विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Jun 08, 2021

'उम्मीद है आप निराश नहीं करेंगे...' जब e-filing पोर्टल को लेकर Infosys और नंदन निलेकणी से बोलीं FM सीतारमण

आईटीआर की नई वेबसाइट पूरी तरह ऑपरेशनल हो चुकी है, हालांकि, अब भी कई यूजरों ने तकनीकी गड़बड़ियों की शिकायत की है. ट्विटर पर कई यूजरों ने बताया कि उन्हें लॉग इन करने में दिक्कत आ रही है तो कई ने बताया कि वो वेबसाइट ही एक्सेस नहीं कर पा रहे हैं. 

Read Time: 4 mins
'उम्मीद है आप निराश नहीं करेंगे...' जब e-filing पोर्टल को लेकर Infosys और नंदन निलेकणी से बोलीं FM सीतारमण
वित्त मंत्री ने ई-फाइलिंग पोर्टल पर आ रही दिक्कतों को लेकर किया ट्वीट (फाइल फोटो)
नई दिल्ली:

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने अपनी नई ई-फाइलिंग वेबसाइट लॉन्च कर दी है. सोमवार की रात में यह नया पोर्टल लाइव हो गया. पहले वेबसाइट एड्रेस incometaxindiaefiling.gov.in था, जो अब बदलकर incometax.gov.in हो गया है. साइट को कल सुबह ही लाइव होना था, लेकिन जानकारी थी कि कुछ तकनीकी गड़बड़ी के चलते वेबसाइट कल रात तक लाइव हो सकी. 

अब वेबसाइट पूरी तरह ऑपरेशनल हो चुकी है, हालांकि, अब भी कई यूजरों ने तकनीकी गड़बड़ियों की शिकायत की है. ट्विटर पर कई यूजरों ने बताया कि उन्हें लॉग इन करने में दिक्कत आ रही है तो कई ने बताया कि वो वेबसाइट ही एक्सेस नहीं कर पा रहे हैं. 

वित्त मंत्री ने किया ट्वीट

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इसे लेकर ट्वीट किया और नई वेबसाइट डेवलप करने वाली कंपनी इन्फोसिस और उसके को-फाउंडर नंदन निलेकणी को टैग भी किया. उन्होंने कहा कि कई यूजरों ने गड़बड़ियों की शिकायत की है. उम्मीद है कि टैक्सपेयरों के लिए दी जा रही सुविधाएं प्रभावित नहीं होंगी. 

घट जाएगी आपकी टेक होम सैलरी, लेकिन बढ़ेगा रिटायरमेंट फंड, जल्द लागू हो सकते हैं नए नियम

उन्होंने ट्वीट में लिखा, 'बहुप्रतीक्षित ई-फाइलिंग पोर्टल 2.0 कल रात 8.45 पर लॉन्च हो गई. मुझे अपने टाइमलाइन पर दिख रहा है कि बहुत से लोगों ने गड़बड़ियों को लेकर शिकायत की है. उम्मीद है कि इन्फोसिस और नंदन निलेकणी हमारे टैक्सपेयरों को दी जा रही सुविधाओं की गुणवत्ता को लेकर निराश नहीं करेंगे. टैक्सपेयरों के लिए सहजता हमारी प्राथमिकता होनी चाहिए.'

इन्फोफिस, आधार, जीएसटी और ई-फाइलिंग पोर्टल

बता दें कि इनकम टैक्स रिटर्न फाइलिंग की यह नई वेबसाइट देश की बड़ी इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी कंपनी इन्फोसिस ने डेवलप की है. यह प्रोजेक्ट 2019 में शुरू किया गया था. इस वेबसाइट को बनाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली कैबिनेट ने मंजूरी दी थी. इस प्रोजेक्ट के लिए कंपनी को 4,241.97 करोड़ रुपए मिले थे. सरकार का लक्ष्य था कि एक इनकम टैक्स रिटर्न के लिए एक टैक्सपेयर फ्रेंडली और नेक्स्ट जेनरेशन ई-फाइलिंग पोर्टल शुरू किया जाए.

अच्छी खबर! ICICI Prudential Life के पॉलिसीहोल्डर्स को मिलेगा अब तक का सबसे बड़ा बोनस

इसकी सबसे बड़ी खासियत थी कि इसमें इनकम टैक्स रिटर्न की प्रोसेसिंग के वक्त को घटाने पर जोर था. अब आईटीआर के प्रोसेसिंग में लगभग 65-66 दिन लग जाते थे, लेकिन इस प्रोसेसिंग को एक दिन में पूरा करने का लक्ष्य रखा गया था. बता दें कि नंदन निलेकणी की इन्फोसिस ने ही गुड्स एंड सर्विसेज़ टैक्स की वेबसाइट भी तैयार की थी. इसके अलावा आधार की संकल्पना भी निलेकणी की ही मानी जाती है. वो UIDAI (Unique Identification Authority of India) के चेयरमैन भी रह चुके हैं.

इस नई वेबसाइट में कई नए फीचर्स जोड़े गए हैं. सबसे बड़ा फायदा आईटीआर का रिफंड जल्दी मिलने का है. इसके अलावा टैक्सपेयरों को पहले से भरे हुए आईटीआर फॉर्म और कई दूसरे आईटीआर फॉर्म भरने में मदद के लिए सॉफ्टवेयर की सुविधा मिलेगी. वहीं, इसमें कई नए पेमेंट मेथड जोड़े गए हैं. जल्द ही एक मोबाइल ऐप भी लॉन्च किया जाएगा.

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Air India Express लेकर आया शानदार फीचर, अब मात्र 250 रुपये देकर लॉक कर सकते हैं फ्लाइट टिकट
'उम्मीद है आप निराश नहीं करेंगे...' जब e-filing पोर्टल को लेकर Infosys और नंदन निलेकणी से बोलीं FM सीतारमण
Petrol-Diesel Prices: पेट्रोल-डीजल की नई कीमतें जारी, जानें आपके शहर में महंगा हुआ या सस्ता?
Next Article
Petrol-Diesel Prices: पेट्रोल-डीजल की नई कीमतें जारी, जानें आपके शहर में महंगा हुआ या सस्ता?
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;