Mumbai: 84 वर्ष के डोनर का लिवर 63 वर्षीय मरीज को किया गया ट्रांसप्‍लांट

84 वर्ष के डोनर के लिवर के इस ट्रांसप्लांट को सर्जन्स ख़ास तौर से हाइलाइट करना चाहते हैं ताकि बुजुर्गों के अंग अपनाने से हिचक दूर हो.

Mumbai: 84 वर्ष के डोनर का लिवर 63 वर्षीय मरीज को किया गया ट्रांसप्‍लांट

मुंबई में 3,700 लोग अंग प्रत्यारोपण के लिए क़तार में हैं (प्रतीकात्‍मक फोटो)

खास बातें

  • बुजुर्गों के अंगों को लेकर दूर हो रही है हिचक
  • मुंबई में 3,700 लोग अंग प्रत्यारोपण के लिए कतार में हैं
  • सोशल मीडिया पर लिवर,किडनी,लंग्स के लिए लगती रहती है गुहार
मुंंबई:

महाराष्‍ट्र के महानगर मुंबई (Mumbai)में 3,700 से ज़्यादा लोग अंग प्रत्यारोपण (Organ Transplant) यानी लिवर/किड्नी/लंग्स जैसे अंगों के ट्रांसप्लांट का इंतज़ार कर रहे हैं, वेटिंग लिस्ट लम्बी होती जा रही है, लेकिन डोनर मिल नहीं रहे. इस बीच मुंबई में ऐसी पहली लिवर ट्रांसप्लांट सर्जरी हुई है जिसमें डोनर की उम्र 84 साल की है. डोनर की कमी के बीच बुजुर्ग डोनर के अंगों से हिचक शायद दूर हो रही है. अंग प्रत्यारोपण के लिए लम्बी वेटिंग लिस्ट के बीच ग्लोबल अस्पताल के इन तीन बड़े लिवर ट्रांसप्लांट सर्जन्स ने 84 साल के सबसे बुजुर्ग शव अंगदाता की मदद से जिंदगियां बचायी हैं.सोशल मीडिया पर आए दिन लिवर, किडनी, लंग्स के ट्रांसप्‍लांट के लिए लिए ऐसी गुहार लगती रहती है. आमतौर पर 
बुज़ुर्गों के अंगों को अपनाने से कई लोग हिचकते हैं, लेकिन क़रीब डेढ़ साल से लिवर ट्रांसप्लांट का इंतज़ार कर रहे पुणे के 63 वर्षीय मरीज़ ने 84 साल के दिवंगत बुजुर्ग के लिवर को 'अपनाया' .ये मुंबई का ऐसा पहला ट्रांसप्लांट है. 

कोरोना महामारी के कारण महाराष्‍ट्र में अंगदान में आई 70% की कमी, जरूरतमंद इंतजार को मजबूर..

ग्‍लोबल अस्‍पताल के लिवर ट्रांसप्‍लांट सर्जन डॉ. प्रशांत राव कहते हैं, 'डोनर की उम्र 84 साल थी और रेसिपीयंट की 63 साल. उम्र का फ़ासला था लेकिन लिवर Re grow करता है, Re generate कर सकता इसलिए उम्र की वजह से इसकी क्षमता पर असर ज़्यादा नहीं पड़ता.'लिवर ट्रांसप्‍लांट विशेषज्ञ डॉ. विनय निकाम ने बताया, 'डोनर का लिवर बहुत अच्छा था, इसलिए वो हमने ऐक्सेप्ट किया, क़रीब 8 घंटे की ये सर्जरी चली बिना किसी दिक़्क़त या बाधा के ये सर्जरी कामयाब रही.' ग्‍लोबल हॉस्पिटल के लिवर ट्रांसप्‍लांट सर्जन और HOD डॉ. रवि मोहंका कहते हैं, 'जैसे ही बताओ कि डोनर की उम्र ज़्यादा है, सभी डर जाते है. उनको लगता है अंगों की उम्र सम्बन्धी दिक़्क़तें होंगी, लेकिन इस केस में जब हमने रेसिपीयंट को बताया कि डोनर की उम्र ज़्यादा है तो उन्होंने इसको ये कहते हुए स्‍वीकार कर लिया कि अगर लिवर अच्छी कंडिशन में है तो कोई दिक़्क़त नहीं. अब आप सोचिए आने वाले 16 साल में ये लिवर 100 साल का हो जाएगा.'


चार साल के बेटे को मां ने दिया अपना अंग, सफल रहा लीवर ट्रांसप्‍लांट

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


मुंबई में 3,700 लोग अंग प्रत्यारोपण के लिए क़तार में हैं. कैडवर यानी शव अंगदाता के ऑर्गन डोनेशन की संख्या 2020 में 30 बताई जाती है जो 2019 की तुलना में क़रीब 70% कम कम रही, वहीं इस साल अब तक 23 डोनेशन हुए हैं.इस बीच शहर में  वेटिंग लिस्ट बेहद लम्बी हो चुकी है. मुंबई में 3,325 लोग किडनी के लिए, 330  लिवर के लिए, 28 दिल के लिए, क़रीब एक दर्जन पेनक्रियाज (pancreas) के लिए तो 9 फेफड़ों और सात small bowel transplantके लिए इंतजार कर रहे हैं. डॉ. मोहंका कहते हैं, 'ऑर्गन डोनेशन कम हो रहे हैं इसलिए मरीज़ों को बहुत परेशानी हो रही है 3000 से कहीं ऊपर ट्रांसप्लांट की वेटिंग लिस्ट हो गयी है, बहुत लम्बी होती जा रही है.' 84 वर्ष के डोनर के इस ट्रांसप्लांट को सर्जन्स ख़ास तौर से हाइलाइट करना चाहते हैं ताकि बुजुर्गों के अंग अपनाने से हिचक दूर हो.