EPFO रिकॉर्ड में डेट ऑफ बर्थ ऐसे करें अपडेट, नहीं हुआ तो अटक जाएंगे रिटायरमेंट बेनेफिट्स

EPFO रिकॉर्ड में जन्मतिथि को बदलने का ऑनलाइन प्रोसेस आसान हो गया है. अगर आपकी जन्मतिथि का अंतर 3 साल से कम है तो पोर्टल पर आपको आधार/ई-आधार अपलोड करने की जरूरत पड़ेगी. वहीं अंतर तीन साल से ज्यादा होने पर आधार/ई-आधार के साथ अन्य दस्तावेज भी देने होंगे.

EPFO रिकॉर्ड में डेट ऑफ बर्थ ऐसे करें अपडेट, नहीं हुआ तो अटक जाएंगे रिटायरमेंट बेनेफिट्स

आप अपने EPFO Account में डेट ऑफ बर्थ ऑनलाइन अपडेट कर सकते हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

नई दिल्ली:

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) ने अपने रिकॉर्ड में जन्मतिथि बदलने से संबंधित मानदंडों को और ज्यादा आसान बना दिया है. ईपीएफओ ने अपने अपडेट में बताया है कि इसके रिकॉर्ड में अब जन्मतिथि को ऑनलाइन बदला जा सकता है. इसके लिए आपको आसान से प्रोसेस को फॉलो करना होगा. बता दें कि अगर आपके रिकॉर्ड में डेट ऑफ बर्थ की डिटेल्स सही नहीं है तो आपको रिटायरमेंट बेनेफिट्स लेने में दिक्कत आ सकती है. अगर आपकी जन्मतिथि का अंतर 3 साल से कम है तो इसकी प्रक्रिया अलग है और जन्मतिथि का अंतर तीन साल से ज्यादा है तो इसके लिए अलग प्रोसेस फॉलो करना होगा.

EPFO ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर एक वीडियो शेयर कर जन्मतिथि अपडेट करने की जानकारी दी है. इसमें आसान तरीके से समझाया गया है कि आप अपने EPFO रिकॉर्ड में अपने जन्मतिथि को कैसे बदल सकते हैं.

रिकॉर्ड में जन्मतिथि बदलने का तरीका

जन्मतिथि में बदलाव के लिए सबसे पहले ईपीएफओ की वेबसाइट (https://unifiedportal-mem.epfindia.gov.in/memberinterface/) पर जाए. यूजर आईडी और पासवर्ड से लॉगिन करें. अगर आपकी जन्मतिथि का अंतर 3 साल से कम है तो पोर्टल पर आपको आधार/ई-आधार अपलोड करने की जरूरत पड़ेगी. वहीं अगर आपकी जन्मतिथि का अंतर तीन साल से ज्यादा है तो आधार/ई-आधार के साथ में लिस्ट में दिया गया कोई एक दस्तावेज भी जमा करना होगा.

- - ये भी पढ़ें - -
* EPFO Alert! कहीं अटक न जाए पेंशन और इंश्योरेंस के 7 लाख रुपये, आज ही करा लें यह काम
* PF Account : कहीं आपके पास एक से ज्यादा UAN नंबर तो नहीं? डिएक्टिवेट कराना जरूरी, यहां देखें कैसे होगा
* Aadhaar-UAN Linking अनिवार्य है, ऐसे चेक करें आपका PF अकाउंट आधार से लिंक है या नहीं

कौन-कौन से दस्तावेज लिस्ट में शामिल है?

1. कोई भी स्कूल/एजुकेशन से जुड़ा सर्टिफिकेट.
2. जन्म और मृत्यु के रजिस्ट्रार की ओर से जारी बर्थ सर्टिफिकेट.
3. पासपोर्ट.
4. सेंट्रल या स्टेट गवर्नमेंट के सर्विस रिकॉर्ड के सर्टिफिकेट.
5. ड्राइविंग लाइसेंस और ईएसआईसी कार्ड जैसा कोई भी दस्तावेज जिसे गवर्नमेंट डिपार्टमेंट की ओर से जारी किया गया हो.
6. मेंबर की जांच के बाद सिविल सर्जन की ओर से जारी मेडिकल सर्टिफिकेट.

क्यों जरूरी है सही जन्मतिथि?

भविष्य निधि योजना और पेंशन योजना के तहत प्रोविडेंट फंड और पेंशन बेनिफिट प्राप्त करने के लिए ईपीएफओ के रिकॉर्ड में सही जन्म तिथि महत्वपूर्ण है. अगर आपकी जन्मतिथि में कोई भी गड़बड़ी होगी तो आपको सही उम्र में रिटायरमेंट का सही बेनिफिट नहीं मिल पाएगा.


उमंग और डिजिलॉकर पर उठाए EPFO की इन सुविधाओं का लाभ

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


ईपीएफओ के मेंबर डिजिलॉकर (DigiLocker) के माध्यम से यूएएन कार्ड, पेंशन पेमेंट ऑर्डर (पीपीओ) और स्कीम सर्टिफिकेट डाउनलोड कर सकते हैं. वहीं ईपीएफओ के ऑफिशियल उमंग ऐप की मदद से आप अपनी पासबुक देख सकते हैं. क्लेम को रेज़ और ट्रैक कर सकते हैं. यूएएन के एक्टिवेशन और अलॉटमेंट की सुविधा भी इस ऐप पर उपलब्ध है. इसके अलावा उमंग ऐप पर जनरल सर्विस में SMS और मिस्ड कॉल (Missed call) पर अकाउंट की जानकारी आप ले सकते हैं. पेंशन, आधार सीडिंग और ग्रीवेंस की सुविधा का भी लाभ इस ऐप पर उठाया जा सकता है.