UP: लोनी में कथित गोतस्‍करों को पैर में गोली मारने के मामले की जांच शुरू, इन सवालों के जवाब आने बाकी..

लोनी में रहने वाली समीना के दो बेटे इंतजार और आसिफ भी गोतस्करी के आरोप में जेल में है. समीना आधार कार्ड दिखाती हैं. इसके अनुसार, आसिफ 16 साल का नाबालिग है जबकि इंतजार की शादी हो चुकी है.

नई दिल्‍ली :

Uttar Pradesh: उत्‍तर प्रदेश के गाजियाबाद शहर के लोनी में कथित तौर पर  सात गोतस्करों (cow smugglers)को गोली मारने के मामले की जांच शुरू हो गई है. इस मामले में SHO का तबादला हो चुका है. तबादले से नाराज SHO ने कहा कि फिलहाल वो नौकरी करने की स्थिति में नहीं है. उधर  कथित गो तस्करों में से एक नाबालिग बताया जा रहा है और परिवार का दावा है कि वो ड्रम धोने गोदाम में जााते थे. लोनी में रहने वाली समीना के दो बेटे इंतजार और आसिफ भी गोतस्करी के आरोप में जेल में है. समीना आधार कार्ड दिखाती हैं. इसके अनुसार, आसिफ 16 साल का नाबालिग है जबकि इंतजार की शादी हो चुकी है. समीना का दावा है कि उनके दोनों बेटे कबाड़ की फैक्ट्री में ड्रम धोने का काम करते थे. वे कहती हैं, 'मेरा आदमी नहीं था मेरे बच्‍चे  काम करते थे. घटना के दो दिन बाद किसी ने मोबाइल पर दिखाया तब पता चला कि पैर में गोली लगी है और पुलिस ने पकड़ा है.' वे बताती हैं, 'मेरे दोनों बच्चे मोनू की फैक्टरी में ड्रम धोते थे और वहीं सो जाते थे.वो ऐसा काम क्यों करेंगे. इससे पहले उन पर कभी कोई पुलिस में मामला नहीं था.' इस बीच, SHO राजेंद्र त्यागी को SSP ने निलंबित कर दिया है. त्‍यागी, गोतस्करों से मुठभेड़ के बाद चर्चा में आए थे. गोपनीय दस्तावेज लीक होने के मामले में वे निलंबित किए गए है. इंदिरापुरम थाने में तबादले के बाद राजेंद्र त्यागी ने चार्ज नहीं लिया, इसके बाद अनुशासनहीनता को लेकर SSP ने निलंबन की कार्रवाई की है.

दिल्ली में पॉल्यूशन फिर गंभीर स्तर पर, टॉप 10 प्रदूषित शहरों में आठ यूपी-हरियाणा के 

लोनी पुलिस ने गुरुवार को मुठभेड़ में कथित 7 गोतस्करों को गोली मारी थी.यहीं से कुछ दूरी पर मोनू का घर है.मोनू जेल में है और मां का रोकर बुरा हाल है. मोनू के भी पैर में गोली लगी है. घरवालों के मुताबिक, पहले वो ठेले में जनरेटर लेकर जाता था कुछ दिन पहले ही वो कबाड़ के गोदाम में ड्रम धोने के काम में लगा था.एक अन्‍य आरोपी मोनू की मां कौसर ने बताया, 'मेरा बेटा शादी ब्याह में जनरेटर ढोता था. कुछ दिन पहले उसने कहा कि कामधाम चल नहीं रहा है तो मैं फैक्ट्री में ड्रम धोने का काम करता हूं. मुझे नहीं पता है कि वो कहां जाता था.'

शीना बोरा मर्डर केस में गिरफ्तार इंद्राणी मुखर्जी की ज़मानत याचिका खारिज

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


दूसरी ओर, गोतस्करों को गिरफ्तार करने वाले SHO राजेंद्र त्यागी ने रोजनामचे में लिखा है कि इस मामले का खुलासा करने के चलते ही उनका तबादला हुआ है और वो फिलहाल नौकरी करने की स्थिति में नहीं है।.इससे पुलिस महकमे में हड़कंप है. पुलिस फिलहाल जांच करके कई सवालों का जवाब तलाश कर रही है मसलन, मुठभेड़ में पुलिस ने 13 राउंड फायरिंग की ,7 के पैर पर गोली लगी, गोदाम का मालिक आदिल कहां है और उसकी क्या भूमिका रही है, अगर एक आरोपी नाबालिग है तो उसे जेल क्यों भेजा गया और रोजनामचे में लिखी बात सोशल मीडिया पर कैसे वायरल हुई? इस मामले में फिलहाल पुलिस दो तरफ आरोपों से घिरी है. एक तरफ कथित गोतस्करों को पकड़े जाने के बाद SHO के तबादले से बीजेपी विधायक समेत हिंदूवादी नेता नाराज हैं तो दूसरी तरफ गाजियाबाद पुलिस पर भी इस मुठभेड़ को लेकर कई सवाल उठ रहे हैं.