डेल्टा कोविड वैरिएंट अमेरिका में मचा सकता है तबाही, CDC की भविष्यवाणी

विश्व स्वास्थ्य संगठन के यूरोप के क्षेत्रीय निदेशक डॉ हंस हेनरी क्लुगे ने गुरुवार को कहा कि डब्ल्यूएचओ यूरोपीय क्षेत्र के 53 देशों में कोविड ​​​​-19 मामलों की संख्या में 10 सप्ताह की गिरावट अब समाप्त हो गई है.

डेल्टा कोविड वैरिएंट अमेरिका में मचा सकता है तबाही, CDC की भविष्यवाणी

डेल्टा वैरिएंट अमेरिका में दूसरा सबसे अधिक प्रचलित कोरोनावायरस म्यूटेशन है.

वाशिंगटन:

अमेरिका (US) के सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) के निदेशक रोशेल वालेंस्की ने गुरुवार को कहा कि डेल्टा वैरिएंट (Delta Variant) अमेरिका में दूसरा सबसे अधिक प्रचलित कोरोनावायरस (Coronavirus) म्यूटेशन है. उन्होंने आने वाले हफ्तों में इसके और गंभीर होने की भविष्यवाणी की है.

वालेंस्की ने कहा, जैसा कि स्पुतनिक द्वारा उद्धृत किया गया है, "देश भर में सभी रिपोर्ट किए गए SARS-COV-2 अनुक्रमों में से अनुमानित 25 प्रतिशत डेल्टा वेरिएंट हैं, और देश के कुछ क्षेत्रों में, दो मामलों में से एक डेल्टा वैरिएंट के है." 

एक प्रेस ब्रीफिंग में बोलते हुए वालेंस्की ने कम टीकाकरण दरों और डेल्टा संस्करण के प्रसार के बीच मौजूद सहसंबंध को भी रेखांकित किया. रिपोर्टों के अनुसार, डेल्टा स्ट्रेन को सबसे तेजी से फैलने वाला और सबसे संक्रामक कोरोनावायरस संस्करण माना जाता है.

डेल्टा प्लस कोरोना वायरस के अन्य वैरिएंट के मुकाबले फेफड़ों में ज्यादा सक्रिय पाया गया

विश्व स्वास्थ्य संगठन के यूरोप के क्षेत्रीय निदेशक डॉ हंस हेनरी क्लुगे ने गुरुवार को कहा कि डब्ल्यूएचओ यूरोपीय क्षेत्र के 53 देशों में कोविड ​​​​-19 मामलों की संख्या में 10 सप्ताह की गिरावट अब समाप्त हो गई है.


उन्होंने कहा, "यह तेजी से विकसित हो रही स्थिति के कारण हो रहा है; चिंता का एक नया रूप - डेल्टा वैरिएंट है; और एक ऐसे क्षेत्र में जहां सदस्य राज्यों के जबरदस्त प्रयासों के बावजूद, लाखों लोग बिना वैक्सीन के हैं." 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


संयुक्त राष्ट्र के मुताबिक अब अफ्रीका में हर तीन सप्ताह में मामले दोगुने हो रहे हैं. COVID-19 का डेल्टा वैरिएंट 16 देशों में फैल चुका है और यह पांच में से तीन देशों में मौजूद है, जो उच्चतम मामलों को दर्शाता है. यह वैरिएंट अभी तक सबसे अधिक संक्रामक है - अन्य प्रकारों की तुलना में यह 60 फीसदी ज्यादा संक्रामक है.