अफगानिस्तान के पूर्व उपराष्ट्रपति की आलीशान काबुल हवेली अब तालिबान के हाथों में

अयूबी ने एएफपी को बताया, “इस्लाम कभी नहीं चाहता कि हमारे पास एक शानदार जीवन हो.” इसके साथ ही उसने कहा कि विलासिता स्वर्ग में मिलती है, जो कि मृत्यु के बाद का जीवन है.

अफगानिस्तान के पूर्व उपराष्ट्रपति की आलीशान काबुल हवेली अब तालिबान के हाथों में

अफगानिस्तान: पूर्व उप-राष्ट्रपति दोस्तम की आलीशान काबुल हवेली पर तालिबान का कब्जा.

काबुल:

तालिबान लड़ाकों ने अपने सबसे कट्टर दुश्मनों में से एक और भगोड़े पूर्व उपराष्ट्रपति अब्दुल राशिद दोस्तम की काबुल स्थित आलीशान हवेली पर कब्जा कर लिया है. इस हवेली की कुछ तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं. तस्वीरों में हवेली के एक अंतहीन गलियारे में तालिबान लड़ाके आराम फरमाते नजर आ रहे हैं, इस गलियारे में दूर-दूर तक हरे रंग की कालीन बिछी हुई है.

pv9khrn8

काबुल पर कब्जा करने के बाद नए शासन के सबसे शक्तिशाली कमांडरों में से एक कारी सलाहुद्दीन अयूबी ने इस हवेली पर कब्जा कर लिया था. उसने अपनी सुरक्षा में 15 अगस्त को हवेली में 150 लोगों की कंपनी स्थापित की है. यह अधिकांश सामान्य अफगानों के लिए अकल्पनीय है.

d1saa828

गुफानुमा हॉल में विशाल कांच के झूमर लटके हुए हैं, लाउंज में आरामदायक सोफे देखते ही बन रहे हैं. यहां फिरोजा टाइल्स से बना  इनडोर स्विमिंग पूल भी है. इसमें एक सौना, एक तुर्की स्टीम बाथ और एक शानदार जिम भी है. कठिनाइयों में बिना आराम किए सालों से विद्रोह की लड़ाई लड़ रहे तालिबान लड़ाकों के लिए यह अकल्पनीय अनुभव है.

lgdli2d

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


वहीं, इस हवेली के नए मुखिया और चार प्रांतों के सैन्य कमांडर ने यह स्पष्ट किया है कि उसके आदमियों को विलासिता की आदत नहीं होगी. अयूबी ने एएफपी से कहा, "इस्लाम कभी नहीं चाहता कि हमारे पास एक आरामदायक जीवन हो. आराम स्वर्ग में ही मिलेगा."