विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Aug 05, 2022

'यह लोकतंत्र की हत्या करने के समान' : कांग्रेस के प्रदर्शनों पर हुई कार्रवाई पर शिवानंद तिवारी का तंज

शिवानंद तिवारी ने कहा है कि कांग्रेस मज़बूत तेवर के साथ सड़क पर उतरी है. यह शुभ संकेत है.

'यह लोकतंत्र की हत्या करने के समान' : कांग्रेस के प्रदर्शनों पर हुई कार्रवाई पर शिवानंद तिवारी का तंज
कांग्रेस के प्रदर्शनों पर हुई कार्रवाई पर शिवानंद तिवारी का तंज
पटना:

बेरोजगारी और मूल्‍य वृद्धि के खिलाफ कांग्रेस आज विरोध प्रदर्शन कर रही है. प्रदर्शन के दौरान पुलिस ने आज प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) और अन्‍य कांग्रेस नेताओं को दिल्‍ली में पार्टी मुख्‍यालय के बाहर से हिरासत में लिया. इस बीच इस पूरे मामले पर राजद नेता शिवानंद तिवारी की प्रतिक्रया आई है. शिवानंद तिवारी ने कहा है कि कांग्रेस मज़बूत तेवर के साथ सड़क पर उतरी है. यह शुभ संकेत है. जिस प्रकार कांग्रेस के पूर्व निर्धारित कार्यक्रम को सरकार द्वारा रोकने की कोशिश की गई, वैसा आजादी के बाद देश के इतिहास में कभी देखा नहीं गया.

सोनिया गांधी के आवास सहित कांग्रेस मुख्यालय पर सैकड़ों की तादाद में पुलिस वालों को खड़ा कर दिया गया. इस प्रकार एक राजनीतिक पार्टी को अपना कार्यक्रम करने के लोकतांत्रिक अधिकार से जबरन रोकने की सरकार द्वारा कोशिश की गई. यह लोकतंत्र की हत्या करने के समान है. 

सरकार आजादी का अमृत महोत्सव मना रही है. हर घर घर झंडा का अभियान चला रही है. आजादी की लड़ाई या उसके बाद वर्षों तक जिस तिरंगे को इन्होंने मान्यता नहीं दी, आज उसके प्रति आदर के ढोंग का प्रदर्शन किया जा रहा है. देश के साथ प्रेम और भक्ति  भाव देश के हर नागरिक के मन का स्वभाविक भाव है. उसके प्रदर्शन में स्वाभाविकता नहीं बल्कि ढोंग का भाव ही झलक रहा है.

26 जनवरी 1930 को संपूर्ण देश में तिरंगा फहरा कर स्वराज की घोषणा की गई थी. वह तिरंगा आज़ादी, लोकतंत्र , बराबरी और भाईचारे का प्रतीक माना गया था. आज घर-घर झंडा के ढोंग के साथ लोकतंत्र को कुचलने की निंदनीय कोशिश हो रही है. इसलिए सवाल सिर्फ़ कांग्रेस का नहीं है, बल्कि लोकतंत्र को बचाने का है. लोकतंत्र का जहां भी दमन करने की कोशिश हो रही है उसका विरोध किया जाना चाहिए. एक राजनीतिक दल के रूप में कांग्रेस को शांतिपूर्ण ढंग से अपना कार्यक्रम करने का अधिकार है. उस अधिकार को कुचलने का विरोध लोकतंत्र के हर हिमायती द्वारा किया जाना आज का आपद धर्म है. 

ये भी पढ़ें-

ये भी देखें-कैसे धक्का देकर प्रियंका गांधी को दिल्ली पुलिस ने हिरासत में लिया

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
इंटरनेट बंद, ड्रोन से निगरानी, 2000 पुलिसकर्मियों की तैनाती... नूंह में ब्रज मंडल यात्रा को लेकर ट्रैफिक एडवाइजरी भी जारी
'यह लोकतंत्र की हत्या करने के समान' : कांग्रेस के प्रदर्शनों पर हुई कार्रवाई पर शिवानंद तिवारी का तंज
यह सायनाइड है क्या? रंग-स्वाद कैसा? दुनिया के सबसे जानलेवा जहर के बारे में जानिए
Next Article
यह सायनाइड है क्या? रंग-स्वाद कैसा? दुनिया के सबसे जानलेवा जहर के बारे में जानिए
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;