उदयपुर हत्याकांड की आतंकी एंगल से होगी जांच, अब तक की कार्रवाई से संतुष्ट है कन्हैयालाल का परिवार : NDTV से बोले SIT प्रमुख

उदयपुर हत्याकांड की जांच कर रही एसआईटी टीम के चीफ प्रफुल कुमार ने कहा कि हम इस पूरे मामले की आंतकी एंगल से जांच कर रहे हैं. दोनों मुख्य आरोपियों से पूंछताछ की जा रही है. साथ ही पूरे उदयपुर में कर्फ़्यू लगा हुआ है. मृतक का पोस्टमार्टम कराया जा चुका है. साथ ही हम मृतक के परिवार से संपर्क में हैं , जो अभी तक की कार्रवाई से संतुष्ट है.

उदयपुर में दिन दहाड़े अंजाम दिए गए हत्याकांड की वजह से इलाके में तनाव पसरा हुआ है. ऐसे में एहतियात के तौर पर सुरक्षा व्यवस्था और कड़ी कर दी गई.  इस बीच मामले की जांच कर रही एसआईटी टीम के चीफ IG प्रफुल कुमार ने NDTV से कहा कि हम इस पूरे मामले की आंतकी एंगल से भी जांच कर रहे हैं. दोनों मुख्य आरोपियों से पूछताछ की जा रही है. साथ ही पूरे उदयपुर में कर्फ़्यू लगा हुआ है. अभी तक शांति व्यवस्था बनी हुई है. मृतक का पोस्टमार्टम कराया जा चुका है. उन्होंने कहा कि फिलहाल परिवार से हम संपर्क में हैं, परिवार अभी तक की कार्रवाई से संतुष्ट है. हम अपील करते हैं कि शांति व्यवस्था बना कर रखें. अभी किसी टेरर ग्रुप के बारे में नहीं कह सकते, हमारी जांच जारी है.

उदयपुर के एसपी मनोज कुमार ने हत्या में शामिल आरोपियों को कल राजसमंद से पकड़ने जाने की जानकारी दी. उन्होंने कहा कि ये दोनों आरोपी भागने की फ़िराक़ में थे. हमने कन्हैया लाल को 10 तारीख़ को धार्मिक टिप्पणी करने के लिए गिरफ़्तार किया था. फिर बाद में बेल पर छूटने के बाद उसने लोकल पुलिस में शिकायत की थी कि उसके पड़ोसी उसे धमका रहे हैं. हमने दोनों पक्षों को बुला कर समझौता कराया था. अभी दोनों पक्षों ने हमें लिखित में बताया था कि वो संतुष्ट हैं. इन दोनों आरोपियों का कन्हैया के पड़ोसियों से कोई लेना देना नहीं है. हम और लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें: SIT करेगी उदयपुर हत्याकांड की जांच, समूचे राज्य में धारा 144 लागू, इंटरनेट ठप : 10 बातें

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उदयपुर में एक दर्जी की हत्या के बाद पूरे राज्य में आक्रोश फैल गया. राजस्थान सरकार ने मंगलवार को अगले एक महीने के लिए सभी जिलों में सीआरपीसी की धारा 144 लागू करने की घोषणा की. राज्य सरकार ने मामले की जांच के लिए विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया है. राजस्थान के हर जिले में पुलिस हाई अलर्ट पर है. अजमेर के एसपी विकास शर्मा ने एएनआई को बताया, "मौजूदा स्थिति को देखते हुए, पूरे जिले के साथ-साथ राज्य में धारा 144 लागू कर दी गई है.  पुलिस कर्मियों की छुट्टियां रद्द कर दी गई हैं. हम शांति सुनिश्चित करेंगे और इसे बाधित करने का प्रयास करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेंगे, "