बस्‍ते में डाल लिया था. बहरहाल इसे लेकर बिहार में बीजेपी के नेता असमंजस में हैं. राज्‍य के एक नेता ने कहा कि इस कदम की मांग करना और समर्थन करना अलग बात है जैसा कि पार्टी ने यूपीए के दौर में ओडिशा या कर्नाटक में किया था लेकिन जब आप सत्‍ताधारी गठबंधन का हिस्‍सा हैं तो इसे कैसे   खारिज कर सकते हैं खासकर जब केंद्र या यूपी जैसे अन्‍य राज्‍यों में इसी तरह की मांग की है. यूपी में समाजवादी पार्टी इसकी लगातार मांग कर रही है. 

नीतीश कूमार की जनता दल यूनाइटेड (JDU) के नेता भी मानते हैं कि बीजेपी के लिए जातिगत जनगणना पर 'लंबी छलांग' लगाना आसान नहीं है. पार्टी के दृढ़ रुख, जिसे पीएम मोदी भी व्‍यक्‍त कर चुके हैं, के चलते यह मुद्दा गठबंधन को जोखिम में डालने के लिहाज से काफी अहम है. राष्‍ट्रीय जनता दल यानी आरजेडी तो यह भी आरोप लगा चुका है कि पार्टी सुप्रीमो लालू यादव और परिवार के खिलाफ नए भ्रष्‍टाचार के आरोपों पर सीबीआई के ताजा छापे, तेजस्‍वी यादव की ओर से जातिगत जनगणना के मुद्दे को गरम करने पर बीजेपी की नाराजगी से ही जुड़े हैं.

- ये भी पढ़ें -

* "कराची में है दाऊद...", ED की पूछताछ में भांजे ने किया खुलासा, कहा - ईद-दीवाली पर परिवार से होती है बात
* केरल : रैली में नफरतभरे नारे लगाने वाले नाबालिग का वीडियो वायरल, केस दर्ज
* ग्रेटर नोएडा: IAS अफसरों की सांठगांठ से हड़पी थी 135 करोड़ की जमीन, गैंगस्टर यशपाल समेत 9 पर केस "

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


भगवंत मान ने पंजाब के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री को किया बर्खास्‍त, भ्रष्‍टाचार के आरोप पर की गई कार्रवाई