तेजस्वी की पार्टी के नेता का तंज- 'चुनावों के वक्त पिकनिक मना रहे थे राहुल गांधी'

तेजस्वी यादव की अगुवाई वाले राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी के बयान से बिहार चुनाव में हार के बाद विपक्षी महागठबंधन में पहली बार दरार सामने आई. तिवारी ने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने बिहार में आधी-अधूरी लड़ाई लड़ी.

पटना:

तेजस्वी यादव की अगुवाई वाले राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी के बयान से बिहार चुनाव में हार के बाद विपक्षी महागठबंधन में पहली बार दरार सामने आई. तिवारी ने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने बिहार में आधी-अधूरी लड़ाई लड़ी.  

शिवानंद तिवारी ने कहा, "कांग्रेस महागठबंधन को ले डूबी. उन्होंने 70 उम्मीदवार उतारे थे, लेकिन 70 रैलियां भी नहीं कीं. राहुल गांधी तीन दिन के लिए आए, प्रियंका [गांधी वाड्रा] नहीं आईं, जो आए वो बिहार से अपरिचित थे. यह सही नहीं है. ” बता दें कि राजद, कांग्रेस और वामपंथी दलों का महागठबंधन नतीजों में 110 सीटों पर सिमट गया.

तिवारी ने 243 सीटों में से 70 सीटों पर चुनाव लड़ने के लिए कांग्रेस को व्यापक रूप से दोषी ठहराया. बता दें कि कांग्रेस ने सिर्फ19 सीटों पर जीत दर्ज की. नतीजों में राजद 75 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी और वाम दलों ने भी आश्चर्यजनक रूप से अच्छा प्रदर्शन किया.

यह भी पढ़ें: नीतीश ने राज्यपाल से मुलाकात कर सरकार बनाने का दावा पेश किया, सोमवार को होगा शपथ ग्रहण

तिवारी ने कहा, "मुझे लगता है कि यह केवल बिहार में ही नहीं है. अन्य राज्यों में भी कांग्रेस अधिक से अधिक संख्या में सीटों पर चुनाव लड़ने पर जोर देती है, लेकिन वे अधिक से अधिक संख्या में सीटें जीतने में विफल रहती हैं. कांग्रेस को इस बारे में सोचना चाहिए." 

उन्होंने कहा, "यहां चुनाव पूरे शबाब पर थे और राहुल गांधी शिमला में प्रियंका जी के घर पर पिकनिक मना रहे थे. क्या पार्टी इस तरह से चलती है? जिस तरह से कांग्रेस पार्टी चलाई जा रही है, उससे बीजेपी को फायदा हो रहा है?"  

हालांकि, कांग्रेस ने पार्टी की बड़ी हार पर कहा कि बिहार चुनाव के लिए सीट-बंटवारे को अंतिम रूप देने में देरी ने गठबंधन के प्रदर्शन को प्रतिकूल रूप से प्रभावित किया. पार्टी के वरिष्ठ नेता तारिक अनवर ने कहा कि परिणाम निश्चित रूप से "खराब" रहे. 

उन्होंने कहा कि कांग्रेस को इससे सीखना चाहिए और आगामी विधानसभा चुनावों के लिए गठबंधन की भूमिका को अच्छी तरह से पूरा करना चाहिए. पार्टी के महासचिव और बिहार के दिग्गज नेता, अनवर ने स्वीकार किया कि कमियां थीं, जिसके कारण कांग्रेस ने अन्य महागठबंधन घटकों की तुलना में खराब प्रदर्शन किया और जोर दिया कि केंद्रीय नेतृत्व आत्मनिरीक्षण के लिए गंभीर है और साथ ही परिणामों का गहन विश्लेषण भी किया. 

सिटी एक्सप्रेस : NDA की बैठक में नीतीश कुमार के नाम पर मुहर

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com