ओलिंपिक इवेंट्स में बदलाव की शूटर अभिनव बिंद्रा की सिफारिश से सहमत नहीं गगन नारंग

ओलिंपिक इवेंट्स में बदलाव की शूटर अभिनव बिंद्रा की सिफारिश से सहमत नहीं गगन नारंग

गगन नारंग ओलिंपिक खेलों में ब्रॉन्‍ज मेडल जीत चुके हैं (फाइल फोटो)

खास बातें

  • गगन नारंग बोले, इससे निशानेबाजी के माहौल पर बड़ा असर पड़ेगा
  • पूरी दुनिया में प्रोन इवेंट लोकप्रिय, इसे हटाना ठीक नहीं होगा
  • बिंद्रा की अध्‍यक्षता वाली समिति ने की है मिश्रित टीम इवेंट की सिफारिश
नई दिल्ली:

ओलिंपिक के ब्रॉन्‍ज मेडलिस्‍ट गगन नारंग ने कहा कि अगर भविष्य में ओलिंपिक के लिए आईएसएसएफ एथलीट आयोग की मिश्रित टीम की सिफारिश को विश्‍व संस्था ने मंजूरी दे दी तो इससे निशानेबाजी के माहौल को करारा झटका लगेगा. इस फैसले को मिश्रित प्रतिक्रिया मिली है, भारत के एकमात्र व्यक्तिगत ओलिंपिक गोल्‍ड मेडलिस्‍ट अभिनव बिंद्रा की अध्यक्षता वाली आईएसएसएफ एथलीट समिति ने ओलंपिक खेलों के लिये मिश्रित टीम स्पर्धा की सिफारिश की है. पैनल ने डबल ट्रैप पुरुष स्पर्धा की जगह मिश्रित ट्रैप स्पर्धा के अलावा 50 मी प्रोन पुरुष स्पर्धा को मिश्रित एयर राइफल स्पर्धा और 50 मी पिस्टल पुरुष स्पर्धा को मिश्रित एयर पिस्टल स्पर्धा में बदलने की मांग की है.

 नारंग ने कहा, ‘निशानेबाजी खेल के माहौल को इन तीन स्पर्धाओं के ओलिंपिक कार्यक्रम से हटने से करारा झटका लगेगा.’नारंग हालांकि इससे ज्यादा दुखी नहीं है लेकिन इसे अपनाने के लिये तैयार हैं.जब नारंग से उनके बयान को विस्तार से बताने के लिये कहा गया तो उन्‍होंने कहा, ‘पूरी दुनिया में प्रोन स्पर्धा काफी लोकप्रिय है और समझो कि अगर इसे हटा लिया गया तो कई निशानेबाज जो सिर्फ प्रोन में ही निशानेबाजी कर रहे हैं, बाहर हो जाएंगे.’ उन्होंने कहा कि उपकरण बनाने वाली इकाइयों पर भी काफी असर पड़ेगा. उन्होंने कहा, ‘उपकरण बनाने वाली कंपनियां उन उपकरणों को बनाना बंद कर देगी जो 50 मी प्रोन और 50 मी पिस्टल स्पर्धा के लिए चाहिए होते हैं.’


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com