बाबरी मस्जिद मामले में आडवाणी समेत 32 को बरी करने वाले जज बने यूपी के उप लोकायुक्त

फैसले में माना गया था कि बाबरी मस्जिद किसी साज़िश के तहत नहीं गिराई गई और आडवाणी वगैरह के खिलाफ कारसेवकों को भड़काने का कोई सुबूत नहीं

बाबरी मस्जिद मामले में आडवाणी समेत 32 को बरी करने वाले जज बने यूपी के उप लोकायुक्त

बीजेपी नेता लालकृष्ण आडवाणी (फाइल फोटो).

लखनऊ:

बाबरी मस्जिद (Babri Masjid) तोड़ने के मामले में लालकृष्ण आडवाणी (Lalkrishna Advani) समेत 32 आरोपियों को बरी करने वाले सीबीआई अदालत के विशेष जज सुरेंद्र कुमार यादव को यूपी सरकार ने आज प्रदेश का उप लोकायुक्त बना दिया. सुरेंद्र कुमार यादव ने 30 सिंतबर 2020 को बाबरी मस्जिद गिराए जाने वाले मुक़दमे में फैसला सुनाया था. इस फैसले में माना गया था कि बाबरी मस्जिद किसी साज़िश के तहत नहीं गिराई गई और आडवाणी वगैरह के खिलाफ कारसेवकों को भड़काने का कोई सुबूत नहीं है.

सुरेंद्र यादव 30 सिंतबर 2019 को लखनऊ के जिला जज के पद से रिटायर हो गए थे लेकिन  सुप्रीम कोर्ट के आदेश से  इस मुक़दमे की वजह से 30 सितंबर 2020 तक  विशेष न्यायाधीश सीबीआई- अयोध्या प्रकरण के पद पर बने रहे.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


सुरेंद्र कुमार यादव जौनपुर के रहने वाले हैं.उन्होंने काशी हिंदू विश्वविद्यालय,वाराणसी से लॉ में पोस्ट ग्रेजुएशन किया था. उन्होंने अपने कैरियर की शुरुआत 8 जून 1990 को अयोध्या में अपर मुंसिफ मजिस्ट्रेट के पद से की थी. बाद में वे तमाम जिलों में एसीजेएम, सीजेएम और अपर जिला जज जैसे ओहदों पर रहे. आज लखनऊ में उन्हें राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने उप लोकायुक्त के पद पर नियुक्त किया.