विज्ञापन
Story ProgressBack

संदेशखाली मामला : NCW प्रमुख रेखा शर्मा के खिलाफ TMC ने चुनाव आयोग में दर्ज कराई शिकायत, लगाए गंभीर आरोप

TMC ने कहा कि वह रेखा शर्मा और भाजपा के एक नेता के खिलाफ ‘‘संदेशखाली की निर्दोष महिलाओं और सभी मतदाताओं के साथ जालसाजी, ठगी, धोखाधड़ी, आपराधिक धमकी देने और आपराधिक साजिश रचने के गंभीर अपराध के लिए शिकायत दर्ज करा रही है.

Read Time: 5 mins
संदेशखाली मामला :  NCW प्रमुख रेखा शर्मा के खिलाफ TMC ने चुनाव आयोग में दर्ज कराई शिकायत, लगाए गंभीर आरोप
NCW अध्यक्ष रेखा शर्मा के खिलाफ निर्वाचन आयोग में शिकायत दर्ज कराई गई है. (फाइल)
नई दिल्‍ली :

तृणमूल कांग्रेस (Trinamool Congress) ने रविवार को राष्ट्रीय महिला आयोग (National Commission for Women) की अध्यक्ष रेखा शर्मा के खिलाफ निर्वाचन आयोग (Election Commission) में शिकायत दर्ज कराई. इस शिकायत में उन पर आरोप लगाया गया है कि वह संदेशखाली की घटनाओं के लिए जिम्मेदार ‘प्रमुख साजिशकर्ताओं में से एक' हैं. इस मामले में पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ दल के नेताओं के खिलाफ यौन शोषण के आरोप लगाए गए हैं.

निर्वाचन आयोग को लिखे एक पत्र में टीएमसी ने कहा कि वह शर्मा और भाजपा के एक नेता के खिलाफ ‘‘संदेशखाली की निर्दोष महिलाओं और सामान्य रूप से सभी मतदाताओं के साथ जालसाजी, ठगी, धोखाधड़ी, आपराधिक धमकी देने और आपराधिक साजिश रचने के गंभीर अपराध के लिए शिकायत दर्ज करा रही है.''

टीएमसी ने कहा, ‘‘यह घटनाओं के एक अत्यंत दुखद मोड़ पर आपका तत्काल ध्यान आकर्षित करने के लिए है, जिसमें राष्ट्रीय महिला आयोग के सदस्यों के साथ मिलकर भाजपा नेताओं ने मतदाताओं के खिलाफ आपराधिक साजिश रची और इसलिए आपके तत्काल हस्तक्षेप की आवश्यकता है.''

टीएमसी ने यह भी कहा कि संदेशखाली की एक महिला का साक्षात्कार 10 मई को ‘एक्स' मंच पर साझा किया गया था जिससे पता चलता है कि रेखा शर्मा ने राष्ट्रीय महिला आयोग की अन्य सदस्यों और पियाली दास समेत अन्य भाजपा नेताओं के साथ राजनीतिक लाभ के लिए संदेशखाली की निर्दोष महिलाओं का शोषण करके जालसाजी, धोखाधड़ी, ठगी, आपराधिक धमकी और आपराधिक साजिश के गंभीर अपराध किए हैं. दास संदेशखाली से भाजपा की सदस्य हैं.

कथित वीडियो साझा करने के बाद दर्ज कराई शिकायत 

टीएमसी ने पार्टी द्वारा कथित वीडियो साझा करने के बाद शिकायत दर्ज कराई थी जिसमें एक महिला को यह कहते हुए सुना गया था, ‘‘हमें कोरे कागज पर हस्ताक्षर कराके धोखा दिया गया . हमें बाद में पता चला कि हमारे नाम पर बलात्कार की शिकायत दर्ज की गई थी. यह एक सफेद झूठ है.''

इस वीडियो से कुछ दिन पहले एक अन्य वीडियो वायरल हुआ था जिसमें संदेशखाली में पार्टी के एक स्थानीय पदाधिकारी को यह दावा करते हुए दिखाया गया कि इस प्रकरण के पीछे पश्चिम बंगाल विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष शुभेंदु अधिकारी का हाथ था. हालांकि, पीटीआई स्वतंत्र रूप से किसी भी वीडियो की प्रामाणिकता की पुष्टि नहीं कर सका.

वीडियो से एक गहरी साजिश का खुलासा : TMC

टीएमसी ने पत्र में यह भी आरोप लगाया कि वीडियो से एक गहरी साजिश का खुलासा हुआ है जिसमें शर्मा और भाजपा नेता संदेशखाली की निर्दोष, अशिक्षित महिलाओं को झूठी बलात्कार की शिकायतें दर्ज कराने के लिए कोरे कागजात पर हस्ताक्षर करने के लिए मजबूर कर रहे थे.

पार्टी ने चुनाव आयोग से अपील की कि वह उपरोक्त अपराधों में उनकी भूमिका के लिए शर्मा, दास और अन्य अज्ञात भाजपा नेताओं के खिलाफ आपराधिक कार्यवाही शुरू करने के लिए संबंधित पुलिस अधिकारियों को सख्त निर्देश दे.

पश्चिम बंगाल के मंत्री और टीएमसी प्रवक्ता शशि पांजा ने 10 मई को आरोप लगाया था कि रेखा शर्मा ने संदेशखाली से जुड़े आरोपों पर ‘राजनीतिक पूर्वाग्रह' के तहत काम किया और क्षेत्र की महिलाओं को यौन उत्पीड़न के झूठे आरोप लगाने के लिए प्रोत्साहित किया.

पश्चिम बंगाल में की थी राष्ट्रपति शासन लगाने की सिफारिश 

गौरतलब है कि महिलाओं पर कथित अत्याचार और संदेशखाली में हिंसा को लेकर राष्ट्रीय महिला आयोग (एनसीडब्ल्यू) ने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू से सिफारिश की थी कि पश्चिम बंगाल में राष्ट्रपति शासन लगाया जाए.

संदेशखाली से सामने आए एक अन्य कथित वीडियो में एक स्थानीय भाजपा नेता को यह कहते हुए सुना गया कि 70 से अधिक महिलाओं को स्थानीय टीएमसी क्षत्रप शाहजहां शेख और उनके सहयोगियों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन में भाग लेने के लिए दो-दो हजार रुपये मिले थे. शेख पर यौन उत्पीड़न और भूमि हड़पने का आरोप है.

शनिवार रात सामने आए 45 मिनट से अधिक समय के नवीनतम वीडियो में संदेशखाली के भाजपा मंडल अध्यक्ष गंगाधर कयाल जैसे दिखने वाले एक व्यक्ति ने प्रश्नकर्ता को यह बताया.

यह कयाल ही थे जिन्होंने पहले के एक अन्य कथित वीडियो में कहा था कि बलात्कार के आरोप ‘मनगढ़ंत' थे.

‘पीटीआई-भाषा' स्वतंत्र रूप से नवीनतम वीडियो की प्रामाणिकता की पुष्टि नहीं कर सकी है.

भाजपा ने वीडियो के ‘फर्जी' होने का दावा करते हुए टीएमसी के आरोपों को खारिज कर दिया था और इस मुद्दे पर अदालत जाने की धमकी दी थी.

ये भी पढ़ें :

* बंगाल के संदेशखाली में फिर तनाव का माहौल, TMC विधायक के सहयोगी पर हुआ हमला
* "CAA लागू करने से कोई नहीं रोक सकता..." : पश्चिम बंगाल में PM मोदी का ऐलान
* "TMC ने बंगाल को घोटालों का गढ़ बनाया": बैरकपुर में बोले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
भाजपा की लोकसभा अध्यक्ष का चुनाव सर्वसम्मति से कराने की रणनीति, राजनाथ सिंह को सहयोगी और विपक्षी दलों को मनाने की जिम्‍मेदारी
संदेशखाली मामला :  NCW प्रमुख रेखा शर्मा के खिलाफ TMC ने चुनाव आयोग में दर्ज कराई शिकायत, लगाए गंभीर आरोप
सोशल मीडिया पर फैलाई जा रही अफवाह से सतर्क रहें नागरिक : जम्मू-कश्मीर पुलिस 
Next Article
सोशल मीडिया पर फैलाई जा रही अफवाह से सतर्क रहें नागरिक : जम्मू-कश्मीर पुलिस 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;