शहबाज शरीफ PM, जरदारी राष्ट्रपति; इस फॉर्मूले के तहत पाकिस्तान में बन सकती है सरकार: सूत्र

नवाज शरीफ ने शनिवार को पाकिस्तान को मौजूदा कठिनाइयों से बाहर निकालने के लिए गठबंधन सरकार बनाने का आह्वान किया था. माना जाता है कि शरीफ को देश की शक्तिशाली सेना का समर्थन प्राप्त है.

शहबाज शरीफ PM, जरदारी राष्ट्रपति; इस फॉर्मूले के तहत पाकिस्तान में बन सकती है सरकार: सूत्र

पाकिस्तान में आम चुनाव के नतीजे हुए घोषित

खास बातें

  • इमरान समर्थित निर्दलीय उम्मीदवारों ने 101 सीट पर जीत दर्ज की
  • नवाज शरीफ की पार्टी ने 75 सीट जीती हैं
  • बिलावल जरदारी भुट्टो की पार्टी को 54 सीट मिलीं हैं.
इस्लामाबाद:

पाकिस्तान आम चुनाव के नतीजे सामने आ गए हैं और कोई भी पार्टी बहुमत का आंकड़ा पार नहीं कर पाई है. पाकिस्तान में आम चुनाव के लिए बृहस्पतिवार को मतदान हुआ था. पाकिस्तान के निर्वाचन आयोग ने रविवार को आम चुनाव के अंतिम परिणाम घोषित किए, जिसमें जेल में बंद पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान की पार्टी द्वारा समर्थित निर्दलीय उम्मीदवारों ने 101 सीट पर जीत दर्ज की है.वहीं, तीन बार के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) 75 सीट जीतकर तकनीकी रूप से संसद में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है. बिलावल जरदारी भुट्टो की पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) को 54 सीट मिलीं, जबकि विभाजन के दौरान भारत से आए उर्दू भाषी लोगों की मुत्ताहिदा कौमी मूवमेंट पाकिस्तान (एमक्यूएम-पी) को 17 सीट मिली हैं. बाकी 12 सीट पर अन्य छोटे दलों ने जीत हासिल की.

शहबाज शरीफ फिर बनेंगे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री: सूत्र

पाकिस्तान में सरकार बनाने की कोशिशें अब तेज हो गई हैं. पीएमएल-एन प्रमुख शरीफ ने अपने छोटे भाई एवं पूर्व प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ को दलों से बातचीत करने का जिम्मा सौंपा है, जिन्होंने पीपीपी के वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात की है. शहबाज शरीफ ने बिलावल भुट्टो से मुलाकात की है. इसके अलावा आसिफ़ अली ज़रदारी से भी शरीफ़ मिले हैं. सूत्रों के अनुसार शहबाज शरीफ फिर से पाकिस्तान के प्रधानमंत्री बन सकते हैं. जबकि ज़रदारी को राष्ट्रपति की कुर्सी मिल सकती है. दोनों पार्टियों के बीच इस फ़ॉर्मूले को लेकर बातचीत चल रही है.

बता दें पाकिस्तान की नेशनल असेंबली में 266 सीट पर प्रत्यक्ष मतदान से प्रतिनिधियों का चुनाव होता है. इनमें से 265 सीट पर चुनाव कराया गया था. पाकिस्तान निर्वाचन आयोग (ईसीपी) ने इनमें से 264 सीट के नतीजे घोषित कर दिए हैं. चुनाव नतीजों की घोषणा में असामान्य देरी के कारण कई दलों ने देश भर में हंगामा और विरोध-प्रदर्शन किया था.

पंजाब प्रांत के खुशाब में एनए-88 सीट का परिणाम ईसीपी ने धोखाधड़ी की शिकायतों के कारण रोक दिया था और पीड़ितों की शिकायतों के निवारण के बाद इसकी घोषणा की जाएगी. एक उम्मीदवार की मृत्यु के बाद एक सीट पर चुनाव स्थगित कर दिया गया था.

सरकार बनाने के लिए किसी पार्टी को प्रत्यक्ष मतदान से निर्वाचित 133 सदस्यों के समर्थन की जरूरत होगी. कुल मिलाकर, साधारण बहुमत हासिल करने के लिए 336 में से 169 सीट की आवश्यकता है, जिसमें महिलाओं और अल्पसंख्यकों के लिए सुरक्षित सीट भी शामिल हैं.

नवाज शरीफ ने शनिवार को पाकिस्तान को मौजूदा कठिनाइयों से बाहर निकालने के लिए गठबंधन सरकार बनाने का आह्वान किया था. माना जाता है कि शरीफ को देश की शक्तिशाली सेना का समर्थन प्राप्त है.

शहबाज ने एमक्यूएम-पी के साथ की बैठक

एमक्यूएम-पी का एक प्रतिनिधिमंडल लाहौर में है और उसने शहबाज के साथ बैठक की. एमक्यूएम प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व डॉ. खालिद मकबूल सिद्दीकी कर रहे हैं. बैठक में शहबाज शरीफ, मरियम नवाज और पार्टी के अन्य नेता भी भाग ले रहे हैं. शरीफ की पार्टी की ओर से जारी बयान में कहा गया कि एक घंटे की लंबी बैठक के बाद, वे आगामी सरकार में साथ काम करने के लिए एक 'सैद्धांतिक समझौते' पर पहुंचे हैं.

दोनों दलों के बीस मूल बिंदुओं पर सहमति का उल्लेख करते हुए बयान में कहा गया, ‘‘हम देश और जनता के हित में मिलकर काम करेंगे.'' इससे पहले, एमक्यूएम-पी नेता हैदर रिजवी ने एक साक्षात्कार में ‘जियो न्यूज' को बताया है कि उनकी पार्टी पीएमएल-एन के साथ अधिक सहज होगी क्योंकि पीपीपी या अन्य पार्टियों के विपरीत ‘‘दोनों पार्टियों ने कराची में प्रतिस्पर्धा नहीं की है.'' (भाषा इनपुट के साथ)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

ये भी पढ़ें- कतर से रिहा हुए भारतीयों ने लौटने पर लगाए ''भारत माता की जय'' के नारे, पीएम मोदी की सराहना की