"BJP एक चुनाव जीती है, लेकिन दो हार गई है": NDTV से बोले आप के राघव चड्ढा

गुजरात विधानसभा चुनाव 2022 (Gujarat Assembly Elections Results 2022)  में भले ही आम आदमी पार्टी (AAP) के संयोजक अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) के सारे दावे गलत साबित हो गए हों, लेकिन पार्टी की बीजेपी के गढ़ वाले इस राज्य में घुसपैठ हो चुकी है.

आप के राज्यसभा सांसद राघव चड्ढा गुजरात चुनाव प्रभारी थे.

नई दिल्ली:

आम आदमी पार्टी के नेता राघव चड्ढा ने गुजरात विधानसभा चुनाव में बीजेपी की रिकॉर्ड जीत पर बधाई दी. चड्ढा ने इसके साथ ही हिमाचल चुनाव में आप को एक भी सीट नहीं मिलने पर निराशा जाहिर की है. आप नेता ने याद दिलाया- 'दिल्ली में भाजपा के मुख्यालय में जश्न के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने समर्थकों को यह कहते हुए बधाई दी है कि भाजपा ने "केवल एक चुनाव जीता है, लेकिन दो हारे हैं". बता दें कि एमसीडी में 15 साल के शासन के बाद बीजेपी इस बार आप से चुनाव हार गई. हिमाचल में भी बीजेपी को कांग्रेस से एक फीसदी से भी कम वोट के अंतर से हार का सामना करना पड़ा है.

एनडीटीवी से बात करते हुए राघव चड्ढा ने कहा कि आम आदमी पार्टी (आप) की बीजेपी के गढ़ गुजरात में एंट्री हो गई है. भले ही हमने 5 सीटों पर जीत हासिल की, लेकिन ये भी एक बहुत बड़ा मील का पत्थर है. क्योंकि आप ने 2012 में पार्टी की स्थापना के बाद से बहुत कम समय में एक राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा प्राप्त किया है.

पंजाब से आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद और गुजरात प्रभारी राघव चड्ढा ने कहा, "गुजरात चुनाव में बेशक हमने 5 सीटें जीतीं, 13% वोट शेयर प्राप्त किया, लेकिन परिणाम हमारी उम्मीदों के विपरीत हैं". आप नेता ने कहा, "निश्चित रूप से जीतना बुरा नहीं लगता. लेकिन हम खुश हैं कि हमने एक मुकाम हासिल किया है और गुजरात के किले में प्रवेश किया है. अगली बार हम किले के अंदर से लड़ेंगे."

दरअसल, आम आदमी पार्टी को वोट देने वाले गुजराती 0.62% से बढ़कर 12.9% हो गए. वहीं, गुजरात की कुल 182 सीटों में से 35 सीटों पर आम आदमी पार्टी दूसरे नंबर पर रही है. जीती हुई और दूसरे नंबर की सीटों को मिला लें तो यह संख्या 40 हो जाती है. यानी गुजरात की 22% विधानसभा सीटों पर AAP ने अपना असर छोड़ा है.

AAP तेजी से उभरती हुई पार्टी
राघव चड्ढा ने कहा कि आम आदमी पार्टी भारत की सबसे तेजी से उभरती हुई पार्टी है. ऐसा मुकाम हर क्षेत्रीय पार्टी जैसे तमिलनाडु की डीएमके, पश्चिम बंगाल की तृणमूल कांग्रेस और दक्षिण की अन्य पार्टियां चाहती हैं, लेकिन हासिल नहीं कर पाई हैं.

केजरीवाल ने कहा-गुजरात के लोगों ने AAP को नेशनल पार्टी बना दिया
गुजरात में बड़ी जीत का दावा करने वाले अरविंद केजरीवाल हार के बाद भी खुश नजर आए. गुजरात के लोगों का आभार व्यक्त किया और कहा कि अगली बार आपके आशिर्वाद से बीजेपी के किले को फतह करने में कामयाब होंगे. गुजरात के लोगों ने आम आदमी पार्टी को राष्ट्रीय पार्टी बना दिया है. जितने वोट आम आदमी पार्टी को गुजरात चुनाव में मिले हैं, उस हिसाब से कानूनन आम आदमी पार्टी राष्ट्रीय पार्टी बन रही है. देश में बहुत बहुत कम पार्टियां हैं, जिनको राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा प्राप्त है. चंद पार्टियों में अब आपकी आम आदमी पार्टी भी शामिल है. 
 

कांग्रेस के वोट हुए ट्रांसफर
गुजरात चुनाव में कांग्रेस के मैदान छोड़ने से AAP को सीधा फायदा मिला है. 2017 के चुनाव में कांग्रेस का वोट शेयर 42.97% था, जबकि 2022 के चुनाव में कांग्रेस का वोट शेयर घटकर 27% हो गया है. वहीं, 2017 में AAP का वोट शेयर 0.62% था, जो इस चुनाव में बढ़कर 12.9% हो गया है. माना जा रहा है कि कांग्रेस का वोट शेयर जो घटा है, वो AAP को ट्रांसफर हो गया है.

AAP बन गई नेशनल पार्टी
इस वोट  शेयर के बाद AAP ने नेशनल पार्टी का दर्जा हासिल कर लिया है. नेशनल पार्टी के लिए AAP को गुजरात या हिमाचल में 6% से ज्यादा वोट शेयर पाने की जरूरत थी. गुजरात में AAP को करीब 13% वोट शेयर मिला है. ऐसे में वह नेशनल पार्टी बन गई है. किसी पार्टी को नेशनल पार्टी का दर्जा हासिल करने के लिए लोकसभा या विधानसभा चुनाव में चार राज्यों में 6% वोट हासिल करना जरूरी होता है. AAP इससे पहले 3 राज्यों दिल्ली, पंजाब और गोवा में 6% से ज्यादा वोट शेयर हासिल कर चुकी है. हालांकि, अभी आप के नेशनल पार्टी होने का आधिकारिक ऐलान चुनाव आयोग की ओर से किया जाना बाकी है.
 

ये भी पढ़ें:-

OPS का वादा और....हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस की जीत के ये रहे प्रमुख कारण...

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

गुजरात में बीजेपी की बड़ी जीत के बीच कांग्रेस को लगा '440 वोल्‍ट का झटका', जानें किस पार्टी का रहा कितना वोट शेयर..

Featured Video Of The Day

गाजियाबाद में कोर्ट के फर्स्ट फ्लोर पर आया तेंदुआ