तेजस्वी यादव का नीतीश कुमार पर अटैक, बोले- 'अतिपिछड़ों को ठगा, इतने बड़े हितैषी है तो...'

लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election) के आखिरी चरण का मतदान 19 मई को होने वाला है, जिसके बाद 23 मई को मतगणना होगी.

तेजस्वी यादव का नीतीश कुमार पर अटैक, बोले- 'अतिपिछड़ों को ठगा, इतने बड़े हितैषी है तो...'

राजद नेता तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav)

खास बातें

  • तेजस्वी यादव का ट्वीट
  • नीतीश कुमार पर हमला
  • कही ये बात
नई दिल्ली:

लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election) के आखिरी चरण का मतदान 19 मई को होने वाला है, जिसके बाद 23 मई को मतगणना होगी. इससे पहले बिहार की राजनीति में देश के बड़े नेताओं के बीच जुबानी जंग देखने को मिल रही है. राजद नेता तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर काफी एक्टिव हैं. मंगलवार को वह बिहार मुख्यमंत्री नीतिश कुमार (Nitish Kumar) पर पिछड़ी जाति पर आरक्षण के मसले पर जोरदार हमला किया. उन्होंने ट्वीट कर आरोप लगाया है कि नीतीश कुमार ने अतिपिछड़ों को ठगा है.

जेट एयरवेज के CEO विनय दुबे ने अपने पद से दिया इस्तीफा, बताई यह वजह...

तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने अपने ट्वीट में लिखा, ''नीतीश कुमार ने अतिपिछड़ों को ठगा है. 50 करोड़ तक के सरकारी ठेकों में पिछड़ों, अतिपिछड़ों और दलितों का आरक्षण क्यों नहीं होने दिया? इतने बड़े हितैषी है तो नालंदा में क्यों नहीं अतिपिछड़ा को टिकट दिया? नालंदा में क्यों अतिपिछड़ा के बेटे अशोक आज़ाद चंद्रवंशी को भला बुरा कह रहे है?'' इससे पहले तेजस्वी ने कई ट्वीट किए. तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) पर हमला बोला.

सागर लोकसभा क्षेत्र में चुनाव व्यवस्था में फिर गड़बड़ी, ईवीएम से भरा वाहन हुआ खराब, जंगल में हुआ झगड़ा


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा- नीतीश जी हार की बौखलाहट में अब खुलेआम मंचों से छाती पीट धमकी दे रहे है कि लालू जी को कभी भी जेल से बाहर नहीं आने दूंगा. यानि मान रहे है कि उन्होंने अपने गुर्गों के साथ साज़िश कर लालू जी को जेल भेजा. दूसरे ट्वीट में उन्होंने कहा- नीतीश जी, आपके दोहरे चरित्र का आपका पर्दाफ़ाश हो चुका है. नीतीश जी, संविधान का ज़रा सा भी ज्ञान है तो पता कर लीजिये निचली अदालत से ऊपर और भी अदालतें हैं. हम आपकी तरह ज़मीर और जनादेश नहीं बेचते. हम फासीवादियों से डटकर लड़ते और जीतते है. आप 2015 में क्यों लालू जी के पैरों में गिरे थे? क्या जेल से बचने के लिए आपने जनादेश का चीरहरण किया था?