‘रेप’ पर दिए बयान से पलटे इमरान खान, बोले- ऐसी बेवकूफी वाली बात..

रेप पर दिए विवादित बयान पर पूरी दुनिया में हुई किरकिरी के बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने अब सफाई दी है. उन्होंने एक साक्षात्कार में कहा है कि उनके बयान का गलत अर्थ निकाला गया है.

‘रेप’ पर दिए बयान से पलटे इमरान खान, बोले- ऐसी बेवकूफी वाली बात..

रेप पर दिए बयान से पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने किया किनारा. (फाइल फोटो)

इस्लामाबाद:

रेप पर दिए अपने पुराने बयान से पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने अब किनारा कर लिया है. रेप पर दी टिप्पणी से पलटते हुए अब इमरान खान ने कहा है कि वे ऐसी मूर्खतापूर्ण बात कभी नहीं कह सकते. जहां एक पीड़ित को उसके ही खिलाफ हुई अपराध के लिए जिम्मेदार ठहराया जाता है.

पीबीएस न्यूज आवर के साथ एक साक्षात्कार में पाकिस्तान के पीएम ने कहा, "जो कोई भी बलात्कार करता है, केवल और केवल वह व्यक्ति ही जिम्मेदार होता है. महिला का पहनावा चाहे जैसा भी हो.. बलात्का करने वाला व्यक्ति पूरी तरह से अपराध के लिए जिम्मेदार होता है. पीड़ित कभी भी जिम्मेदार नहीं होता है."

पिछले महीने, यौन हिंसा पर दिए गए बयान के लिए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री को काफी विरोध झेलना पड़ा था. उन्होंने पर्दा प्रथा को बढ़ावा देने वाला बयान दिया था.

अब यूएस-आधारित मीडिया हाउस पीबीएस के साथ एक साक्षात्कार में इमरान खान ने कहा कि उनके बयान का गलत अर्थ निकाला गया है. उन्होंने कहा, "वे बस पाकिस्तानी समाज के बारे में बात कर रहे थे, जहां यौन अपराधों में वृद्धि देखने को मिली है."

इमरान खान ने कहा, "और मुझे कहना पड़ रहा है क्योंकि मैं अपने द्वारा दिए गए सभी साक्षात्कारों से वाकिफ हूं. मैं ऐसी बेवकूफी वाली बात कभी नहीं कहूंगा, जहां बलात्कार करने वाला व्यक्ति किसी न किसी तरह जिम्मेदार हो. हमेशा बलात्कारी ही जिम्मेदार होता है."

इमरान से जब पूछा गया कि क्या देश में इस्लाम का महत्व महिलाओं बाधा खड़ी कर रहा है, तब पाक पीएम ने कहा, "बिल्कुल नहीं. इस्लाम महिलाओं को सम्मान और सम्मान ही देता है."


पाकिस्तान में यौन हिंसा की बढ़ती घटनाओं पर हाल ही में हुए हंगामे के बीच उनकी यह टिप्पणी आई है. पाकिस्तान में आधिकारिक आंकड़ों से पता चला है कि देश में हर दिन कम से कम 11 बलात्कार की घटनाएं सामने आती हैं, पिछले छह वर्षों में 22,000 से अधिक रेप के मामले दर्ज किए गए हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम द्वारा ग्लोबल जेंडर गैप रिपोर्ट 2021 के अनुसार पाकिस्तान लैंगिक समानता के लिए दुनिया भर में चार सबसे खराब देशों में शुमार है.