मारियुपोल में रूस ने की "हजारों" लोगों की हत्या, अब छिपाना चाहता है सबूत: यूक्रेन के राष्ट्रपति का आरोप

यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर ज़ेलेंस्की ने कहा कि रूस मरियुपोल शहर में मानवीय पहुंच को रोक रहा है. क्योंकि वे "हजारों" लोगों के मारे जाने के सबूत छिपाना चाहता है.

मारियुपोल में रूस ने की

"रूस ये सब छिपाने में सक्षम नहीं होगा": यूक्रेन राष्ट्रपति वलोडिमिर ज़ेलेंस्की

कीव:

यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर ज़ेलेंस्की ने बुधवार को रूस पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि बंदरगाह शहर मरियुपोल में रूसी सेना ने हजारों लोगों को मारा है और अब रूस इसे छुपाने की कोशिश कर रहा है. यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर ज़ेलेंस्की ने कहा कि रूस मरियुपोल शहर में मानवीय पहुंच को रोक रहा है. क्योंकि वे "हजारों" लोगों के मारे जाने के सबूत छिपाना चाहता है. ज़ेलेंस्की ने तुर्की के हैबर्टर्क टीवी को बताया, "हम मानवीय कार्गो के साथ मारियुपोल में क्यों नहीं जा सकते. इसका कारण ये है कि वे डरते हैं ... कि दुनिया देखेगी कि वहां क्या हो रहा है."

ज़ेलेंस्की ने कहा, "मुझे लगता है कि वहां एक त्रासदी है, नरक है, मुझे पता है कि 10-20 नहीं, बल्कि हजारों लोग वहां मारे गए हैं और हजारों घायल हुए हैं." हालांकि, उन्होंने भरोसा जताया कि रूस सारे सबूत छिपाने में कामयाब नहीं होगा. जेलेंस्की ने कहा कि "वे ये सब छिपाने में सक्षम नहीं होंगे. सभी यूक्रेनियनों को दफनाने में वो सक्षम नहीं होंगे जो मर गए. जो घायल हुए हैं. ये इतनी संख्या है कि इसे छिपाना असंभव है."

ज़ेलेंस्की ने कहा कि रूस ने पहले ही कीव के बाहर बुचा शहर और आसपास के कई समुदायों में अपराधों के सबूत छिपाने का प्रयास किया था. उन्होंने परिवारों को जला दिया था. इसलिए मैंने कहा 'वे नाज़ी हैं. रूस के साथ शांति वार्ता जारी रखने के बारे में पूछे जाने पर ज़ेलेंस्की ने कहा,  "मुझे लगता है कि इसके बिना इस युद्ध को रोकना मुश्किल है."

गौरतलब है कि रूस ने 24 फरवरी को यूक्रेन पर हमला कर दिया था, जो कि अभी भी जारी है. यूक्रेन का दावा है कि रूसी सेना के इस हमले में उनके देश के कई नागरिक मारे गए हैं.

VIDEO:कोविड-19 : ओमिक्रॉन के दो नए वैरिएंट ने दी भारत में दस्तक, मुंबई में मिला XE और कप्पा का पहला केस


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com