नवजात बच्ची को बैग में भरकर मरने के लिए छोड़ा, राहगीरों ने देखा तो जान बची

मेरठ में सड़क के किनारे बैग में मिली तीन माह की बच्ची, लोगों ने बच्ची के रोने की आवाज सुनकर पुलिस को सूचना दी

नवजात बच्ची को बैग में भरकर मरने के लिए छोड़ा, राहगीरों ने देखा तो जान बची

मेरठ में सड़क के किनारे बैग में मिली बच्ची.

मेरठ:

उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले के परतापुर थाना क्षेत्र में सड़क किनारे एक बैग में सोमवार को एक नवजात बच्ची मिली. उस मासूम बच्ची को तेज ठंड के मौसम में मरने के लिए छोड़ दिया गया था.  उस बच्ची को तीन बैगों के अंदर बंद करके रखा गया था.इस घटना के वीडियो सामने आए हैं जिसमें राहगीर क्रमश: बैगों को खोलते हैं और उसमें नवजात बच्ची रोती हुई मिलती है. लोगों ने पुलिस को इसकी सूचना दी जिसके बाद बच्ची को अस्पताल ले जाया गया.


थाना परतापुर के प्रभारी सतीश कुमार ने बताया कि सोमवार की शाम को करीब साढ़े छह बजे कैलाश डेरी के पास राहगीरों को सड़क के किनारे एक बैग पड़ा दिखा, जिसमें से किसी बच्चे के रोने की आवाज आ रही थी. राहगीरों ने बैग खोलकर देखा तो उसके अंदर करीब तीन माह की बच्ची थी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने बच्ची को तुरन्त प्यारेलाल अस्पताल भर्ती कराया, जहां बच्ची का उपचार चल रहा है. सतीश कुमार के अनुसार, बच्ची फिलहाल ‘चाइल्ड हेल्प लाइन' की निगरानी में है.