विज्ञापन
Story ProgressBack

पीएम मोदी का राहुल पर 'आपातकाल' अटैक': लगातार किए 4 ट्वीट, जानिए क्या-क्या कहा

पीएम मोदी ने इमरजेंसी (PM Modi On Emergency) की 50 साल होने पर कांग्रेस और राहुल गांधी को घेरते हुए बैक टू बैक 4 पोस्ट किए. उन्होंने कहा कि आज का दिन उन सभी महान पुरुषों और महिलाओं को श्रद्धांजलि देने का दिन है, जिन्होंने आपातकाल का विरोध किया.

पीएम मोदी का राहुल पर 'आपातकाल' अटैक': लगातार किए 4 ट्वीट, जानिए क्या-क्या कहा
आपातकाल के 50 साल: पीएम मोदी का कांग्रेस पर हमला.

25 जून, इतिहास की वो काली तारीख, जब तत्कालीन प्रधानमंत्री  इंदिरा गांधी के एक फैसले की कीमत न जानें कितने बेगुनाहों को अपनी जान देकर चुकानी पड़ी. आज ही के दिन साल 1975 में देश में आपातकाल (Emergency) लगाया गया था. 25 जून 1975 मे लगी इमरजेंसी 21 मार्च 1977 यानी कि पूरे 21 महीने चला था. आपातकाल को आज 49 साल पूरे हो गए हैं. लेकिन लोगों के जहन में इतिहास का वो काला स्याह अध्याय आज भी जिंदा है. देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी आपातकाल की 50वीं बरसी पर उस काले दिन को याद किया और कांग्रेस को उनकी नीतियां याद दिलाईं. इसके साथ ही पीएम मोदी ने उन सभी लोगों को भी याद किया, जिनको इस विरोध की कीमत अपनी जान देकर चुकानी पड़ी थी. पीएम मोदी ने इमरजेंसी (Emergency) 50 साल पर कांग्रेस और राहुल गांधी को घेरते हुए बैक टू बैक 4 पोस्ट किए.

"कांग्रेस ने नष्ट की बुनियादी स्वतंत्रता"

पीएम मोदी ने पने पहले ट्वीट में कहा कि आज का दिन उन सभी महान पुरुषों और महिलाओं को श्रद्धांजलि देने का दिन है, जिन्होंने आपातकाल का विरोध किया. #DarkDaysOfEmergency हमें याद दिलाती है कि कैसे कांग्रेस पार्टी ने बुनियादी स्वतंत्रता को नष्ट कर दिया और भारत के संविधान को कुचल दिया, जिसका हर भारतीय सम्मान करता है.

"कांग्रेस ने देश को बनाया था जेलखाना"

पीएम मोदी ने अपने दूसरे ट्वीट में लिखा कि सत्ता में टिके रहने के लिए तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने हर लोकतांत्रिक सिद्धांत को दरकिनार कर देश को जेलखाना बना दिया. जो भी कांग्रेस से असहमति जताता था उसे प्रताड़ित किया जाता था. पीएम मोदी ने कहा कि सामाजिक रूप से इस तरह की नीतियां लागू की गईं, जिससे सबसे कमजोर वर्गों को निशाना बनाया जा सके. 

"कांग्रेस ने प्रेस की स्वतंत्रता पर किया हमला"

तीसरे ट्वीट में पीएम मोदी ने लिखा कि जिन लोगों ने इमरजेंसी लगाई, उनको हमारे संविधान के प्रति अपना प्यार जताने का कोई अधिकार नहीं है. पीएम ने कहा कि ये लोग वही हैं, जिन्होंने अनगिनत मौकों पर अनुच्छेद 356 लागू किया. प्रेस की स्वतंत्रता को खत्म करने के लिए विधेयक लाया गया, संघवाद को नष्ट किया और संविधान के हर पहलू का उल्लंघन किया.

"संविधान के प्रति तिरस्कार को छिपाती है कांग्रेस"

पीएम मोदी ने अपने चौथए ट्वीट में कहा कि जिस मानसिकता की वजह से आपातकाल लगाया गया, वह आज भी उसी पार्टी में जिंदा है. जिसने इसे लगाया था. वे अपनी प्रतीकात्मकता के जरिए संविधान के प्रति अपने तिरस्कार को छिपाते हैं. लेकिन भारत के लोगों ने उनकी इन हरकतों को देखा है और यही वजह है कि उनको बार-बार खारिज किया है. 

25 जून 1975 को देश में लगी इमरजेंसी

इससे पहले पीएम मोदी ने कल ही अपने संबोधन में कहा था कि 25 जून उनके लिए न भूलने वाला दिन हैजो लोग इस देश के संविधान की गरिमा के प्रति समर्पित हैं और भारत की लोकतांत्रिक परंपराओं में निष्ठा रखते हैं. उन्होंने कहा था कि भारत के लोकतंत्र पर जो काला धब्बा लगा था, उसके 50 साल हो रहे हैं. भारत की नई पीढ़ी इस बात को कभी नहीं भूलेगी कि भारत के संविधान को पूरी तरह नकार दिया गया था.पीएम मोदी ने कहा कि इस दिन संविधान के चिथड़े-चिथड़े उड़ा दिये गये थे. देश को जेलखाना बना दिया गया था. आज उन्होंने एक बार फिर से कांग्रेस और राहुल गांधी को आपातकाल के जरिए घेरा है. 

ये भी पढे़ं-आपातकाल पर कांग्रेस को मनोज कुमार की फिल्म 'शोर' की याद क्यों दिला रहीं बीजेपी

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
"आपकी सरकार ने ही दिया था पद्म-विभूषण": अमित शाह के शरद पवार को भ्रष्टाचार कहने पर सुप्रिया सुले
पीएम मोदी का राहुल पर 'आपातकाल' अटैक': लगातार किए 4 ट्वीट, जानिए क्या-क्या कहा
खुल गया भगवान जगन्नाथ के रत्न भंडार का ताला, सामने आएगा हीरे-जवाहरात का हर एक राज
Next Article
खुल गया भगवान जगन्नाथ के रत्न भंडार का ताला, सामने आएगा हीरे-जवाहरात का हर एक राज
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;