पाकिस्तानी मॉडल ने मांगी माफी, करतारपुर साहिब में जिसके फोटोशूट ने कर दिया बवाल

पाक पुलिस ने करतारपुर में गुरुद्वारा दरबार साहिब में परिधान के एक ब्रांड के लिए बिना सिर ढंके फोटोशूट (Model Photoshoot)  कराए जाने के बाद पाकिस्तानी मॉडल और ब्रांड के खिलाफ सिख समुदाय की धार्मिक भावनाओं को आहत करने के लिए जांच शुरू की है.

पाकिस्तानी मॉडल ने मांगी माफी, करतारपुर साहिब में जिसके फोटोशूट ने कर दिया बवाल

पाकिस्तानी मॉडल ने मांगी माफी, करतारपुर साहिब में जिसके फोटोशूट ने कर दिया बवाल

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में करतारपुर साहिब (Kartarpur Sahib) के बाहर बिना सिर ढंके फोटो शूट कराने का मामला गरमाने के बाद पाकिस्तानी मॉडल को माफी मांगनी पड़ी है. दरअसल, पाक पुलिस ने करतारपुर में गुरुद्वारा दरबार साहिब में परिधान के एक ब्रांड के लिए बिना सिर ढंके फोटोशूट (Model Photoshoot)  कराए जाने के बाद पाकिस्तानी मॉडल और ब्रांड के खिलाफ सिख समुदाय की धार्मिक भावनाओं को आहत करने के लिए जांच शुरू की है. पुलिस ने यह जांच तस्वीरों को लेकर एक भारतीय सिख पत्रकार द्वारा आलोचना किए जाने के बाद शुरू की थी. पाकिस्तानी मॉडल की ओर से सोशल मीडिया पर एक पोस्ट लिखकर इस घटना के लिए माफी मांगी गई और उसने कहा कि उसका इरादा सिख समुदाय की भावनाओं को आहत करने का बिल्कुल भी नहीं था.

स्वतंत्र पत्रकार रविंदर सिंह ने ट्वीट करके उल्लेख किया कि तस्वीरें सोशल मीडिया पर अपलोड की गई हैं. उन्होंने समुदाय के प्रति असम्मान दिखाया. सिंह ने अपनी पोस्ट में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को भी टैग किया.उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘पाकिस्तान में करतारपुर साहिब में गुरुद्वारा श्री दरबार साहिब के परिसर में महिलाओं के परिधान के लिए बिना सिर ढके मॉडलिंग करके लाहौर की एक महिला ने सिखों की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचायी है.''

भारी आक्रोश के बाद तस्वीरों को हटा दिया गया और मॉडल ने इंस्टाग्राम पर माफी मांगते हुए कहा, "मैं सिख संस्कृति, धर्म का बहुत सम्मान करती हूं और मुझे सभी सिख समुदाय से खेद है."

उसे आगे कहा, "हाल ही में, मैंने इंस्टाग्राम पर एक तस्वीर पोस्ट की जो किसी शूट या किसी भी चीज़ का हिस्सा भी नहीं थी. मैं इतिहास जानने और सिख समुदाय के बारे में जानने के लिए करतारपुर गई थी. यह किसी की भावनाओं या कुछ भी आहत करने के लिए नहीं किया गया था. हालांकि, अगर मैंने किसी को चोट पहुंचाई है या उन्हें लगता है कि मैं उनकी संस्कृति का सम्मान नहीं करती हूं. तो मैं माफी चाहती हूं."

सौलेहा, जिनके इंस्टाग्राम पर लगभग 29,000 फॉलोअर्स हैं, उसने कहा, “ये तस्वीरें सिर्फ एक यादों का एक हिस्सा थीं जो मैं वहां गई थी. हालांकि, भविष्य में, मैं हमेशा इन चीजों के बारे में ध्यान रखूंगी और ऐसी गलती करने से बचूंगी. कृपया इसे शेयर करें ताकि लोगों को पता चले कि यह जानबूझकर नहीं किया गया था."

बता दें कि ये विवाद तब शुरू हुआ जब पाकिस्तानी फैशन ब्रांड मन्नत क्लोदिंग ने सौलेहा की तस्वीरें पोस्ट कीं, जो उनके संग्रह से कुर्ता पहने हुए थीं, गुरुद्वारा दरबार साहिब में बिना सिर ढके पोज़ दे रही थीं. पाकिस्तान के पंजाब प्रांत की सरकार ने कहा है कि जांच के आदेश दे दिए गए हैं और इसके लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

पंजाब पुलिस ने भी ट्विटर पर एक पोस्ट में कहा, “पंजाब पुलिस इस घटना से जुड़े सभी पहलुओं की जांच कर रही है और जिम्मेदारों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी. संबंधित ब्रांड और मॉडल के प्रबंधन की जांच की जा रही है. सभी धर्मों के पूजा स्थल समान रूप से सम्मानित हैं."

पाकिस्तान के सूचना और प्रसारण मंत्री फवाद चौधरी ने कहा, “डिजाइनर और मॉडल को सिख समुदाय से माफी मांगनी चाहिए. करतारपुर साहिब एक धार्मिक प्रतीक है और फिल्म का सेट नहीं है.”


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इस बीच, मन्नत क्लॉथिंग ने माफी जारी करते हुए कहा, “हमारे अकाउंट पर पोस्ट की गई तस्वीरें मन्नत क्लोदिंग द्वारा किए गए किसी भी शूट का हिस्सा नहीं हैं. ये तस्वीरें हमें एक थर्ड-पार्टी [ब्लॉगर] द्वारा प्रदान की गई थीं जिसमें उन्होंने हमारी पोशाक पहनी हुई थी. कृपया ध्यान दें कि तस्वीरें कैसे और कहाँ ली गईं, यह तय करने में मन्नत की कोई भूमिका नहीं है. हालाँकि, हम अपनी गलती स्वीकार करते हैं कि हमें यह सामग्री पोस्ट नहीं करनी चाहिए थी और हम हर उस व्यक्ति से क्षमा चाहते हैं जो इससे आहत हुआ. सभी पवित्र स्थान हमारे लिए बहुत पवित्र हैं. हमारे सभी मीडिया चैनलों से तस्वीरें और पोस्ट हटा दी गई हैं. जनता की भावना को ठेस पहुंचाने के लिए एक बार फिर हम तहे दिल से माफी मांगते हैं."