'हम भी टीका लगवाएंगे...' कोविड-19 वैक्सीनेशन पर अखिलेश यादव का यू-टर्न

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) का कोरोना रोधी टीके के प्रति यू-टर्न देखने को मिला है.

'हम भी टीका लगवाएंगे...' कोविड-19 वैक्सीनेशन पर अखिलेश यादव का यू-टर्न

Covid-19 Vaccination पर Akhilesh Yadav ने लिया यू-टर्न

नई दिल्ली:

भारत सरकार द्वारा 18 से 44 साल की उम्र के लोगों को मुफ्त टीकाकरण (Free Vaccine for 18 to 44 Years) के ऐलान के बाद उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) का कोरोना रोधी टीके के प्रति यू-टर्न देखने को मिला है. उन्होंने लोगों से वैक्सीन लगवाने की अपील करते हुए कहा कि हम भी टीका लगवाएं. माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर के जरिए अपनी राय रखते हुए अखिलेश यादव  (Akhilesh Yadav) ने कहा कि जनाक्रोश को देखते हुए आख़िरकार सरकार ने कोरोना के टीके के राजनीतिकरण की जगह ये घोषणा कर दी कि वो टीके लगवाएगी. उन्होंने कहा कि हम भाजपा के टीके के ख़िलाफ़ थे पर ‘भारत सरकार' के टीके का स्वागत करते हुए हम भी टीका लगवाएंगे व टीके की कमी से जो लोग लगवा नहीं सके थे उनसे भी लगवाने की अपील करते हैं. 

Read Also: मुलायम ने लगवाई कोरोना वैक्सीन तो यूपी के डिप्टी CM ने अखिलेश यादव को घेरा, बोले- अब माफी मांगें

बताते चलें कि इससे पहले अखिलेश यादव ने ऐलान किया था हम मैं बीजेपी का टीका नहीं लगाउंगा. केंद्र सरकार द्वारा वैक्सीनेश अभियान के आगाज के जवाब में उन्होंने यह बात कही थी. जनवरी के पहले हफ्ते में उन्होंने पत्रकारों से बातचीत में कहा था, ‘‘मैं तो नहीं लगवाऊंगा अभी टीका, मैंने अपनी बात कह दी. वह भी भाजपा लगायेगी, उसका भरोसा करूं मैं... अरे जाओ भई, अपनी सरकार आयेगी तो सबको फ्री वैक्सीन लगेगी. हम भाजपा का टीका नहीं लगवा सकते हैं'' हालांकि इसके जवाब में बीजेपी इसे देश के डॉक्टरों और वैज्ञानिकों का अपमान बताया था. 


Read Also: 'BJP की वैक्सीन' बताने वाले अब मुफ्त में मांग रहे टीका, सैफई दौरे में योगी आदित्यनाथ ने अखिलेश यादव पर कसा तंज

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मोदी ने सोमवार को देश के नाम संबोधन के दौरान कहा था कि अब 18 से 44 साल के आयु वर्ग के लोगों के टीकाकरण के लिए भी राज्यों को टीका मुफ्त में उपलब्ध कराया जाएगा और अगले दो सप्ताह में इससे जुड़़े दिशानिर्देश तय कर लिए जाएंगे.