Sovereign Gold Bond : दीवाली पर गोल्ड बॉन्ड में निवेश का मौका, यहां जानें कब और कैसे खरीद सकते हैं पेपर गोल्ड

Gold Bond Scheme : सरकारी स्वर्ण बांड 2021-22 की अगली किस्त में 25 अक्टूबर से पांच दिनों के लिए निवेश किया जा सकता है. यानी कि दीवाली से पहले निवेशकों के लिए पांच दिनों तक पेपर गोल्ड में निवेश करने का मौका रहेगा.

Sovereign Gold Bond : दीवाली पर गोल्ड बॉन्ड में निवेश का मौका, यहां जानें कब और कैसे खरीद सकते हैं पेपर गोल्ड

Gold Bond Investment : सरकारी गोल्ड बॉन्ड में निवेश का मौका.

नई दिल्ली:

दीवाली से पहले सरकारी स्वर्ण बॉन्ड (Sovereign Gold Bond Scheme) में निवेश करने का मौका मिल रहा है. अगले सोमवार से सरकारी स्वर्ण बांड 2021-22 की अगली किस्त खुल रही है, जिसके तहत इस बॉन्ड में 25-29 अक्टूबर के बीच निवेश किया जा सकेगा. वित्त मंत्रालय ने गुरुवार को इसकी घोषणा करते हुए कहा कि सरकारी स्वर्ण बांड 2021-22 की अगली किस्त में 25 अक्टूबर से पांच दिनों के लिए निवेश किया जा सकता है. यानी कि दीवाली से पहले निवेशकों के लिए पांच दिनों तक पेपर गोल्ड में निवेश (Invest in Gold Bond) करने का मौका रहेगा. सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड को पेपर गोल्ड इसलिए कहते हैं क्योंकि यह एक तरह का दस्तावेज होता है, जिसमें आप निवेश करते हैं. इसकी कीमतें फिजिकल गोल्ड के बाजार के ही हिसाब से ही तय की जाती हैं. फिजिकल गोल्ड से ये अलग इसलिए होता है क्योंकि इसमें आपको स्टोरेज और सुरक्षा की चिंता नहीं करनी पड़ती है, वहीं आपको इसपर फिजिकल गोल्ड की कीमतों के हिसाब से ही रिटर्न मिलता है.

केंद्रीय रिजर्व बैंक सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम के तहत ब्याज से लिंक्ड बॉन्ड जारी करता है, जिसकी कीमत बाजार में सोने के भाव से तय होती है. आरबीआई सरकार के बिना पर यह स्कीम चलाती है.

ये भी पढ़ें : 
Cryptocurrency Vs Gold : इस दीवाली किसमें करें निवेश, गोल्ड में या क्रिप्टोकरेंसी में?
Bitcoin ETF : क्रिप्टोकरेंसी में निवेश की नई शुरुआत, अब इन्वेस्ट कर सकेंगे बिटकॉइन फ्यूचर में

कब-कब जारी होंगे अगले बॉन्ड

बता दें कि स्वर्ण बांड की 2021-22 श्रृंखला के तहत अक्टूबर 2021 से मार्च 2022 के बीच चार चरणों में बॉन्ड जारी किए जाएंगे. इस श्रृंखला के तहत मई 2021 से सितंबर 2021 तक छह चरण में बांड जारी किए गए हैं. वित्त मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि 2021-22 सीरीज-8 की सदस्यता अवधि 25 अक्टूबर से 29 अक्टूबर होगी और बॉन्ड दो नवंबर को जारी किए जाएंगे.

कहां से खरीद सकेंगे

ये बॉन्ड बैंकों (छोटे वित्त बैंकों और भुगतान बैंकों को छोड़कर), स्टॉक होल्डिंग कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (SHCIL), क्लियरिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (CCIS), नामित डाकघरों और मान्यता प्राप्त शेयर बाजारों (नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया और और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज) के माध्यम से बेचे जाएंगे.

क्या होगा इशू प्राइस

इस बॉन्ड के लिए सोने का भाव सदस्यता अवधि से पहले के सप्ताह के अंतिम तीन कार्य दिवसों के लिए भारतीय सर्राफा एवं आभूषण संघ लिमिटेड द्वारा प्रकाशित 999 शुद्धता वाले सोने के बंद भाव के औसत के बराबर होगा. अब सीधे लहजे में समझिए, जिस दिन आप बॉन्ड खरीदेंगे, उसके पिछले हफ्ते के आखिरी तीन कारोबारी दिनों में गोल्ड की जो कीमत होगी यानी IBJA ने जो गोल्ड की कीमतें जारी की होंगी, उसमें 24 कैरेट गोल्ड का जो बंद भाव होगा, उसी भाव पर आप बॉन्ड में सोना खरीद पाएंगे.

बॉन्ड की अवधि आठ वर्ष के लिए होगी और पांचवें वर्ष के बाद बाहर निकलने का विकल्प भी होगा.

कौन कर सकता है निवेश

इस स्कीम के तहत गोल्ड बॉन्ड कोई ट्रस्ट, हिंदू अविभाजित परिवार, चैरिटी संस्था, यूनिवर्सिटी और भारत में रह रहा कोई भी व्यक्ति व्यक्तिगत तौर पर अपने नाम पर या किसी नाबालिग के नाम पर या फिर जॉइंट तरीके से ये बॉन्ड खरीद सकता है.

मिलेगा डिस्काउंट


इस बॉन्ड में निवेश कर रहे निवेशकों को ऑनलाइन आवेदन और डिजिटल तरीके से भुगतान करने पर 50 रुपये प्रति ग्राम की छूट दी जाएगी और इस योजना में निवेश करने पर ब्याज के रूप में अतिरिक्त प्रतिफल भी मिलेगा. योजना में न्यूनतम एक ग्राम सोने का निवेश किया जा सकता है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


Video : इस दिवाली किसमें करें निवेश, गोल्ड में या क्रिप्टोकरेंसी में?