वैक्सीन की दोनों डोज़ ले चुके लोगों को 'ओमिक्रॉन' के चकमा देने की अत्यधिक संभावना नहीं : WHO

56 वर्षीय महामारी विशेषज्ञ और पूर्व ट्रॉमा सर्जन ने कहा, "हमारे पास अत्यधिक प्रभावी टीके हैं जो गंभीर बीमारी और अस्पताल में भर्ती होने के मामले में अब तक सभी प्रकारों के खिलाफ प्रभावी साबित हुए हैं."

वैक्सीन की दोनों डोज़ ले चुके लोगों को 'ओमिक्रॉन' के चकमा देने की अत्यधिक संभावना नहीं : WHO

इसके संकेत नहीं मिले हैं कि ओमिक्रॉन पिछले कोविड वैरिएंट की तुलना में अधिक गंभीर बीमारी का कारण नहीं बन सकता है. (फाइल फोटो)

जेनेवा (स्विटजरलैंड):

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कहा है कि कोरोनावायरस (Coronavirus) का नया वैरिएंट ओमिक्रॉन (Omicron) पिछले कोविड वैरिएंट की तुलना में अधिक गंभीर बीमारी का कारण नहीं बन सकता है, और वैक्सीन सुरक्षा को पूरी तरह से इसके चकमा देने की "अत्यधिक संभावना" भी  नहीं है. WHO के एक शीर्ष अधिकारी ने मंगलवार को समाचार एजेंसी AFP को ये जानकारी दी है.

AFP से बात करते हुए, विश्व स्वास्थ्य संगठन के दूसरे-इन-कमांड ने कहा कि कोविड -19 के नए, भारी रूप से म्यूटेंट वैरिएंट के बारे में बहुत कुछ जानना अभी बाकी है, लेकिन प्रारंभिक आंकड़ों से संकेत मिलता है कि यह डेल्टा और अन्य वैरिएंट की तुलना में लोगों को ज्यादा बीमार नहीं बनाती है.

WHO के आपात स्थिति निदेशक माइकल रयान ने एक साक्षात्कार में कहा, "प्रारंभिक आंकड़े यह संकेत नहीं देते हैं कि यह अधिक गंभीर है. वास्तविकता में जो संकेत मिल रहे हैं वह कम गंभीरता की ओर इशारा कर रहे हैं." हालांकि, उन्होंने कहा, "अभी बहुत शुरुआती दिन हैं, हमें बहुत सावधान रहना होगा कि हम उस संकेत की व्याख्या कैसे करते हैं."

क्‍या वैक्‍सीन का नहीं रहेगा असर? ओमिक्रॉन शरीर में तैयार इम्‍यूनिटी से बच सकता है, शोध में आया सामने

साथ ही, उन्होंने कहा कि अब तक ऐसे कोई संकेत नहीं मिले हैं कि ओमिक्रॉन मौजूदा कोविड टीकों द्वारा प्रदान की गई सुरक्षा को पूरी तरह से दरकिनार या ध्वस्त कर सकता है.

56 वर्षीय महामारी विशेषज्ञ और पूर्व ट्रॉमा सर्जन ने कहा, "हमारे पास अत्यधिक प्रभावी टीके हैं जो गंभीर बीमारी और अस्पताल में भर्ती होने के मामले में अब तक सभी प्रकारों के खिलाफ प्रभावी साबित हुए हैं."

महाराष्ट्र में ओमिक्रॉन से संक्रमित मरीज की हालत स्थिर, इलाज का हो रहा असर


दक्षिण अफ्रीका के शुरुआती आंकड़ों की ओर इशारा करते हुए उन्होंने कहा, ओमिक्रॉन टीकों पर प्रभावकारी नहीं हो सकता, ऐसी उम्मीद करने का कोई कारण नहीं दिखता है."
 

वीडियो: स्कूलों में कोविड क्लस्टर मिलने से बच्चों के पेरेंट्स परेशान

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com