कोविड-19 अभी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर चिंता का विषय बना हुआ है : WHO

ट्रेडोस ने कहा था कि अक्‍टूबर में साप्‍ताहिक मृत्‍य दर घटकर 10 हजार के नीचे आ गई थी लेकिन दिसंबर माह की शुरुआत में यह फिर बढ़ने लगी.

कोविड-19 अभी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर चिंता का विषय बना हुआ है : WHO

विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन ने कहा है, कोविड महामारी अभी भी इंटरनेशनल इमरजेंसी बनी हुई है

जेनेवा :

कोविड-19 को लेकर उच्‍चतम स्‍तर की वैश्विक चेतावनी जारी करने के तीन साल बाद विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन (WHO) ने सोमवार को कहा कि महामारी अभी भी इंटरनेशनल इमरजेंसी बनी हुई है. कोविड-19 पर संयुक्‍त राष्‍ट्र (UN) की हेल्‍थ एजेंसी की इमरजेंसी कमेटी की पिछले शुक्रवार को  महामारी शुरू होने के बाद से 14वीं बार बैठक हुई. बैठक के बाद  WHO की ओर से एक बयान में कहा गया, संगठन के प्रमुख टेड्रोस एधानोम गेब्रेयेसुस (Adhanom Adhanom Ghebreyesus) कमेटी की ओर से चल रही कोविड-19 महामारी को लेकर सलाह से सहमत हैं. कोविड अभी भी अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर पर चिंता का विषय बना हुआ है. 

बयान में कहा गया है कि ट्रेडोस, कमेटी के इस नजरिये को स्‍वीकार करते हैं कि कोविड-19 संभवत:  अपने संक्रमण बिंदु (transition point) पर है और वे इसे नेविगेट करने और इसके नकारात्‍मक परिणामों को कम करने के लिए कमेटी की सलाह की सराहना करते हैं. कमेटी की बैठक के पहले डब्‍ल्‍यूएचओ प्रमुख ने कोरोना के कारण हो रही मौतों का जिक्र करते हुए कहा था कि महामारी का इमरजेंसी फेस अभी खत्‍म नहीं हुआ है. उन्‍होंने बैठक की शुरुआत में कमेटी को बताया था, "हम महामारी के चौथे वर्ष में प्रवेश कर चुके हैं. हम निश्चित रूप से अब एक साल पहले की तुलना में बहुत बेहतर स्थिति में हैं, जब ओमिक्रॉन लहर अपने चरम पर थी, और हर हफ्ते 70,000 से अधिक मौतें डब्ल्यूएचओ को रिपोर्ट की जा रही थीं." 

ट्रेडोस ने कहा कि अक्‍टूबर में साप्‍ताहिक मृत्‍य दर घटकर 10 हजार के नीचे आ गई थी लेकिन दिसंबर माह की शुरुआत में यह फिर बढ़ने लगी. चीन में कोविड को लेकर प्रतिबंध शिथिल किए जाने के बाद मौतों की संख्‍या में यह इजाफा हुआ था. उन्‍होंने कहा कि जनवरी माह के मध्‍य में कोविड के कारण सप्‍ताह में करीब 40  हजार मौतों की सूचना मिली थी इसमें से आधे से अधिक मौतें चीन में थी. मौतों का आंकड़ा निश्चित रूप से इससे कहीं अधिक है.  

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

ये भी पढ़ें-