विज्ञापन
Story ProgressBack

लाल किले पर कैब चालक की हत्या की गुत्थी सुलझी, पुलिस ने 3 को किया गिरफ्तार

5 अप्रैल को एक मारुती वेगन कैब की छत्ता रेल रेड लाइट पर बैटरी रिक्शा से टक्कर हो गई थी. इस वजह से ई-रिक्शा उलट गई थी और इस वजह से वैगन-आर चालक साकिब और रिक्शा ड्राइवर के बीच झगड़ा हो गया था.

Read Time: 3 mins
लाल किले पर कैब चालक की हत्या की गुत्थी सुलझी, पुलिस ने 3 को किया गिरफ्तार
प्रतीकात्मक तस्वीर

पुरानी दिल्ली के लाल किले के पास15 अप्रैल को कुछ संदिग्धों ने एक वैगन-आर चालक को गोली मार दी थी. पुलिस द्वारा अब मामले में 3 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है, जबकि एक अभी भी फरार है. बता दें कि 15 अप्रैल को एक मारुती वेगन कैब की छत्ता रेल रेड लाइट पर बैटरी रिक्शा से टक्कर हो गई थी. इस वजह से ई-रिक्शा उलट गई थी और इस वजह से वैगन-आर चालक साकिब और रिक्शा ड्राइवर के बीच झगड़ा हो गया था.

Advertisement

इसके बाद बैटरी रिक्शा चालक वहां से चला गया था. पास में स्कूटी के साथ खड़े तीन लड़के और एक महिला इस झगड़े को देख रहे थे. तभी लड़के ने ड्राइवर साकिब को घेर लिया और बेवजह उससे मारपीट करने लगे. हाथापाई के दौरान ड्राइवर का मोबाइल और पर्स निकालकर वो भागने लगे तो साकिब ने एक को पकड़ लिया और एक आरोपी ने उसे गोली मार दी. इस फायरिंग में सड़क पर सो रहे एक बेघर शख्स के पैर पर भी गोली लगी. 

इसके बाद चारों आरोपी मौके से फरार हो गए. वहीं साकिब और अन्य घायल शख्स को राहगिरों ने एलएनजेपी अस्पताल पहुंचाया. यहां ड्यूटी ऑफिसर ने कोतवाली थाने में घटना की जानकारी दी और बताया कि पेट में गोली लगने के कारण साकिब ही मौत हो गई है और दूसरे घायल का इलाज किया जा रहा है. इसके बाद मामले की जांच करते हुए पुलिस ने सबसे पहले सीसीटीवी कैमरों को खंगाला. इससे उन्हें स्कूटी की नंबर प्लेट का पता चला लेकिन जांच करने पर सामने आया कि यह नंबर प्लेट फर्जी है. 

Advertisement

हवलदार ने दिए अहम सुराग

इस हत्या कांड के खुलासे में दिल्ली पुलिस के हवलदार ने अहम सुराग दिए, जिसके कारण पुलिस आरोपियों तक पहुंच पाई. आरोपियों के साथ वारदात के दौरान महिला भी मौजूद थी. वारदात के दौरान तीन लड़कों के साथ सीसीटीवी में जो महिला नज़र आई थी, उसका नाम अनिता उर्फ रुखसार था. इस हवलदार ने अनीता को सीसीटीवी कैमरे में पहचान लिया क्योंकि पूर्व में अन्य अपराधिक मामलों में अनीता की बहन सुनीता पर मुकदमा हुआ था, इस बात की जानकारी हवलदार को थी. पुलिस ने उत्तर प्रदेश के लोनी में सुनीता के घर पर दबिश दी. वहां पता चला सुनीता का 6 महीने पहले निधन हो गया और अब अनीता अपनी मां के साथ बवाना रहती है. पुलिस टीम ने बवाना में छापा मारा. वहां से पता चला अनीता उत्तरी पूर्वी जिले के खजुरी खास में रह रही है.

Advertisement

अनीता को उत्तरी पूर्वी जिले के खजुरी में साजिद नाम के आरोपी के साथ एक घर से छापा मार कर पकड़ा गया. इन दोनों से पूछताछ के बाद इनकी निशानदेही पर इस हत्याकांड में शामिल सलमान को गाजियाबाद से गिरफ्तार कर लिया गया. हालांकि, चौथा आरोपी फिरोज उर्फ गिलोरी जिसने गोली मारी थी वह अभी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है. पुलिस को पूछताछ से पता चला अनीता उर्फ रुखसार पर पहले 307 का मुकदमा भी था. यह अपराधिक मानसिकता की महिला है और अधिकतर अपराधियों के लिए आसरा मुहिया करवाती है. एक अन्य आरोपी सलमान पर भी दो आपराधिक मुकदमे हैं.

Advertisement

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
कांग्रेस की वो 5 कलह, जो BJP का बन गए हथियार
लाल किले पर कैब चालक की हत्या की गुत्थी सुलझी, पुलिस ने 3 को किया गिरफ्तार
Analysis: महाराष्ट्र की जनता वोटिंग को लेकर इतनी सुस्त क्यों? पांचों चरण में कम मतदान के क्या हैं मायने
Next Article
Analysis: महाराष्ट्र की जनता वोटिंग को लेकर इतनी सुस्त क्यों? पांचों चरण में कम मतदान के क्या हैं मायने
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;