Sri Lanka के पूर्व राष्ट्रपति राजपक्षे 'फिर बने बंजारा', Singapore के बाद अब ये देश दे रहा सहारा...

थाइलैंड (Thailand) के प्रधानमंत्री (PM) ने मानवीय आधार पर 73 वर्षीय राजपक्षे (Rajapaksa) को थाइलैंड यात्रा की अनुमति दी और कहा कि उन्होंने किसी अन्य देश में स्थायी शरण की अपनी तलाश के दौरान इस देश में राजनीतिक गतिविधियां नहीं चलाने का वादा किया है.

Sri Lanka के पूर्व राष्ट्रपति राजपक्षे 'फिर बने बंजारा', Singapore के बाद अब ये देश दे रहा सहारा...

Sri Lanka में जनविद्रोह के कारण Gotabaya Rajapaksa को राष्ट्रपति पद से इस्तीफा देना पड़ा था (File Photo)

सिंगापुर:

श्रीलंका (Sri Lanka) के पूर्व राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे (Gotabaya Rajapaksa) बृहस्पतिवार को अपना अल्पकालिक यात्रा पास समाप्त होने के बाद सिंगापुर (Singapore) से थाईलैंड (Thailand) के लिए रवाना हो गए. एक खबर में यह जानकारी दी गई है. राजपक्षे सिंगापुर से बैंकॉक के लिए एक उड़ान में सवार हुए। थाईलैंड सरकार ने एक दिन पहले पुष्टि की थी कि राजपक्षे के देश की यात्रा करने के लिए श्रीलंका की मौजूदा सरकार से अनुरोध प्राप्त हुआ था.

‘द स्ट्रेट्स टाइम्स' अखबार की खबर के मुताबिक, मीडिया के सवालों के जवाब में सिंगापुर के आव्रजन एवं सीमा चौकी जांच प्राधिकरण ने कहा कि राजपक्षे बृहस्पतिवार को सिंगापुर से रवाना हो गये.

थाइलैंड के प्रधानमंत्री प्रयुत चान-ओ-चा ने बुधवार को पुष्टि की थी कि थाइलैंड सरकार ने राजपक्षे के देश में अस्थायी रूप से रहने पर सहमति जता दी है और इस दौरान राजपक्षे किसी तीसरे देश में स्थायी शरण मिलने की संभावनाएं तलाशेंगे.

थाइलैंड के प्रधानमंत्री ने मानवीय आधार पर 73 वर्षीय राजपक्षे को थाइलैंड यात्रा की अनुमति दी और कहा कि उन्होंने किसी अन्य देश में स्थायी शरण की अपनी तलाश के दौरान इस देश में राजनीतिक गतिविधियां नहीं चलाने का वादा किया है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


जुलाई में श्रीलंका में सरकार विरोधी प्रदर्शनों के बीच देश छोड़ने के बाद सिंगापुर में रहे राजपक्षे थाइलैंड में शरण चाह रहे हैं क्योंकि उनका सिंगापुर का वीजा बृहस्पतिवार को समाप्त हो गया है. वह 13 जुलाई को मालदीव पहुंचे थे और उसके बाद सिंगापुर गये जहां उन्होंने देश के आर्थिक संकट को लेकर प्रदर्शनों के बीच अपने इस्तीफे की घोषणा की थी.