जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने हाथ से उड़ाकर देखा ड्रोन

भारतीय ड्रोन महोत्सव 2022 के उद्घाटन के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया तथा नागरिक उड्डयन राज्यमंत्री जनरल (सेवानिवृत्त) वी.के. सिंह भी मौजूद थे. रिमोट कन्ट्रोल के ज़रिये ड्रोन उड़ाते हुए प्रधानमंत्री काफी उत्साहित नज़र आ रहे थे.

नई दिल्ली:

देश की राजधानी नई दिल्ली के प्रगति मैदान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने शुक्रवार को दो-दिवसीय 'भारतीय ड्रोन महोत्सव 2022' (Drone Festival of India 2022) का उद्घाटन तो किया ही, खुद भी ड्रोन उड़ाकर देखा. इस अवसर पर केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) तथा नागरिक उड्डयन राज्यमंत्री जनरल (सेवानिवृत्त) वी.के. सिंह भी मौजूद थे. रिमोट कन्ट्रोल के ज़रिये ड्रोन उड़ाते हुए प्रधानमंत्री काफी उत्साहित नज़र आ रहे थे.

इससे पहले, 27-28 मई को आयोजित ड्रोन महोत्सव के उद्घाटन के अवसर पर प्रधानमंत्री ने कहा था कि भारतभर में ड्रोन तकनीक को लेकर काफी उत्साह देखा जा रहा है, और इससे स्पष्ट होता है कि हमारे देश में ड्रोन सेवाएं और ड्रोन-आधारित उद्योग बेहद लम्बी छलांग लगा रहा है. PM ने कहा था कि ड्रोन तकनीक से भारत में रोज़गार के उभरते हुए बड़े सेक्टर की संभावनाएं दिख रही हैं.

प्रधानमंत्री ने खेती में ड्रोन के उपयोग और महत्व पर भी चर्चा की थी और बताया था कि ड्रोन तकनीक किस तरह बड़ी क्रांति का आधार बनती जा रही है. उन्होंने जानकारी दी कि प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के तहत पहली बार देश के गांवों की हर संपत्ति की डिजिटल मैपिंग की जा रही है, और लोगों को डिजिटल प्रॉपर्टी कार्ड वितरित किए जा रहे हैं.

कार्यक्रम में प्रधानमंत्री के साथ केंद्रीय कृषि और किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र तोमर भी मौजूद थे. दो-दिवसीय महोत्सव में कुल 70 एक्ज़िबिटर अपनी तकनीक को प्रदर्शित कर रहे हैं, तथा 'भारतीय ड्रोन महोत्सव 2022' में सरकारी अधिकारियों, विदेशी राजनयिकों, सशस्त्र बलों, केंद्रीय सशस्त्र बलों, निजी कंपनियों और ड्रोन स्टार्ट-अप से जुड़े 1,600 से अधिक लोग भाग लेंगे.

'आत्मनिर्भर भारत' अभियान के अंतर्गत अब ड्रोन तकनीक कृषि, खनन, बुनियादी ढांचा, निगरानी तंत्र, आपदा प्रबंधन, परिवहन, जियो मैपिंग, रक्षा तथा कानून एवं व्यवस्था लागू करने के क्षेत्रों में बड़ी भूमिका निभाएगी. प्रधानमंत्री ने महोत्सव के दौरान किसान ड्रोन चालकों से भी बातचीत की, और ड्रोन प्रदर्शनी केंद्र में स्टार्ट-अप से भी संवाद किया.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


--- ये भी पढ़ें ---
* 2030 तक भारत 'ड्रोन हब' बन जाएगा : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
* 4 माह में 'ड्रोन पायलट प्रशिक्षण पाठ्यक्रम' का शुल्क घटेगा : सिंधिया
* 48MP फोटो, 4K वीडियो लेने वाले ड्रोन के लिए नहीं चाहिए लाइसेंस