यह ख़बर 23 अक्टूबर, 2014 को प्रकाशित हुई थी

आंतकी हमले के बाद पीएम हार्पर ने कहा, कनाडा कभी नहीं डरेगा

ओटावा:

कनाडा की संसद में हुई गोलीबारी के बाद देश के प्रधानमंत्री ने 'आतंकवादी संगठनों' के खिलाफ लड़ाई को और अधिक प्रबलता के साथ आगे बढ़ाने की प्रतिबद्धता जतायी और कहा कि 'कनाडा कभी भी नहीं डरेगा।'

प्रधानमंत्री स्टीफन हार्पर ने टेलीविजन पर राष्ट्र को संबोधित करते हुए कहा, 'कनाडा कभी भी नहीं डरेगा।' उन्होंने कहा,
'वास्तविकता यह है कि इससे हमारी प्रतिबद्धता और मजबूत होगी तथा संभावित खतरों की पहचान करने और उनसे निपटने के हमारे प्रयास दोगुने हो जाएंगे एवं कनाडा को सुरक्षित रखने के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसियां सभी जरूरी कदम उठाएंगी।'

उन्होंने इसके साथ ही कहा, 'इसी प्रकार उन आतंकवादी संगठनों के खिलाफ हमारी लड़ाई तथा प्रयास दोगुने एवं अधिक दृढ़ होंगे जो अन्य देशों में भी अपनी नृशंसता इन इरादों के साथ फैला रहे हैं कि वे हम तक पहुंचने में भी कामयाब होंगे।' हार्पर ने कहा, 'उन्हें छुपने के लिए कोई सुरक्षित ठिकाना नहीं मिलेगा।'

गौरतलब है कि कनाडा की संसद के भीतर और बाहर कल दोनों जगहों पर गोलीबारी हुई है। इस घटना में एक सैनिक और हमला करने वाला बंदूकधारी मारा गया।

राजधानी ओटावा स्थित 'पार्लियामेंट हिल' पर उस वक्त हमला हुआ जब रायफल लिए एक व्यक्ति ने राष्ट्रीय युद्ध स्मारक के निकट खड़े एक सैनिक को गोली मार दी। इसके बाद उसने एक कार को अपने कब्जे में लिया और उसे चलाते हुए इमारत के सेंट्रल ब्लॉक के प्रवेशद्वार में घुसने लगा।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


हमलावर की पहचान कनाडाई मीडिया ने 32 वर्षीय माइकल जिहाफ बिब्यू के रूप में की है जिसे 'बहुत अधिक खतरे वाला' संदिग्ध माना जाता था और उसे विदेशों में जाकर लड़ने से रोकने के लिए उसका पासपोर्ट जब्त किया जा चुका था।