विज्ञापन
Story ProgressBack

रियल-एस्टेट सेक्टर में नौकरियों की भरमार, एक साल में 86% इजाफा, हायरिंग में सबसे आगे दिल्ली और बेंगलुरु

Real Estate Sector Job: इनडीड के आंकड़ों के अनुसार, निर्माण क्षेत्र में 5.05 % हिस्सेदारी के साथ दिल्ली में सबसे अधिक नियुक्तियां देखी गईं, इसके बाद बेंगलुरु (4.68 %) और मुंबई (4.13 प्रतिशत) का स्थान रहा. एर्नाकुलम (2 %), कोच्चि (1.50 %), लखनऊ (1.38 %), और कलीकट (1.25 %) जैसे छोटे शहर नौकरी चाहने वालों की दिलचस्पी बढ़ाने वाले शीर्ष क्षेत्रों में से हैं.

Read Time: 3 mins
रियल-एस्टेट सेक्टर में नौकरियों की भरमार, एक साल में 86% इजाफा, हायरिंग में सबसे आगे दिल्ली और बेंगलुरु
मुंबई:

नौकरियों के क्षेत्र से एक अच्छी खबर है. जॉब पोर्टल इनडीड द्वारा उपलब्ध कराए गए आंकड़ों के अनुसार मार्च 2023 और 2024 के बीच निर्माण और रियल एस्टेट क्षेत्र (Real Estate Sector Job) में नियुक्तियों में 86% की उल्लेखनीय वृद्धि हुई है. मांग में इस उछाल के साथ नौकरी चाहने वालों की रुचि में भी 57% की बढ़ोतरी हुई है, जिसमें दिल्ली, बेंगलुरु और मुंबई प्रमुख शहर हैं.

इनडीड के आंकड़ों के अनुसार, निर्माण क्षेत्र में 5.05 % हिस्सेदारी के साथ दिल्ली में सबसे अधिक नियुक्तियां देखी गईं, इसके बाद बेंगलुरु (4.68 %) और मुंबई (4.13 प्रतिशत) का स्थान रहा. एर्नाकुलम (2 %), कोच्चि (1.50 %), लखनऊ (1.38 %), और कलीकट (1.25 %) जैसे छोटे शहर नौकरी चाहने वालों की दिलचस्पी बढ़ाने वाले शीर्ष क्षेत्रों में से हैं.

नौकरी पोस्टिंग में अधिकतम हिस्सेदारी हासिल करने वाली मांग वाली भूमिकाओं में इंजीनियर (17.18%), प्रोजेक्ट लीड और पर्यवेक्षक (8 %), और आर्किटेक्ट (5 %) शामिल हैं. इसे एक मजबूत कारोबारी माहौल, औद्योगिक जरूरतों में बढ़ोतरी, प्रवासन बढ़ने के साथ वाणिज्यिक आवास आवश्यकताओं, और मैन्यूफ़ैक्चरिंग फेसिलिटीज़ के खुलने से जोड़ा जा सकता है.

इंडीड इंडिया के प्रमुख (सेल्स) शशि कुमार ने कहा कि निर्माण उद्योग आर्थिक विकास का एक प्रमुख चालक बना हुआ है, जो कुशल पेशेवरों से लेकर अर्ध-कुशल श्रमिकों के लिए अपार अवसर प्रदान करता है. नियुक्ति में पर्याप्त वृद्धि नौकरी चाहने वालों और नियोक्ताओं के लिए समान रूप से आशाजनक संभावनाओं का संकेत देती है, जबकि नौकरी चाहने वालों की रुचि में उल्लेखनीय वृद्धि भी उद्योग में एक मजबूत गति को दर्शाती है.”

आरके मुंबई रियलटर्स के रवि केवलरमानी मानते हैं कि जैसे-जैसे निर्माण अधिक जटिल और तकनीकी होता जा रहा है, उद्योग अधिक कुशल पेशेवरों को बुला रहा है. बीते कुछ समय में निर्माण और रियल एस्टेट में बड़ा उछाल हमने देखा है. डिमांड बढ़ी है तो सप्लाई को पूरा करने में टेक्नोलॉजी का ही बोलबाला है. साथ ही रियल एस्टेट इंडस्ट्री का डिजिटाइज़ेशन होना भी बदले समय और अवसरों के अनुसार हायरिंग के आंकड़े बढ़ा रहा है.

ये भी पढ़ें:- 
"अब मैं भी उन्हें कहता हूं, डरो मत, भागो मत" : राहुल के अमेठी छोड़ रायबरेली से लड़ने पर पीएम मोदी ने कसा तंज

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
क्या है यह रजिस्टर, जिस पर साइन करना हर नेता का एक सपना होता है?
रियल-एस्टेट सेक्टर में नौकरियों की भरमार, एक साल में 86% इजाफा, हायरिंग में सबसे आगे दिल्ली और बेंगलुरु
अब प्रोटेम स्पीकर को लेकर क्यों उलझे कांग्रेस और BJP? किरेन रिजिजू  बोले- मैं शर्मिंदा हूं
Next Article
अब प्रोटेम स्पीकर को लेकर क्यों उलझे कांग्रेस और BJP? किरेन रिजिजू बोले- मैं शर्मिंदा हूं
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;