छत्तीसगढ़ में झीरम घाटी में हुए नक्सली हमले की रिपोर्ट आठ साल बाद आई

मई 2013 में न्यायमूर्ति प्रशांत मिश्रा की अध्यक्षता में न्यायिक जांच आयोग बनाया गया था, 10 खंडों और 4184 पन्नों की रिपोर्ट जांच आयोग के सचिव और छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय के रजिस्ट्रार संतोष कुमार तिवारी ने राज्यपाल को सौंपी

छत्तीसगढ़ में झीरम घाटी में हुए नक्सली हमले की रिपोर्ट आठ साल बाद आई

छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय के रजिस्ट्रार संतोष कुमार तिवारी ने राज्यपाल अनसुईया उइके को रिपोर्ट सौंपी.

रायपुर:

छत्तीसगढ़ में 25 मई 2013 को झीरम घाटी में हुए नक्सली हमले की रिपोर्ट आठ साल बाद राज्यपाल अनुसुईया उइके को सौंप दी गई है. 28 मई 2013 को न्यायमूर्ति प्रशांत मिश्रा की अध्यक्षता में न्यायिक जांच आयोग बनाया गया था. 10 खंडों और 4184 पन्नों की ये रिपोर्ट झीरम हत्याकांड जांच आयोग के सचिव और छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय के रजिस्ट्रार संतोष कुमार तिवारी ने शनिवार शाम राज्यपाल को सौंपी. 


यह रिपोर्ट अब सरकार को भेजी जाएगी. कैबिनेट उसे देखेगी और उसके बाद विधानसभा में इसको पेश किया जाएगा. आठ साल पहले कांग्रेस की परिवर्तन यात्रा पर नक्सली हमला हुआ था. इसमें 29 लोग मारे गए थे, जिसमें कांग्रेस के तत्कालीन प्रदेश अध्यक्ष नंद कुमार पटेल, उनके बेटे दिनेश पटेल,महेंद्र कर्मा, उदय मुदलियार जैसे नाम शामिल थे. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


पूर्व केंद्रीय मंत्री विद्याचरण शुक्ल हमले में गंभीर रूप से घायल हुए थे. उनका इलाज के दौरान निधन हो गया था.