भारत के लिए अजनबी नहीं है ऑस्ट्रेलिया के अगले प्रधानमंत्री एंथनी अल्बानीस

भारत में ऑस्ट्रेलिया के उच्चायुक्त बैरी ओ फारेल ने शनिवार को कहा कि ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री बनने जा रहे एंथनी अल्बानीस भारत से भली-भांति परिचित हैं. ऑस्ट्रेलिया के चुनाव में लेबर पार्टी ने 2007 के बाद पहली चुनावी जीत हासिल की है. विपक्षी नेता एंथनी अल्बानीस को प्रधानमंत्री के रूप में शपथ दिलाई जाएगी.

भारत के लिए अजनबी नहीं है ऑस्ट्रेलिया के अगले प्रधानमंत्री एंथनी अल्बानीस

एंथोनी अल्बनीज प्रधान मंत्री के रूप में शपथ लेंगे

नई दिल्ली:

ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन के चुनाव में हार स्वीकार करने के बाद भारत में ऑस्ट्रेलिया के उच्चायुक्त बैरी ओ फारेल ने शनिवार को कहा कि ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री बनने जा रहे एंथनी अल्बानीस भारत से भली-भांति परिचित हैं. ऑस्ट्रेलिया के चुनाव में लेबर पार्टी ने 2007 के बाद पहली चुनावी जीत हासिल की है. विपक्षी नेता एंथनी अल्बानीस को प्रधानमंत्री के रूप में शपथ दिलाई जाएगी.

उच्चायुक्त ने ट्वीट कर कहा, ''ऑस्ट्रेलिया के निर्वाचित प्रधानमंत्री एंथनी अल्बानीस भारत के लिए अजनबी नहीं हैं क्योंकि उन्होंने एक यात्री के तौर पर 1991 में देश की यात्रा की थी और 2018 में एक संसदीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व किया था. 2018 की यात्रा के दौरान उन्होंने भारत-ऑस्ट्रेलिया आर्थिक, रणनीतिक संबंधों को और गहरा किए जाने की प्रतिबद्धता जतायी थी.

अगर अल्बनीज आगामी क्वाड नेताओं की बैठक में भाग लेने के लिए टोक्यो जाते हैं, तो वह प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के साथ द्विपक्षीय बैठक करने के लिए तैयार हैं. क्वाड समिट 24 मई को है. पिछले कुछ वर्षों में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच संबंध मजबूत हुए हैं. पिछले महीने, दोनों देशों ने द्विपक्षीय व्यापार में विविधता लाने के लिए एक व्यापार समझौता किया.

ये भी पढ़ें: Quad Summit 2022: भारत ने कहा, 'क्वाड सकारात्मक और रचनात्मक एजेंडे को लागू करने के लिए कर रहा है काम'

जून 2020 में, भारत और ऑस्ट्रेलिया ने अपने संबंधों को एक व्यापक रणनीतिक साझेदारी तक बढ़ाया और रसद समर्थन के लिए सैन्य ठिकानों तक पारस्परिक पहुंच के लिए एक ऐतिहासिक समझौते पर हस्ताक्षर किए. म्युचुअल लॉजिस्टिक्स सपोर्ट एग्रीमेंट (एमएलएसए) दोनों देशों की सेनाओं को समग्र रक्षा सहयोग को बढ़ाने के अलावा आपूर्ति की मरम्मत और पुनःपूर्ति के लिए एक-दूसरे के ठिकानों का उपयोग करने की अनुमति देता है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


असम में बाढ़ क कारण आठ लाख से ज्यादा लोग प्रभावित, चार और लोगों की मौत